यूपी : बिजनौर में शोहदे के कमेंट से क्षुब्ध होकर युवती ने खाया जहरीला पदार्थ, मौत

बिजनौर के चांदपुर क्षेत्र के गांव में एक युवती ने पड़ोसी युवक द्वारा लगातार फब्तियां कसने से तंग आकर जहर का सेवन कर लिया। जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों ने आरोपित युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Prem Dutt BhattTue, 15 Jun 2021 03:40 PM (IST)
बिजनौर में शोहदे के कमेंट से आजिज होकर युवती ने जान दे दी।

बिजनौर, जेएनएन। girl ate poisonous substance वेस्‍ट यूपी में शोहदों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। इन्‍हें पुलिस को भी खौफ नहीं रहा। यहां बिजनौर जिले के चांदपुर क्षेत्र के एक गांव में एक युवती ने पड़ोसी युवक द्वारा लगातार फब्तियां कसने से तंग आकर जहर का सेवन कर लिया। जिससे उसकी मौत हो गई। परिजनों ने आरोपित युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

घर पर आई और किया जहर का सेवन

गांव निवासी एक युवती की गांव के ही लड़के मोनू से दोस्ती थी। मोनू उसे लगातार परेशान करता रहता था। मौजूद समय में अब उससे दोस्ती नहीं थी। आरोप है कि मोनू अब उस पर आते जाते समय फब्तियां कसता रहता था। सोमवार शाम भी उसने युवती पर ताने कसे। कुछ देर बाद वह घर आई और जहर का सेवन कर लिया। गंभीर हालत में परिजनों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। परिजनों की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम को भेज दिया है।

विवाहिता की मौत पर सीओ दफ्तर के बाहर धरना

चांदपुर में पांच माह पूर्व पटना में विवाहिता की मौत के मामले में नूरपुर पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज करने के बाद भी आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इसके विरोध में मृतका के परिजनों ने सोमवार को सीओ दफ्तर के बाहर धरना दिया। साथ ही मामले में कार्रवाई नहीं किए जाने का आरोप लगाया। वहीं, आरोपितों की गिरफ्तारी न होने पर भी आक्रोश जताया। हालांकि, बाद में एसडीएम द्वारा आश्वासन देने के बाद धरना समाप्त हो गया।

यह था मामला

स्योहारा थाना क्षेत्र के गांव आबिदनगर उर्फ धूंधली निवासी सुरेंद्र ङ्क्षसह की पुत्री रूचि की शादी वर्ष 2019 को नूरपुर के मोहल्ला आबिदनगर निवासी तुषार पुत्र अवनीश कुमार उर्फ पटेल के साथ हुई। तुषार पटना में एक निजी कंपनी में काम करता था और रूचि भी उसके साथ रहती थी। सात फरवरी 2021 को पटना में मौत हो गई थी। जब रूचि का शव उसकी ससुराल पहुंचा था तो मायके पक्ष के लोगों हंगामा किया। साथ ही शव बाजार में रखते हुए जाम लगा दिया। उन्होंने पति और ससुरालियों पर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया।

आश्‍वासन पर खत्‍म किया धरना

पुलिस ने इस मामले में पति तुषार समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। इस मामले में पुलिस द्वारा पांच माह बाद भी कोई कार्रवाई न करने के विरोध में सोमवार को मृतका के पिता सुरेंद्र समेत अन्य परिजन सीओ दफ्तर पहुंचे और वहां धरना शुरू कर दिया। उन्होंने आरोप लगाए कि पुलिस जांच को आगे नहीं बढ़ा रही है। विवेचना भी शुरू नहीं हुई है। वहीं, आरोपितों को भी गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। उसके बाद उन्होंने एसडीएम वीके मौर्य को प्रार्थना पत्र देते हुए जांच कराने की मांग की। उनके आश्वासन पर उन्होंने धरना समाप्त कर दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.