जल संरक्षण के लिए आगे आएं युवा, सुधरेगा जलस्तर

जल संरक्षण के लिए आगे आएं युवा, सुधरेगा जलस्तर

एनवायरमेट क्लब ने गुरुवार को विश्व पृथ्वी दिवस के मौके पर कार्यक्रम हुए।

JagranFri, 23 Apr 2021 12:45 AM (IST)

मेरठ,जेएनएन। एनवायरमेट क्लब ने गुरुवार को विश्व पृथ्वी दिवस के मौके पर देश के अलग-अलग हिस्सों में जल संरक्षण के लिए कार्य करने वाले जल प्रहरियों के साथ वर्चुअल अर्थ डे समिट 2021 आयोजित की। इसमें जल संरक्षण की दिशा में व्यक्तिगत व संस्थागत तरीके से कार्य करने वाले लोगों ने समाज को प्रेरित करने वाले प्रयास से रूबरू कराया।

जल संरक्षण के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से गौतमबुद्धनगर के पौंडमैन (तालाब पुरुष) के नाम से ख्यात रामवीर तंवर ने कहा कि आज गांव-गांव में तालाब और जोहड़ खत्म होते जा रहे हैं। अगर हम इन तालाबों और जोहड़ को संरक्षित करने का बीड़ा उठा लें तो लगातार गिरते जलस्तर में तेजी से वृद्धि होगी। बुंदेलखंड के जखनी गांव के जल योद्धा उमाशंकर पांडे ने अपने सफल प्रयासों को साझा किया। उन्होंने बताया कि किस तरह पारंपरिक तरीके से तालाबों में पानी रोका व जलस्तर को सुधारा। इसी के चलते गांव को नीति आयोग ने आधिकारिक रूप से भारत का पहला जल ग्राम घोषित किया है। तीसरे वक्ता राजस्थान के राजसमंद जिले के पिपलात्री गाव के प्रधान पद्मश्री श्याम सुंदर पालीवाल ने जल संरक्षण की अपनी कहानी साझा की। बताया कि सर्वप्रथम ग्रामीणों को जल संरक्षण के लिए जागरूक किया। भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराकर वहा तालाब खोदवाए, जोहड़ बनवाए व पौधरोपण किया। इससे गाव में पानी की समस्या जड़ से खत्म हो गई। आज आसपास के गांव जल संरक्षण के लिए उनके गांव से सीख ले रहे हैं। चौथे वक्ता के तौर पर भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय की ओर से वाटर हीरो अवार्ड से सम्मानित युवा पर्यावरणविद् सावन कन्नौजिया ने कहा कि आज का युवा अपने स्मार्टफोन की दुनिया में सिमट गया है। युवा अगर जल संरक्षण के लिए आगे आए तो उम्मीद है घटता जलस्तर सुधरेगा। इस दौरान समिट के अलग-अलग सत्रों में विभिन्न राज्यों जैसे दिल्ली, मेघालय, असोम, झारखंड से 15 सौ से अधिक छात्र व पर्यावरण के लिए कार्य करने वाली संस्थाएं जुड़ी। इस दौरान बुंदेलखंड के जल पुरुष संजय सिंह, क्लब के उपाध्यक्ष गोविंद शर्मा, सार्थक पाराशर, इशिका खत्री, मानसी, अमन अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

आनलाइन माध्यम से मनाया पृथ्वी दिवस : विजडम ग्लोबल स्कूल में आनलाइन माध्यम से गुरुवार को पृथ्वी दिवस मनाया गया। बच्चों ने अपनी पृथ्वी को हमेशा हरा-भरा रखने का संदेश पोस्टर बनाकर दिया। बच्चों ने नीम, पीपल व बरगद के पेड़ों के फायदों को समझाया कि किस तरह ये वृक्ष हमें आजीवन फ्री में प्रदान करते हैं। संस्था की हेड मिस्ट्रेस रजनी खंडूजा ने कहा कि बच्चों का सर्वांगीण विकास देश के एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में उभरता है। प्रधानाचार्य आरती कुमार ने अभिभावकों का आभार जताया।

पृथ्वी को बचाने के लिए लगाएं पौधे: जागरूक नागरिक एसोसिएशन ने गुरुवार को विश्व पृथ्वी दिवस पर जेल चुंगी रोड पर स्थित राम मनोहर लोहिया पार्क में सर्वाधिक आक्सीजन देने वाले पौधे रोपित किए। एसोसिएशन के महासचिव गिरीश शुक्ला ने बताया कि पर्यावरण हर दिन प्रदूषित हो रहा है। तीस फीसद देश की भूमि भूमि बंजर हो चली है। कृषि योग्य उपजाऊ भूमि को मानव विकास के बंजर आवरण से ढक रहा है। ऐसे हालातों से पृथ्वी को बचाने के लिए पौधरोपण पर जोर देना होगा। इस दौरान संस्था के केएल बत्रा, सोमपाल सिंह, गौरव चौधरी, मुकेश शर्मा, सत्यवीर शर्मा आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.