मेरठ में ऊर्जा मंत्री के निर्देश पर स्मार्ट मीटर के सम्बंध में उपभोक्ताओं से लिया जा रहा फीडबैक Meerut News

मेरठ में स्मार्ट मीटर के सम्बंध में उपभोक्ताओं की राय ली गई।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर पीवीवीएनएल मुख्यालय स्थिति काल सेंटर से शहर के उपभोक्ताओं को काल कर स्मार्ट मीटर के संबंध में फीडबैक लिया जा रहा है । यह कवायद इस बात को जानने की है कि स्मार्ट मीटर से उपभोक्ता संतुष्ट है या नहीं।

Publish Date:Tue, 01 Dec 2020 07:00 PM (IST) Author: Taruna Tayal

मेरठ, जेएनएन। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के निर्देश पर पीवीवीएनएल मुख्यालय स्थिति काल सेंटर से शहर के उपभोक्ताओं को काल कर स्मार्ट मीटर के संबंध में फीडबैक लिया जा रहा है । यह कवायद इस बात को जानने की है कि स्मार्ट मीटर से उपभोक्ता संतुष्ट है या नहीं। साथ ही असंतुष्ट उपभोक्ताओं की शिकायतों का त्वरित निराकरण भी किया जा रहा है।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बिजली अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं से फीडबैक जरूर लिया जाएगा। इसके लिए 1912 काल सेंटर से काल की जाएगी। साथ ही अधिकारी व्यक्तिगत तौर पर उपभोक्ताओं के घर भी जाएंगे। उनसे फीडबैक फार्म भी भरवाएंगे। ऊर्जा मंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि उपभोक्ता की संतुष्टि जरूरी है। है। इसके साथ ही उपभोक्ताओं के फीडबैक के आधार पर व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। जिसका पालन नगरीय विधुत वितरण मंडल मेरठ में शुरू हो गया है। अधीक्षण अभियंता अशोक कुमार सिंह ने बताया कि शहर में 1,13,656 उपभोक्ताओं के घर स्मार्ट मीटर लगे हुए हैं। 1912 काल सेंटर से प्रतिदिन लगभग 2000 उपभोक्ताओं को काल कर फीडबैक लिया जा रहा है। अभी तक मेरठ शहर से 254 उपभोक्ताओं ने स्मार्ट मीटर सम्बन्धी शिकायत की है। जिनमे से 191 शिकायतों का निस्तारण किया गया है। ज्यादातर उपभोक्ताओं की शिकायत बढ़े बिल को लेकर है। स्मार्ट मीटर खराब होने की बहुत कम शिकायते हैं। गौरतलब है कि अगस्त में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की रात प्रदेश में स्मार्ट मीटर से बड़ी संख्या में कनेक्शन अपने आप कट गए थे। इस मामले में लखनऊ स्तर पर जांच चल रही है। तभी से नए उपभोक्ताओं के यहाँ स्मार्ट मीटर लगाने पर रोक लगी हुई है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.