मेरठ में सांसद ने निर्माणाधीन एस्ट्रोटर्फ का किया निरीक्षण, मई तक काम होगा पूरा

मेरठ में हॉकी एस्ट्रोटर्फ का न‍िर‍ीक्षण करते सांसद।

मेरठ में खेलो इंडिया के तहत बनाए जा रहे हैं हॉकी एस्ट्रोटर्फ में पिछले सप्ताह जांच के दौरान मिली खामियों की जानकारी मिलने पर सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने सोमवार को स्टेडियम का निरीक्षण किया और उन कमियों को दूर करने के निर्देश भी दिए।

Publish Date:Mon, 25 Jan 2021 05:53 PM (IST) Author: Taruna Tayal

मेरठ, जेएनएन। कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में खेलो इंडिया के तहत बनाए जा रहे हैं हॉकी एस्ट्रोटर्फ में पिछले सप्ताह जांच के दौरान मिली खामियों की जानकारी मिलने पर सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने सोमवार को स्टेडियम का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने प्रोजेक्ट से जुड़ी तमाम जानकारियों को प्रोजेक्ट मैनेजर व क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी से जाना और उन कमियों को दूर करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि खेल सुविधाएं खिलाड़ियों की बेहतरी के लिए विकसित की जा रही हैं। उनमें किसी भी तरह की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए। इसलिए काम अच्छा हो जिससे एक बार होने पर कुछ साल खिलाड़ियों के काम भी आए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार खिलाड़ियों के लिए सुविधाएं देशभर में बढ़ा रही है। अब स्टेडियम में एस्ट्रोटर्फ के बाद स्मार्ट सिटी के तहत सिंथेटिक एथलेटिक ट्रेक भी बन जाने से शहर के बीच में खिलाड़ियों के लिए सुविधाएं अच्छी हो जाएंगी। इसके साथ ही मेरठ में खेल विश्वविद्यालय बनने से यहां खेल और बेहतर हो सकेगा। खिलाड़ियों को लाभ मिलेगा जिससे बेहतर खिलाड़ी तैयार हो सकेंगे।

मई तक पूरा होगा काम

प्रोजेक्ट मैनेजर ने सांसद को बताया कि एस्ट्रोटर्फ का काम मई तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा अगर मई तक काम पूरा हो जाएगा तो वह कोशिश करेंगे कि खेल मंत्री किरण रिजिजू आकर इसका उद्घाटन करें। इसलिए कोशिश यही होनी चाहिए कि बारिश के पहले एस्ट्रोटर्फ के निर्माण का काम पूरा हो जाए। इसपर प्रोजेक्ट मैनेजर ने भी उन्हें मई अंत तक काम पूरा होने का आश्वासन दिया है और बताया कि निर्माण का काम तेज गति से चलेगा और पूरी निगरानी के साथ आगे बढ़ेगा।

जल्दी शुरू हो सकता है शूटिंग रेंज का निर्माण

कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में दिल्ली के डॉक्टर कर्णी सिंह शूटिंग रेंज की तर्ज पर आधुनिक सुविधाओं वाला शूटिंग रेंज बनाने का प्रस्ताव पहले ही पास हो चुका है। इस बाबत प्रदेश सरकार की ओर से करीब 15 करोड रुपये का बजट भी स्वीकृत किया गया है। मेरठ के साथ ही वाराणसी में भी यह शूटिंग रेंज बनना है। मेरठ के तमाम कागजी कार्रवाई पूरी हो चुकी हैं। फायर ब्रिगेड की ओर से कुछ आपत्तियां दर्ज कराई गई थी जो पूरी हो चुकी हैं। इसके बाद दो-तीन महीने में शूटिंग रेंज का काम भी शुरू किया जा सकता है। शूटिंग रेंज पुराने शूटिंग रेंज के स्थान पर ही बनेगा। उसके लिए जगह पहले ही चिन्हित की जा चुकी है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.