Oxygen In Meerut: कोरोना से जंग को सात समंदर पार से आई मदद, USA से मिले आक्सीजन कंसंट्रेटर

मेरठ के लिए आक्सीजन कंसंट्रेटर निश्शुल्क उपलब्ध कराए गए हैं।

मेरठ में कोरोना से जंग के लिए पूरी तैयारी है। यहां श्रीराम ग्राम विकास समिति नागौरी फलौदा को यूएसए से दान में मिले 390 आक्सीजन कंसंट्रेटर। कस्टम और जीएसटी की माफी प्रक्रिया में लगे दो दिन गांवों में गरीब कोरोना मरीजों को देंगे।

Prem Dutt BhattTue, 18 May 2021 11:15 AM (IST)

मेरठ, जेएनएन। भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की भयावहता देखकर विदेशों में रह रहे भारतीय भी बैचेन हैं। वे मदद के लिए छटपटा रहे हैं। ऐसे ही व्यक्तियों द्वारा मवाना क्षेत्र की श्रीराम ग्राम विकास समिति को ग्रामीण क्षेत्र में गरीब रोगियों की मदद तथा उनकी जान बचाने के लिए कुल 390 आक्सीजन कंसंट्रेटर निश्शुल्क उपलब्ध कराए गए हैं। कस्टम और जीएसटी शुल्क की माफी प्रक्रिया में तीन दिन का समय लगने के बाद यूएसए से 165 आक्सीजन कंसंट्रेटर की खेप सोमवार देर रात दिल्ली पहुंच गई। जबकि चीन के हांगकांग से 225 आक्सीजन कंसंट्रेटर की खेप दो दिन में दिल्ली पहुंचने की संभावना जताई जा रही है।

फार्मा कंपनी के भारतीय प्रबंधक और इंजीनियर ने भेजी मदद

मवाना के नागौरी गांव में श्री राम ग्राम विकास सेवा समिति द्वारा गरीबों के लिए स्कूल तथा रोगियों के इलाज के लिए धर्मार्थ चिकित्सालय का संचालन किया जाता है। समिति के अध्यक्ष विनीत राठी ने बताया कि समिति को यह मदद बिहार के निवासी तथा यूएसए में फार्मा कंपनी स्लेबैक फार्मा में प्रबंधक अजय कुमार तथा नागौरी के निवासी फिलहाल यूएसए में इंजीनियर जयपाल राठी ने भेजी है। विनीत ने बताया कि जयपाल राठी उनके ताऊ हैं। वे हर साल ग्रामीण क्षेत्र में चिकित्सा सेवा के लिए समिति को आर्थिक सहायता प्रदान करते हैं। कोरोना महामारी से लड़ाई के लिए उन्होंने आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए हैं।

बचाएंगे ग्रामीण क्षेत्र में गंभीर मरीजों की जान

विनीत राठी ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। वहां लोगों को इलाज भी सुलभ नहीं होता लिहाजा बड़ी संख्या में मौत हो रही हैं। अकेली नागौरी गांव में ही सात तथा बराबर के गांव अस्सा में 11 लोगों की मौत हो चुकी है। इन मौतों को रोकने का प्रयास किया जा रहा है। देशके कई हिस्सों में ग्रामीण क्षेत्रों में काम करने वाली एनजीओ को भी ये आक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए जाएंगे। गंभीर मरीजों को आक्सीजन कंसंट्रेटर दिए जाएंगे जो कि स्वास्थ्य ठीक होने पर समिति को लौटा देंगे। ताकि अन्य लोगों की मदद भी की जा सके। विनीत ने बताया कि समिति ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता अभियान भी शुरू करने वाली है।

मंगलवार शाम तक मेरठ पहुंच जाएंगे कंसंट्रेटर

दान में मिले आक्सीजन कंसंट्रेटरों पर कस्टम और जीएसटी माफ करने की अपील समिति ने भारत सरकार से की थी। जिसपर सरकार द्वारा समिति के क्रियाकलापों की जांच कराई गई। प्रदेश शासन के आदेश पर जिला प्रशासन ने जांच करके रिपोर्ट भेजी। शुल्क माफ करने का आदेश हो चुका है। विनीत ने बताया कि यूएसए से आने वाली 165 आक्सीजन कंसंट्रेटर की खेप सोमवार देर रात दिल्ली एयरपोर्ट पहुंच जाएगी। मंगलवार शाम तक मेरठ पहुंचेगी। जबकि हांगकांग चीन से 225 आक्सीजन कंसंट्रेटर दो दिन बाद दिल्ली पहुंचेंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.