आग का गोला बनी चलती बस चालक की सतर्कता से बचे यात्री

आग का गोला बनी चलती बस चालक की सतर्कता से बचे यात्री

सोहराब गेट डिपो की अनुबंधित रोडवेज बस में शनिवार रात एनएच-334 स्थित फफूंडा गांव के पास शार्ट सर्किट से आग लग गई।

JagranSun, 28 Feb 2021 02:10 AM (IST)

मेरठ, जेएनएन। सोहराब गेट डिपो की अनुबंधित रोडवेज बस में शनिवार रात एनएच-334 स्थित फफूंडा गांव के पास शार्ट सर्किट से आग लग गई। बस चालक की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा होने से बच गया, लेकिन आग लगने से बस पूरी तरफ जल कर क्षतिग्रस्त हो गई।

रात करीब आठ बजे अनुबंधित बस संख्या यूपी 81 बीटी 6948 आगरा से मेरठ जा रही थी। बस में दस यात्री सवार थे। जैसे ही बस फफूंडा के पास पहुंची तो ऐसी में शार्ट सर्किट से अगा लग गई। आग को चालक चिंदौड़ी निवासी सुखपाल ने देखा लिया और बस रोककर शोर मचा दिया। आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और यात्रियों को बस से सुरक्षित निकलने में सहायता की। कुछ ही देर में बस आग का गोला बन गई। फायर ब्रिगेड की दो गाड़ियों ने वहां पहुंच कर आग पर काबू पाया। इंस्पेक्टर ऋषिपाल सिंह ने बताया कि चालक की सतर्कता से बड़ा हादसा होने से बच गया।

पुराने टायरों के गोदाम में भीषण आग, लाखों का नुकसान: इंचौली थाना अन्तर्गत ग्राम पबला में स्थित पुराने टायरों के गोदाम में शनिवार को देर रात्रि आग लग गई। जिसने शीघ्र ही भीषण रूप ले लिया। मौके पर पहुंची फायर बिग्रेड की पांच गाड़ियां आग बुझाने के प्रयास में जुटी थी। आग ने पड़ोस में स्थित एक किसान की ईख की फसल को भी चपेट में ले लिया था।

गांव इंचौली निवासी आदिल कबाड़ी पुत्र मास्टर नबीं पुराने टायरों की खरीद फरोख्त का काम करता है। जिसके लिये उसने गांव पबला रोड पर एक खुला गोदाम किराये पर ले रखा है। शनिवार को रात्रि लगभग दस बजे गोदाम में रखे टायरों में आग लग गई तथा देखते ही देखते आग ने भीषण रूप धारण कर लिया। सूचना पर थाना पुलिस व फायर बिग्रेड की एक-एक कर पांच गाड़िया मौके पर पहुंच आग बुझाने के प्रयास में जुट गई। मौके पर सैकड़ों ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई तथा आग से बचे हुये कंडम टायर गोदाम से बाहर निकालने के प्रयास में जुट गई।

इसी बीच आग ने पड़ोस में स्थित इंचौली निवासी मोहम्मद कमाल के खेत में खड़ी ईख की फसल को भी अपनी चपेट में ले लिया। समाचार भेजे जाने तक फायर बिग्रेड की पांच गाड़ियां खुले गोदाम में आग बुझाने के प्रयास में जुटी थी। रात लगभग 11 बजे फायर बिग्रेड की गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया था। बताया जाता है कि दुर्घटना के वक्त गोदाम मालिक दिल्ली गया हुआ था। आग लगने के कारणों का पता नही चल पाया था। आग से लगभग दस लाख रूपये के पुराने टायर जलने की क्षति का अनुमान बताया जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.