इलाज नहीं, टीकाकरण का महोत्सव कहिए जनाब

सुबह आठ बजे से जिले ही हवा बदली हुई थी। शहर कोई महोत्सव मनाने के लिए तैयार हो रहा था।

JagranPublish:Sat, 16 Jan 2021 08:25 PM (IST) Updated:Sat, 16 Jan 2021 08:25 PM (IST)
इलाज नहीं, टीकाकरण का महोत्सव कहिए जनाब
इलाज नहीं, टीकाकरण का महोत्सव कहिए जनाब

मेरठ, जेएनएन। सुबह आठ बजे से जिले ही हवा बदली हुई थी। शहर कोई महोत्सव मनाने के लिए तैयार हो रहा था। सुबह चाय की चुस्कियों के बीच हाथ में अखबार लेकर लोग सिर्फ वैक्सीन पर चर्चा कर रहे थे। घने कुहासे के बीच उम्मीदों की रोशनी फैलने लगी। स्वास्थ्यकर्मी टीकाकरण केंद्रों की तरफ पहुंचने लगे। मेडिकल कालेज में स्टाफ सुबह साढ़े नौ बजे तक पोजीशन में आ गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन को सुनकर उत्साहित मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र सिंह मुस्कुराते हुए वैक्सीन लेने के लिए अंदर गए। कक्ष के बाहर सासद राजेंद्र अग्रवाल, कमिश्नर और डीएम खड़े हुए..अंदर से अचानक तालियों की गड़गड़ाहट सुनाई पड़ी, और सासद ने प्राचार्य को पहली वैक्सीन लेने पर शुभकामनाएं दीं। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने जिला अस्पताल में टीका लगवाया।

मेडिकल के कप्तान को बधाई

जिले में टीकाकरण के सात केंद्र बनाए गए। कुल 694 लोगों को पहले चरण में टीका लगना था। शुक्रवार रात में सभी लाभाíथयों को मोबाइल पर संदेश भेजकर सुबह केंद्र पर पहुंचने के लिए कहा गया। स्वास्थ्य विभाग और मेडिकल कालेज के कर्मचारियों के लिए जैसे कोई क्राति की बेला हो। स्टाफ सुबह ही तैयार हो गया था। मेडिकल समेत हर केंद्र पर सौ-सौ लोगों को टीका लगना था। साढ़े नौ बजे से मेडिकल कालेज के प्राचार्य टीकाकरण कक्ष में पहुंच गए। पैरामेडिकल स्टाफ ने आइस बाक्स में दस वायल टीका रख लिया। दो बार ड्राई रन हो चुका था, ऐसे में स्टाफ आत्मबल में था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 10.30 बजे निर्धारित संबोधन शुरू होते ही कक्ष में सन्नाटा छा गया। सासद, मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम, मेडिकल प्राचार्य और डीएम के. बालाजी समेत मेडिकल स्टाफ ने संबोधन सुना। संबोधन खत्म होते ही प्राचार्य ने अपनी बारी के मुताबिक वैक्सीनेशन कक्ष में प्रवेश किया। बीपी, तापमान व पल्स आक्सीमीटर लगाकर चेक किया गया।

11.06 बजे तालियों से गूंजा हाल

प्राचार्य को पहला टीका लगाया गया। इसके बाद तालियों की गड़गड़ाहट और बधाइयों का दौर चला। सब वेटिंग हाल में पहुंचे, जहा डाक्टरों ने प्राचार्य को उनके टीकाकरण की फोटो दिखाई। बाद में यही सिलसिला चल पड़ा। टीका लेने वाले प्रथम दस लोगों में डा. अमित गर्ग, डा. केके सक्सेना, डा. राजकुमार गोयल, डा. अंतिमा गुप्ता, डा. मेघा, डा. अंशु टंडन, डा. प्रीति राठी और डा. टीवीएस आर्य रहे। उधर, जिला अस्पताल में सीएमओ डा. अखिलेश मोहन और डफरिन में सीएमएस डा. मनीषा समेत अन्य चिकित्साधिकारियों ने टीका लगवाया। सरधना, मवाना में भी टीकाकरण उत्साहपूर्वक चला। संतोष हास्पिटल पर कई लोगों ने टीका लिया। डाक्टरों ने टीका लगवाते हुए फोटो अपने दोस्तों व परिवार को भेजे।