Police Bribe Case: मेरठ में भ्रष्‍टाचार में लिप्‍त इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा पर शिकंजा, वारंट जारी, लोकेशन भी नहीं मिल पा रही

Police Bribe Case रिश्‍वत कांड और भ्रष्‍टाचार के मामले में थाना सदर के पूर्व इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा के खिलाफ शिकंजा कसता जा रहा है। अब इंस्‍पेक्‍टर के खिलाफ वारंट जारी हो गए हैं। हालांकि पुलिस को अभी इंस्‍पेक्‍टर की लोकेशन नहीं मिल रही है।

Prem Dutt BhattTue, 28 Sep 2021 07:37 AM (IST)
मेरठ के आरोपित इंस्पेक्टर ने हाईकोर्ट में लगा रखी है अग्रिम जमानत अर्जी।

मेरठ, जागरण संवाददाता। Police Bribe Case भ्रष्टाचार के मुकदमे में वांछित मेरठ के इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा के कोर्ट से वारंट जारी हो गए हैं। बिजेंद्र को पुलिस भले ही नहीं ढूंढ पा रही हो, लेकिन वह हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत के लिए प्रयासरत है। केस डायरी भेजने में देरी की वजह से इंस्पेक्टर की अर्जी पर हाईकोर्ट में सुनवाई नहीं हो पा रही है। सीओ अपराध की टीम इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी को लगा दी गई है। लगातार दबिश के बाद भी आरोपित इंस्पेक्टर का कोई पता नहीं चल सका है।

यह है मामला

एक माह पहले सदर बाजार थाने के इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा और हेडकांस्टेबल मनमोहन के खिलाफ भ्रष्टाचार, अवैध हिरासत में रखकर मारपीट और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने हेडकांस्टेबल मनमोहन को जेल भेज दिया। अदालत से जमानत मिलने के बाद मनमोहन जेल से रिहा हो गया है, वहीं इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा अभी फरार चल रहा है। बिजेंद्र ने भी स्थानीय कोर्ट से अग्रिम जमानत को अर्जी लगाई थी।

कुर्की और इनाम की घोषणा जल्‍द

संगीन अपराध बताते हुए कोर्ट ने अर्जी निरस्त कर दी। विवेचक सीओ संजीव दीक्षित ने इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी नहीं होने पर कोर्ट से वारंट जारी करा दिए हैं। इंस्पेक्टर के खिलाफ कुर्की और इनाम घोषित करने की तैयारी की जा रही है। कंकरखेड़ा में बिजेंद्र राणा के घर पर ताला लटका हुआ है। मोबाइल बंद होने की वजह से इंस्पेक्टर की कोई लोकेशन तक नहीं मिल पा रही है। बता दें कि इंस्पेक्टर पर ट्रक चोरी के मुकदमे की दोबारा विवेचना में मोटी रकम वसूली करने का आरोप लगा था।

ट्रक स्वामी की रकम लौटाई

पुलिस सूत्रों के अनुसार इंस्पेक्टर ने ट्रक स्वामी इमरान से वसूली गई रकम लौटा दी है ताकि समझौते का प्रयास किया जा सके। इससे पहले ही पुलिस ने इमरान समेत सभी पीडि़तों के बयान दर्ज करा दिए थे। मुकदमा वादी के बयान कोर्ट में दर्ज हो चुके हैं। ऐसे में अपने बयान से पलटने पर पीडि़त पक्ष के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

इनका कहना है

इंस्पेक्टर बिजेंद्र राणा की फरारी पर कोर्ट से वारंट जारी हो चुके हैं। पुलिस ने मुकदमे में पर्याप्त साक्ष्य जुटा लिए हैं। इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी को भी टीम लगा दी गई है।

- प्रभाकर चौधरी, एसएसपी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.