रजवाहों में पानी नहीं, किसानों को परेशानी..बर्बाद होने के कगार पर फसलें

डेढ़ माह से रजवाहों में पानी न आने से क्षेत्र के किसान परेशान हैं। किसानों ने जल्द ही रजवाहों में पानी छोड़े जाने की मांग की है।

JagranPublish:Sat, 27 Nov 2021 07:41 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 08:38 PM (IST)
रजवाहों में पानी नहीं, किसानों को परेशानी..बर्बाद होने के कगार पर फसलें
रजवाहों में पानी नहीं, किसानों को परेशानी..बर्बाद होने के कगार पर फसलें

मेरठ, जेएनएन। डेढ़ माह से रजवाहों में पानी न आने से क्षेत्र के किसान परेशान हैं। किसानों ने जल्द ही रजवाहों में पानी छोड़े जाने की मांग की है।

क्षेत्र की अधिकतर फसल गंगनहर के पानी की सिचाई पर निर्भर हैं, लेकिन डेढ़ माह पूर्व सफाई के लिए बंद किए गए रजवाहों में अभी तक पानी नहीं छोड़ा गया है। 20 दिन पूर्व गंगनहर में तो पानी छोड़ दिया गया था। पानी छोड़े जाने की तो बात दूर की है अभी तक अधिकतर रजवाहों की सफाई का कार्य भी शुरू नहीं हो पाया है। सिंचाई विभाग की इस लेटलतीफी को लेकर क्षेत्र के किसानों में भारी रोष है। मनोज, शरणवीर, राजकुमार, राजबीर आदि किसानों ने बताया कि रजवाहों में पानी नहीं आने से गन्ने की फसल सूख रही है। वहीं, समय से पलेवा नहीं होने के कारण गेहूं की फसल की बुवाई भी प्रभावित हो रही है। क्षेत्र के किसानों ने शासन से रजवाहों में जल्द पानी छोड़े जाने की मांग की है। सिंचाई विभाग के एसडीओ देवेन्द्र सिंह ने बताया कि अधिकतर रजवाहों की सफाई का कार्य पूरा हो गया है। जल्द ही रजवाहों में पानी छोड़ दिया जाएगा।

माइनर में पानी नहीं आने से किसान परेशान

सरूरपुर : सलावा राइट माइनर में बीते डेढ़ माह से पानी नहीं आने से किसान परेशान है। किसान विनोद कुमार, संजीव, कृष्णपाल, देवेन्द्र, राजकुमार आदि ने बताया कि बीते 15 अक्टूबर को माइनर व रजवाहों की सफाई के लिए गंगनहर को बंद किया गया था, लेकिन सिचाई विभाग की कछुआ गति से कार्य के चलते रजवाहों में अभी तक सफाई पूरी नहीं हुई है। इसी के चलते पानी भी नहीं छोड़ा जा रहा है। फसलें बर्बाद होने की कगार पर पहुंच चुकी है। वहीं, खेतों की पलेवा नहीं होने से गेहूं की बुवाई प्रभावित हो रही है। किसानों ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत करने की बात कही है।