चर्चित होर्डिग ठेकेदार के खिलाफ व्यापारियों ने खोला मोर्चा

अवैध होर्डिंग को लेकर शहर में एक बार फिर माहौल गरमा गया है। शहर के कुछ व्यापारियों ने सोमवार को मंडलायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उसके बाद नगर आयुक्त से मिले।

JagranPublish:Tue, 07 Dec 2021 02:54 AM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 02:54 AM (IST)
चर्चित होर्डिग ठेकेदार के खिलाफ व्यापारियों ने खोला मोर्चा
चर्चित होर्डिग ठेकेदार के खिलाफ व्यापारियों ने खोला मोर्चा

मेरठ, जेएनएन। अवैध होर्डिंग को लेकर शहर में एक बार फिर माहौल गरमा गया है। शहर के कुछ व्यापारियों ने सोमवार को मंडलायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उसके बाद नगर आयुक्त से मिले। आरोप लगाया कि चर्चित होर्डिंग ठेकेदार ज्ञानेंद्र चौधरी शहर में अवैध होर्डिंग लगाने के लिए विवादित रहे हैं। अब उन्हें ही शहर में लगे अवैध होर्डिंग को हटाने का ठेका दिया जा रहा है।

उधर, इस मामले पर नगर निगम की ओर से स्पष्ट किया गया कि होर्डिंग हटाने का ठेका अभी किसी को नहीं दिया गया है। नगर आयुक्त ने बताया कि अवैध होर्डिंग हटाने के लिए ई-टेंडर प्रक्रिया में है। इसके लिए टेंडर आमंत्रित किए गए हैं, जिसकी तिथि 15 दिसंबर है। अवैध होर्डिंग हटाने पर शुरू हुआ बवाल

शहर की छह प्रमुख सड़कों पर होर्डिंग लगाने का ठेका लंबे समय से ज्ञानेंद्र चौधरी, सचिन चौधरी की कंपनी अभिनव एडवरटाइजिग के पास है। हाल ही में नगर आयुक्त को शिकायत मिली कि प्रमुख सड़कों पर अवैध होर्डिंग लगा दिए गए हैं। इस पर नगर आयुक्त की ओर से नोटिस जारी हुआ कि संबंधित कंपनी अवैध होर्डिंग को हटाए अन्यथा उनका बिल भी कंपनी के बिल में जोड़ दिया जाएगा। इस नोटिस के बाद अभिनव एडवरटाइजिग की तरफ अवैध होर्डिंग हटाने का कार्य शुरू हुआ।

---------

अभिनव एडवरटाइजिग एजेंसी को नोटिस दिया है कि बीओटी के अंतर्गत छह मार्गों पर अवैध होर्डिंग हटाए अन्यथा एजेंसी के बिल में अवैध होर्डिंग की राशि जोड़ दी जाएगी। इसके क्रम में कार्रवाई की जा रही है। इसी दौरान जिन लोगों के अवैध होर्डिंग लगे थे उन्होंने हंगामा किया है। सभी विज्ञापन एजेंसियों को स्पष्ट कर दिया गया है कि कोई भी अवैध होर्डिंग नहीं छोड़ा जाएगा। निगम की टीम अभियान चलाकर इन्हें उतारेगी। साथ ही जुर्माना भी लगाया जाएगा।

-मनीष बंसल, नगर आयुक्त