मतातरण में मौलाना के मददगार दस लोग एटीएस के निशाने पर

मौलाना कलीम सिद्दीकी के मतातरण में मद्दगार बने दस लोग एटीएस के निशाने पर आ गए

JagranSun, 26 Sep 2021 08:50 AM (IST)
मतातरण में मौलाना के मददगार दस लोग एटीएस के निशाने पर

मेरठ,जेएनएन। मौलाना कलीम सिद्दीकी के मतातरण में मद्दगार बने दस लोग एटीएस के निशाने पर आ गए हैं। सíवलास के जरिये सभी की जानकारी जुटाई जा रही है। हालाकि सभी ने अपने मोबाइल फिलहाल बंद कर दिए हैं।

मुजफ्फरनगर के फुलत गाव निवासी मौलाना कलीम सिद्दीकी मतातंरण के लिए देशव्यापी सिंडिकेट चलाकर हवाला के जरिये फंडिंग करते थे। एटीएस ने दावा किया कि शरीयत के अनुसार व्यवस्था लागू कर जनसंख्या अनुपात बदलने के लिए वृहद स्तर पर मतातरण कराते थे। मौलाना कलीम सिद्दीकी के बारे में रोजाना अलग अलग तथ्य एटीएस के सामने आ रहे हैं। एटीएस ने मतातरण में मौलाना कलीम सिद्दीकी के साथ अहम भूमिका निभाने वाले दस लोगों को टार्गेट किया है। फिलहाल सभी का मोबाइल बंद हैं, जो अपने घर से भी फरार हो चुके हैं। पुलिस की इंटेलीजेंस इनकी टोह ले रही है। देखा यह भी जा रहा है कि मौलाना कलीम सिद्दीकी मेरठ के किस-किस के पास आते थे। गिरफ्तारी के समय भी मेरठ में ही माशा अल्लाह मस्जिद में आए हुए थे। उससे भी अहम बात है कि मौलाना की गिरफ्तारी के बाद लिसाड़ीगेट थाने का घेराव करने वाले लोगों की वीडियो भी एटीएस ने जुटा ली है। उस्मान के साथ भी ढूंढा जा रहा मौलाना का कनेक्शन

खरखौदा के उस्मान ने भी जेल में रहते हुए मुंडाली के मऊखास निवासी ताराचंद को मतातरण कराकर ताहिर बना दिया था। जेल से बाहर आने के बाद ताराचंद ही अन्य लोगों पर मतातरण का दबाव बनाने लगा था। यानि जेल के अंदर भी मतातरण का काम चल रहा है। अपराधियों को जेल से छुटवाने का सौदाकर मतातरण कराया जा रहा था। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी मुंडाली पुलिस अभी तक जेल में बंद उस्मान के खिलाफ कोई कठौर कार्रवाई नहीं कर पाई है। ऐसे में एटीएस इस प्रकरण को भी खंगाल रही है। पड़ताल की जा रही है कि कहीं जेल में बंद उस्मान का मालौना से कनेक्शन तो नहीं है, जो जेल में रहते हुए मतातरण का काम कर रहा है। मतातरण कराने के बाद उक्त लोगों को दूसरे साथियों को भी मतातरण कराने का जिम्मा सौंपा जाता है। एटीएस ने इस पूरे मामले की पुलिस से जानकारी जुटा ली है। इन्होंने कहा-

मौलाना कलीम सिद्दीकी से जुड़े प्रत्येक शख्स की निगरानी की जा रही है। कलीम सिद्दकी से जुड़े कुछ लोगों के नाम सामने आए है। उनके खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

प्रशात कुमार, एडीजी कानून व्यवस्था

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.