वेस्‍ट यूपी में जनरल बिपिन रावत को दी भावभीनी श्रद्धांजलि, देश के लिए बड़ी क्षति बताया,कार्यों की सराहना

Tribute To Bipin Rawat बागपत के छपरौली में गुरुवार को शबगा के संस्कृति पब्लिक स्कूल में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। वहीं इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग मेरठ के कार्यालय में शोक सभा आयोजित की गई। भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई।

Prem Dutt BhattThu, 09 Dec 2021 01:28 PM (IST)
मेरठ के मवाना में अधिवक्ताओं ने शोकसभा कर कार्य से विरत रहने का लिया निर्णय।

मेरठ, जेएनएन। Tribute To Bipin Rawat तमिलनाडु के कुन्‍नूर में विमान दुर्घटना में सीडीएस जनरल बिपिन रावत व उनकी पत्नी समेत अन्य सैन्य अफसरों की आकस्मिक मौत से वेस्‍ट यूपी में शोक की लहर है। गुरुवार को कई स्‍थानों पर जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देने के लिए शोक सभा का आयोजन किया गया। वहीं स्‍कूली बच्‍चों ने भी शोक संवेदना जाहिर की। मेरठ, बुलंदशहर, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बागपत, शामली आदि स्‍थानों पर शोक जताया गया।

पूर्व सैनिक संगठन ने दी श्रद्धांजलि

जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि देने के लिए इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग मेरठ के कार्यालय में शोक सभा आयोजित की गई। शोक सभा में उपस्थित पूर्व सैनिक संघ के पदाधिकारियों ने जनरल रावत की अकस्मात मृत्यु को सेना और देश के लिए बड़ी क्षति बताते हुए उनके द्वारा सेना में किए जा रहे बदलाव और आधुनिकीकरण पर चर्चा की। इस मौके पर पूर्व सैनिक संघ के मुख्य संरक्षक मेजर जनरल केएस सोलंकी, अध्यक्ष ब्रिगेडियर रणवीर सिंह, अध्यक्ष मेजर राजपाल सिंह सहित कर्नल आरएस मलिक, करनाल वाईएस गहलोत आदि उपस्थित रहे। जनरल सोलंकी ने कहा कि जनरल रावत ने सेना प्रमुख बनने के साथ ही सेना में कई तरह के बदलाव की पहल पर जोर दिया था और उस ओर अग्रसर भी थे।

सैनिकों की संख्या बढ़ाना ध्‍येय था

ब्रिगेडियर रणवीर सिंह ने कहा कि जनरल रावत का उद्देश्य लड़ने वाले सैनिकों की संख्या बढ़ाना था और सेना को सहयोग देने वाली सभी संस्थाओं में जरूरत भर के सैनिक व अफसरों को ही रखना चाहते थे। इसी दिशा में उन्होंने देशभर की छावनियों से मिलिट्री फॉर्म सहित कई अन्य ऐसे विभागों को बंद करने का आह्वान किया था। मई 2019 में मेरठ छावनी में उनका आगमन मिलिट्री फार्म की जमीन का सेना के लिए सदुपयोग करना ही था। इस विषय पर चर्चा करने के लिए पश्चिमी कमांडर, कोर कमांडर और मेरठ छावनी स्थित दोनों डिव के जीओसी और आरवीसी के कमांडेंट के साथ बैठक कर विस्तार से चर्चा की थी।

पूर्व सैनिकों के हित में काम

इसके साथ ही जनरल रावत ने पूर्व सैनिकों के वेलफेयर के लिए भी कई तरह के नए कार्यक्रम शुरू किए थे। इससे वह निरंतर पूर्व सैनिकों की जानकारी भी लिया करते थे। मेरठ छावनी में भी संगठन पदाधिकारियों से उन्होंने विस्तार से मुलाकात और बातचीत की थी। इंडियन एक्स सर्विसमैन लीग मेरठ को जनरल रावत ने देशभर के पूर्व सैनिक संगठनों में नजीर बताया था और कहा था कि हर जिले में इस तरह का एक संगठन होना चाहिए, जिससे किसी भी पूर्व सैनिक या वीर नारी को कभी कोई समस्या न हो और उनकी समस्याओं का निस्तारण हर स्तर पर आराम से कराया जा सके।

न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला

मेरठ के मवाना में तहसील के बार एसोसिएशन और सिविल एसोसिएशन ने गुरुवार को संयुक्त शोक सभा कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की और सर्व सम्मति से आज न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया। तहसील मवाना स्थित बारहाल में आयोजित बार व सिविल बार एसोसिएशन सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, सैन्य अफसर व कर्मियों की विमान दुर्घटना में आस्कमिक मौत पर शोक व्यक्त किया और दो मिनट का मौत रखकर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। शोक सभा में न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया गया है। हृदय विदारक उक्त हादसे को लेकर तहसील के सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्य नहीं करेंगे। शोक सभा में बार एसोएिएशन अध्यक्ष राजीव कंसल, अशोक राजवंशी, सचिव बिजेंद्र पाल सिंह, समीर त्यागी के अलावा दो एसोसिएशन से जुड़े अधिवक्ता मौजूद रहे। वहीं बुलंदशहर में एसएसपी कार्यालय पर पुलिस ने दो मिनट का मौन रख शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

