सरूरपुर थाना प्रभारी की हार्ट अटैक से मौत

सरूरपुर थाना प्रभारी की हार्ट अटैक से मौत

सरूरपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरविद कुमार (45) की शनिवार रात हार्ट अटैक से मौत हो गई। सीने में तेज दर्द होने पर पहले उन्हें सीएचसी में भर्ती कराया गया था जहां से लालकुर्ती स्थित मेट्रो अस्पताल लाया गया।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 02:35 AM (IST) Author: Jagran

मेरठ, जेएनएन। सरूरपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अरविद कुमार (45) की शनिवार रात हार्ट अटैक से मौत हो गई। सीने में तेज दर्द होने पर पहले उन्हें सीएचसी में भर्ती कराया गया था, जहां से लालकुर्ती स्थित मेट्रो अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना पर एसएसपी और एसपी देहात समेत अन्य पुलिसकर्मी अस्पताल पहुंचे। शामली के बाबरी थाना क्षेत्र के बनती खेड़ा निवासी अरविद कुमार 2001 में उत्तर प्रदेश पुलिस में दारोगा भर्ती हुए थे। वर्तमान में वह सरूरपुर थाने में प्रभारी निरीक्षक थे। शनिवार शाम को रिश्तेदार और अन्य परिचित मिलने आए थे। देर शाम अचानक उन्होंने सीने में तेज दर्द होने की शिकायत अन्य पुलिसकर्मियों को बताई। उनको सीएचसी में ले जाया गया। रात में सीओ सरधना जेके शाही और सरूरपुर थाने के अन्य पुलिसकर्मी उन्हें लालकुर्ती स्थित मेट्रो अस्पताल में लेकर पहुंचे। यहां चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। एसएसपी अजय साहनी, एसपी देहात केशव कुमार और एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह व अन्य पुलिसकर्मी इंस्पेक्टर की मौत की सूचना पर अस्पताल पहुंचे। वह क्राइम ब्रांच के साथ ही डायल 112 के प्रभारी भी रहे। सरधना में भी उनकी तैनाती रही थी। पोस्टमार्टम के बाद इंस्पेक्टर का पाíथव शरीर रविवार को पुलिस लाइन लाया जाएगा।

हमले के आरोपित को भेजा जेल

क्षेत्र लालपुर गांव निवासी नौशाद पुत्र घसीटा स्वजन के साथ रहता है। उसका पड़ोस में रहने वाले गुलफाम पुत्र सुलेमान से विवाद चल रहा है। नौ जनवरी को गुलफाम ने नौशाद पर हमला किया था। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। शनिवार को पुलिस ने हमले के आरोपित गुलफाम को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी रघुराज सिंह का कहना है कि आरोपित को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

ठेला टकराने को लेकर मारपीट

लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के मजीद नगर मेवगढ़ी निवासी मोहम्मद इकबाल ठेला चलाता है। एक सप्ताह पहले वह माल छोड़ने आशियाना कालोनी गया था। वहां राजा और अनस की कबाड़ की दुकान है। माल उतारते समय उसका ठेला दोनों युवकों की दुकान से टकरा गया। इसी बात को लेकर उनमें विवाद हो गया था। उस समय क्षेत्र के लोगों ने दोनों को समझाकर घर भेज दिया था। आरोप है कि शनिवार को रंजिशन दोनों युवकों ने इकबाल की पिटाई कर दी। उसने बामुश्किल आरोपितों से जान बचाई। भीड़ एकत्र होती देख आरोपित उसे जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गए। थाना प्रभारी का कहना है कि मामले की जांच कर हमलावरों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.