सहारनपुर में पंचायत चुनाव की सरगर्मी तेज, नानौता में पहली बार बनेगी पिछड़े वर्ग की महिला प्रमुख

सहारनपुर में पंचायत चुनाव की सरगर्मी तेज

सहारनपुर जिले में पंचायत चुनाव के आरक्षण की घोषणा के बाद अब चुनाव को लेकर सरगर्मियांं तेज होने लगी हैं। नानौता में पहली बार बनेगी पिछड़े वर्ग की महिला प्रमुख बनेगी। प्रत्‍याशियों ने तैयारी शुरू कर दी है।

PREM DUTT BHATTFri, 05 Mar 2021 12:19 AM (IST)

सहारनपुर, जेएनएन। पंचायत चुनाव का आरक्षण तय होने के बाद ग्राम प्रधान पद की तैयारी कर रहे कुछ उम्मीदवारों के अरमानों पर पानी फिर गया। आरक्षण जारी होने के बाद अब चुनाव को लेकर सरगर्मिया तेज होने लगी हैं। चुनाव को लेकर संभावित प्रत्याशियों के चेहरे भी सामने आने लगे हैं।

बिहारीगढ़ क्षेत्र में पंचायत चुनाव के आरक्षण की घोषणा के बाद अब चुनाव को लेकर सरगर्मिया तेज होने लगी हैं। जबकि आरक्षण की घोषणा के बाद क्षेत्र की शेरपुर, नौरंगपुर, समसपुर, कालूवाला जहानपुर व गणेशपुर ग्राम पंचायतें पहली बार अनुसूचित जाति में आने के बाद कई लोगों के चुनाव लडऩे के सपने अधूरे ही रह जाएंगे। विकास खण्ड मुजफ्फराबाद ही नहीं जनपद सहारनपुर की 17 मजरों की सबसे बड़ी ग्राम पं, चायत थापुल इस्माईलपुर अनारक्षित होने से यहां जोरदार मुकाबला होने का अनुमान लगाया जा रहा है। वही दूसरी ओर आरक्षण की घोषणा के बाद नये चेहरे भी चुनाव मैदान में नजर आ रहे है तो कई पुराने चेहरे भी दोबारा अपनी किस्मत आजमाने को तैयार है। जबकि चुनाव को लेकर अब गांव की चौपाल भी चर्चा तेज हो गई है।मुज़फ़्फ़राबाद : मुज़फ़्फ़राबाद ब्लॉक की कई बड़ी व मालदार कहलाने वाली ग्राम पंचायत इस बार आरक्षित हो गई है। जिन गावों में प्रधान पद अनुसूचित वर्ग के लिए आरक्षित कर दिया है वहा स्थिति और भी अलग बन गई है। ग्राम मुज़फ़्फ़राबाद सहित शेरपुर खाना जादपुर, संसारपुर, ताजपुरा, खिड़का भटकव्वा, संसारपुर, दतौली मुगल,गणेशपुर, शेखुपुर मुजाहिदपुर मुस्त, कालुवाला जहानपुर, अनवरपुर बरौली, जैतपुर खुर्द, नौरंगपुर, समसपुर, पथरवा, माँझीपुर, रायपुर कला सहित करीब डेढ़ दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में चुनाव की धमक हल्की पड़ती दिखाई दे रही है। नानौता त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए शासन द्वारा जारी की गई आरक्षण सूची में इस मर्तबा पहली बार ओबीसी वर्ग की महिला को चुनाव जीतकर ब्लाक प्रमुख बनने का मौका मिलेगा। नकुड़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे कुछ उम्मीदवारों के सपनों पर चक्रानुसार तय किए गए आरक्षण ने पानी फेर दिया। नकुड़ ब्लाक में गांव टाबर, मन्धौर व साहबामाजरा पिछड़ा वर्ग, काजीबाँस व लतीफपुर एससी वर्ग के लिए आरक्षित हुआ है। इन सभी ग्राम पंचायतों में सामान्य वर्ग के व्यक्ति प्रधान पद के लिए कुछ दिनों से उम्मीदवारी को लेकर तैयारी कर रहे थे, परंतु आरक्षण सूची जारी होते ही उन सभी लोगों को झटका लगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.