कोरोना वैक्सीन को सामान्य टीका ही समझें : सीएमओ

कोरोना वैक्सीन को सामान्य टीका ही समझें : सीएमओ

कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के लिए पीएल शर्मा चिकित्सालय का आइसीयू भवन शनिवार सुबह नौ बजे से ही तैयार रहा।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 08:55 AM (IST) Author: Jagran

मेरठ, जेएनएन। कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के लिए पीएल शर्मा चिकित्सालय का आइसीयू भवन शनिवार सुबह नौ बजे से ही तैयार रहा। यहां टीका लगाने के लिए विशेष रूप से कोविड-19 टीकाकरण बूथ बनाया गया था। बूथ के द्वार को गुब्बारे व जागरूकता पोस्टर से सजाया गया। सुरक्षा के लिए पुलिसकर्मी तैनात रहे। पहला टीका लगवाने के लिए सुबह करीब 9.20 बजे सीएमओ डा. अखिलेश मोहन पहुंचे। उन्होंने टीका लगवाने के लिए द्वार पर बने काउंटर पर औपचारिकता पूरी करने के बाद कोविड-19 टीकाकरण रिकार्ड कार्ड भरा। इसके करीब डेढ़ घंटे बाद 11:10 बजे सीएमओ को टीके की डोज दी गई। 11:55 बजे उन्होंने बूथ से बाहर आकर अनुभव साझा किया। उन्होंने कहा कि यह टीका किसी सामान्य टीके की तरह ही है। टीका लगने के आधे घंटे तक प्रोटोकाल के तहत निगरानी में रहने के दौरान टीका का कोई भी विपरीत प्रभाव देखने को नहीं मिला। लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी इसे सामान्य टीका ही समझें। इस दौरान मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान, जिला क्षय रोग अधिकारी डा. एमएस फौजदार आदि ने भी टीका लगवाया।

कोरोना के 12 नए मरीज मिले

शनिवार को जिले में महज 12 कोरोना मरीज मिले। सीएमओ डा. अखिलेश ने बताया कि 3830 सैंपलों की जाच में 12 में संक्रमण मिला। 608 सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है, वहीं 95 मरीज होम आइसोलेशन में रखे गए हैं। 34 मरीज डिस्चार्ज होकर घर गए। उधर, मेडिकल कालेज में स्थिति तेजी से सुधरी है। हालाकि पिछले 24 घटे में एक मरीज की मौत हुई है।

कुछ चुनचुनाहट तो है..

मेडिकल कालेज में टीका लगवाने के बाद निरीक्षण कक्ष में बैठे डाक्टरों के लिए 30 मिनट काटना मुश्किल हो रहा था। किसी ने अखबार हाथ में उठा लिया तो कोई मोबाइल में गोते लगाने लगा। इसी बीच, एक डाक्टर की आवाज आई..लगता है बाह में टीका लगने की जगह चुनचुनाहट है। आपको भी कुछ ऐसा लग रहा है क्या..। इस पर दूसरे डाक्टर ने कहा कि मुझे थोड़ी कसावट महसूस हो रही है। एक मैडम तो टीका लगाने वालों से बीपी की दोबारा जाच कराने भी पहुंच गईं। खैर, एक घटे बाद पता चला कि सभी की एंजायटी थी, किसी को कोई साइड इफेक्ट नहीं था।

संतोष नर्सिग में सब फिट है न

मेडिकल कालेज में स्वास्थ्य विभाग एवं प्रशासन के कर्मचारियों के बीच बातचीत हो रही थी कि अचानक किसी ने पूछा संतोष नìसग होम का क्या हाल है। फोन से संपर्क कर अधिकारी ने वहा की जानकारी ली। बाद में टीम ने वहा विजिट किया। पता चला कि यहा पर प्रोटोकाल का सबसे सख्ती से पालन किया जा रहा है। पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच प्रशासन के भी लोग जाच में जुटे थे। कई बार अपने ही विभाग वालों को अंदर जाने से यह सोचकर रोक लिया कि कहीं वो मीडिया के लोग तो नहीं। यहा शुरुआत में टीकाकरण की गति काफी धीमी रही, लेकिन बाद में लोग पहुंचे।

फोटो परिचय

एसआरडी 512 :: वीसी डा. वीपी सिंह को टीका लगाती स्वास्थ्य कर्मी। जागरण

एसआरडी 513 :: पुलिस सुरक्षा में वैक्सीन लेकर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम। जागरण

सुभारती में करतल ध्वनि से वैक्सीन का स्वागत

पुलिस सुरक्षा में शनिवार सुबह नौ बजे वैक्सीन लेकर स्वास्थ्यकर्मी सुभारती अस्पताल में बने बूथ पर पहुंचे। साढ़े दस बजे सुभारती के वीसी डा. वीपी सिंह को पहला टीका लगाया गया। इस दौरान स्वास्थ्यकर्मियों की टीम ने ताली बजाकर खुशी मनाई। टीका लगाने के बाद सभी को आधे घंटे तक निगरानी के लिए रखा गया। सुभारती अस्पताल के बूथ पर 77 लोगों को कोविड वैक्सीन लगी।

93 स्वास्थ्य कर्मचारियों का हुआ टीकाकरण

सीएचसी में सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाइव संबोधन देखने के लिए व्यवस्था की गई। अभियान का शुभारंभ एसडीएम अमित कुमार भारतीय ने फीता काटकर किया। पहले से तैयार सूची के आधार पर करीब 11 बजकर दस मिनट पर सीएचसी अधीक्षक डा. राजेश कुमार को पहला टीका लगाया गया। आधा घंटे निगरानी में रहने के बाद डा. राजेश ने बताया कि वैक्सीन का कोई दुष्प्रभाव नहीं है। यहां 93 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया।

हैलो.. मैं कंट्रोल रूम से बोल रहा, वैक्सीन लगवा लें

समय सुबह 9 बजे। सीएचसी में बने कंट्रोल रूम से फोन पर आवाज गूंजी हैलो.. मैं कंट्रोल रूम से बोल रहा हूं, आप वैक्सीन लगवा लें। शनिवार को टीकाकरण के लिए चयनित लाभार्थियों को फोन से बुलाने का यह क्रम सुबह से शाम तक जारी रहा। यहां 76 को ही टीका लग सका। सीएचसी पर पहला टीका 10 बजकर 51 मिनट पर फार्मासिस्ट विपिन कुमार को लगा। सीएचसी से स्वास्थ्य विभाग की टीम के बार-बार फोन मिलाने पर कुछ आंगनबाड़ी व आशा कार्यकर्ता खुद को शहर से बाहर होने की जानकारी देते रहे। कुछ के फोन नंबर ही गलत अंकित थे। करीब पौने पांच बजे टीकाकरण समाप्त हुआ। सीएचसी प्रभारी डा. सतीश भास्कर लाभार्थियों को फोन कर बुलाने में जुटे रहे। दोपहर करीब सवा बजे कमिश्नर अनिता सी मेश्राम व आइजी प्रवीण कुमार पहुंचे और वैक्सीन केंद्र का निरीक्षण कर लाभाíथयों से हाल जाना।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.