अपूरणीय क्षति

दूसरी ओर बागपत के छपरौली में गुरुवार को शबगा के संस्कृति पब्लिक स्कूल में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस सभा में बुधवार को हेलीकॉप्टर दुर्घटना में शहीद हुए जनरल विपिन रावत एवं उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित सभी दिवंगत सैन्य अधिकारियों को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर स्कूल डायरेक्टर स्वराज पाल दुहूण ने कहा कि देश के लिए यह बहुत बड़े दुख की घड़ी है। प्रधानाचार्य हरिदत्त शर्मा ने कहा कि देश के लिए यह अपूरणीय क्षति है। एक साथ एक ही दुर्घटना में दर्जनों के करीब सैन्य अधिकारियों के हताहत होने की यह घटना ह्रदयविदारक है। इस अवसर पर सुनील सरोहा, सचिन कुमार, आदेश कुमार, संगीता, डॉ रविता बालियान, हिना चौधरी, सोनम चौधरी, निधी शर्मा, सरिता पांचाल व शिवानी मान आदि उपस्थित रहे।

बागपत में दो मिनट का मौन

बागपत : हेलीकॉप्टर हादसे में शहीद हुए जनरल बिपिन रावत व उनकी पत्नी समेत 13 जवानों को विद्यालयों के छात्र-छात्राएं एवं अध्यापकों द्वारा श्रद्धांजलि दी। दो मिनट का मौन रख ईश्वर से प्रार्थना की। गेटवे इंटरनेशनल स्कूल के विद्यार्थियों ने राष्ट्रीय वंदना चौक पर शहीदों की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। बच्चों ने कैंडल जलाकर आत्मा शांति के लिए प्रार्थना की। प्रधानाचार्य अमित चौहान ने छात्रों को जनरल बिपिन रावत की वीरता के बारे में जानकारी दी। वही सेंट एंजेल पब्लिक स्कूल में शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई है प्रबंधक अजय गोयल ने विद्यार्थियों को जनरल बिपिन रावत के द्वारा किए गए कार्यों को बताएं। एन एस पब्लिक स्कूल काठा में भी दी गई शहीदों को श्रद्धांजलि।

बड़े दुख की घड़ी

शबगा के संस्कृति पब्लिक स्कूल में एक श्रद्धांजली सभा का आयोजन किया गया। इस सभा में बुधवार को हेलीकॉप्टर दुर्घटना में शहीद हुए जनरल विपिन रावत एवं उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित सभी दिवंगत सैन्य अधिकारियों को विनम्र श्रध्दांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर स्कूल डायरेक्टर स्वराज पाल दुहूण ने कहा कि देश के लिए यह बहुत बडे दुख की घड़ी है। प्रधानाचार्य हरिदत्त शर्मा ने कहा कि देश के लिए यह अपूरणीय क्षति है। एक साथ एक ही दुर्घटना में दर्जनों के करीब सैन्य अधिकारियों के हताहत होने की यह घटना ह्रदयविदारक है। इस अवसर पर सुनील सरोहा, सचिन कुमार, आदेश कुमार, संगीता, डॉ रविता बालियान, हिना चौधरी, सोनम चौधरी, निधी शर्मा, सरिता पांचाल व शिवानी मान आदि उपस्थित रहे।

सीसीएसयू में भी भावभीनी श्रद्धांजलि

मेरठ : सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन पर चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्र दुःखी हैं। गुरुवार को विश्वविद्यालय उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। देश की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने वाले पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से संबंध मेरठ कॉलेज के पूर्व छात्र थे। जहां से उन्होंने अपनी पीएचडी की उपाधि पूरी कर जनरल के साथ डॉक्टर भी बने थे। विश्वविद्यालय में केंद्रीय पुस्तकालय के पास उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई। साथ ही सेना में उनके किए गए योगदान की चर्चा भी की गई।

दूरदर्शी व्यक्ति बताया

दो मिनट का मौन रखकर विश्वविद्यालय के शिक्षक व छात्र छात्राओं ने शोक संवेदना प्रकट की। इस दौरान कुलपति प्रोफेसर एनके तनेजा ने जनरल रावत को एक दूरदर्शी व्यक्ति बताते हुए कहा कि उनके निधन से देश को काफी क्षति पहुंची है। विश्व विद्यालय परिवार काफी सदमे में विश्वविद्यालय से जुड़े कॉलेज से उन्होंने पीएचडी हासिल कर विश्वविद्यालय का भी गौरव बढ़ाया था। इस दौरान प्रति कुलपति प्रोफेसर वाई विमला, रजिस्टर धीरेंद्र कुमार, डीएसडब्ल्यू भूपेंद्र सिंह, चीफ प्रॉक्टर वीरपाल सिंह, पुस्तकालय अध्यक्ष जमाल अहमद सिद्धकी सहित अन्य शिक्षक उपस्थित रहे। उधर, मेरठ कालेज में भी शोक सभा हुई। रक्षा अध्ययन विभाग में सभी शिक्षकों ने अपने विभाग के शोधार्थी रहे जनरल रावत को अपनी शोक संवेदना प्रकट की।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.