कोरोना से मरने वालों के स्वजन को मिलेंगे 50 हजार, मांगे आवेदन

कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर में सरकारी रिकार्ड के अनुसार जनपद में 898

JagranSat, 27 Nov 2021 10:10 AM (IST)
कोरोना से मरने वालों के स्वजन को मिलेंगे 50 हजार, मांगे आवेदन

मेरठ,जेएनएन। कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर में सरकारी रिकार्ड के अनुसार जनपद में 898 लोगों की मौत हो गई थी। अब केंद्र सरकार के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने संक्रमण से मृत लोगों के स्वजन को 50 हजार रुपये की मदद देने की पहल शुरू की है। इसके लिए जिला प्रशासन ने दिवंगत के स्वजन से आवेदन मांगे हैं। जांच-पड़ताल की प्रक्रिया को पूर्ण कर मदद राशि स्वजन को दी जाएगी।

अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व पंकज वर्मा ने बताया कि शासन द्वारा जारी किए गए शासनादेश के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण से मरने वाले लोगों के स्वजन को आपदा मोचक निधि से मदद राशि दी जाएगी। मदद पाने के लिए स्वजन को निर्धारित फार्म पर आवेदन करना होगा। आवेदन फार्म कलक्ट्रेट स्थित दैवीय आपदा अनुभाग में गठित की गई कोरोना सहायता आवेदन पत्र प्राप्ति सेल से किसी भी कार्य दिवस में प्राप्त किया जा सकता है। इसके अलावा जनपद की वेबसाइट www.द्वद्गद्गह्मह्वह्ल.ठ्ठद्बष्.द्बठ्ठ से भी डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन के संबंध में अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए कोविड-19 सहायता आवेदन पत्र प्राप्ति सेल में किसी भी कार्य दिवस में उपस्थित होकर जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा मृत व्यक्तियों के स्वजन द्वारा अपना आवेदन पत्र जमा कराया जा सकता है। जांच प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद आवेदक को मदद राशि बैंक खाते में भेज दी जाएगी।

छह छात्र-छात्राएं बने विजेता : आइआइएमटी विवि के कालेज आफ ला में संविधान दिवस के अवसर पर कार्यक्रम हुआ। मुख्य अतिथि डा. अतीकउर्रहमान व डा. मंजू गुप्ता ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम संयोजिका गार्गी सिंह ने छह विजेता छात्र-छात्राओं के नामों की घोषणा की। डीन डा. अनिरुद्ध राम ने मुख्य अतिथियों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में संविधान दिवस की महत्ता, उसका मुख्य आधार, समाज में विधि की उपयोगिता व उसके पालन के बारे में जानकारी दी गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.