फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर साइबर ठग मांग रहे पैसे, ये बरतें एहतियात

कोरोना काल में बढ़ गई हैं आनलाइन ठगी।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 11:44 PM (IST) Author: Taruna Tayal

मेरठ, जेएनएन। कोविड के समय जहां आनलाइन संवाद और बैंकिंग बढ़ी है, वहीं साइबर क्राइम के मामले भी खूब बढ़ रहे हैं। फेसबुक जैसे सोशल मीडिया पर फर्जी आइडी बनाकर लोगों से पैसे मांगने की घटनाएं बढ़ गई हैं। मेरठ में कुछ शिक्षकों के साथ इस तरह की घटना हुई। जिसकी शिकायत पुलिस में हुई है। कोविड के समय जब स्कूल, कालेज बंद है, उस समय ज्यादातर शिक्षक छात्रों को आनलाइन पढ़ा रहे हैं। छात्रों से संवाद के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म का भी प्रयोग कर रहे हैं।

आनलाइन शिक्षकों पर साइबर ठगों की नजर

आनलाइन हो रहे शिक्षकों पर साइबर ठगों की नजर है। वह उनके नाम से फर्जी आइडी बनाकर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज रहे हैं। ऐसे ही सिटी वोकेशनल स्कूल के शिक्षक राजेश शर्मा की फोटो लेकर फर्जी फेसबुक आइडी बना ली गई। जिससे मैंसेजर के माध्यम से शिक्षक की तरफ से ठग ने उनके कई दोस्तों को मैसेज भेजकर पैसे मांगे। खुद को दिल्ली में किसी आपातकालीन स्थिति में बताकर पैसे मांगे गए। साइबर ठग ने मैंसेजर पर अपना बैंक का खाता तक भेज दिया। जानकारी होने पर राजेश शर्मा ने साइबर सेल में इसकी रिपोर्ट दर्ज करा दी है। अभी कुछ दिन पहले चौ. चरण सिंह विवि के कुलपति की फर्जी ईमेल बनाकर पैसे मांगने की शिकायत आई थी। इसी तरह कैनरा बैंक के प्रबंधक विनय की फर्जी फेसबुक आइडी बनाकर पैसे मांगने की शिकायत है।

सोशल मीडिया पर सतर्क रहें

चौ. चरण सिंह विवि में कंप्यूटर व साइबर के एक्सपर्ट डा. मिलंद का कहना है कि फेसबुक या किसी सोशल मीडिया पर सतर्क रहने की जरूरत है। अगर आपने एक बार जिसके फ्रेंड रिक्वेस्ट को स्वीकार कर लिया है। अगर दूसरी बार उसी व्यक्ति के नाम से रिक्वेस्ट आए तो उसकी जांच कर लें। क्योंकि हो सकता है कि वह फर्जी हो। फेसबुक पर अपनी प्रोफाइल और गतिविधियों को भी देखते रहें। संभव हो तो अपनी प्रोफाइल लाक रखें, इससे आपके संपर्क में जो दोस्त होंगे, वहीं प्रोफाइल देख पाएंगे। अंजान लिंक को खोलने से बचना चाहिए। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.