top menutop menutop menu

Badan Singh Badoo: अब STF के निशाने पर मास्टवांटेड बदन सिंह बद्दो, जमानतियों को जारी किए गए नोटिस Meerut News

मेरठ, [सुशील कुमार]। पुलिस हिरासत से फरार ढाई लाख के कुख्यात बद्दो की तलाश में एसटीएफ और पुलिस फिर से जुट गई है। उसके जमानतियों को भी पुलिस ने नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। लुकआउट नोटिस के बावजूद पुलिस उसे पकड़ नहीं पाई है।

पुलिस के हाथ नहीं आया

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की शहादत बाद एसटीएफ ने कुख्यात विकास दूबे को मुठभेड़ में मार गिराया। शासन ने 25 मोस्टवांटेड की सूची जारी की है। इसमें टीपीनगर के बेरीबाग का रहने वाला कुख्यात बदन सिंह बद्दो पहले नंबर पर है। 28 मार्च 2019 को पुलिस उसे दिल्ली रोड स्थित मुकुट महल होटल में पहुंची थी। वहां वह पुलिसकर्मियों को कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर भाग गया था। पुलिस ने पंजाब, मुंबई और दक्षिण भारत में बद्दो की लोकेशन मिलने का दावा किया था। हालांकि वह पुलिस के हाथ नहीं आया। विदेश भागने की आशंका जताकर उसका लुक आउट नोटिस भी जारी किया गया है। एसटीएफ और पुलिस अब नई उर्जा के साथ बद्दो को पकडऩे में जुटी है। दावा किया जा रहा है कि उसे जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। बदन ङ्क्षसह बद्दो से जुड़ लोगों को एसपी सिटी की तरफ से नोटिस जारी किया गया है। सभी को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया गया है।

इनका कहना है

पुलिस और एसटीएफ संयुक्त रूप से बद्दो को तलाश कर रही हैं। उसकी फरारी में अहम भूमिका निभाने वाले एक साथी को पुलिस ने जेल भेजा है। बद्दो से जुड़े प्रत्येक शख्स पर नजर रखी जा रही है। वेस्ट यूपी के कई पुलिस अधिकारी उसे पकड़ने में जुटे हैं।

-प्रवीण कुमार, आइजी रेंज

यूपी के मोस्ट वांटेड की लिस्ट में बद्दो टॉप पर

- ढाई लाख रुपये का है इनाम, मार्च 2019 में हुआ था फरार

- विदेश भागने की आशंका, लुकआउट नोटिस जारी

- सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर दे रहा है खुली चुनौती

फरारी में मददगार अनिल छाबड़ा को भेजा जेल

बद्दो की फरारी में अहम भूमिका निभाने वाले व्यापारी नेता अनिल छाबड़ा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया है। पिछले एक साल से अनिल छाबड़ा को पकड़कर पूछताछ करने के बाद पुलिस छोड़ देती थी। सीओ चक्रपाणि त्रिपाठी ने बताया कि अनिल छाबड़ा को गवाहों और साक्ष्यों के आधार पर आरोपित बनाया गया है। 28 मार्च 2019 को बद्दो को फतेहगढ़ जेल से गाजियाबाद के एक मामले में पेश करने के लिए लाया गया था। इसके बाद उसे को मेरठ स्थित मुकुट महल होटल में रोका गया। यहां से वह फरार हो गया। उसकी सुरक्षा में तैनात दरोगा देशराज त्यागी, संतोष कुमार, सुनील कुमार, राजकुमार, ओमवीर, भूपेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया था। मददगार बने ऐतशाम इलाही, डिपिन सूरी, जीत सिंह मक्कड़, सोनू सहगल, जवाहर लाल, शिशुपाल उर्फ बंटी एवं पपीत बड़ला समेत 13 आरोपितों को पुलिस जेल भेज चुकी है। बताया जा रहा है कि एक जमानतदार भी पुलिस की हिरासत में है।

बदन सिंह से जुड़े 23 लोगों के शस्त्र लाइसेंस होगे निरस्त

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि बदन सिंह बद्दो से जुड़े हर शख्स पर पुलिस कार्रवाई की तैयारी कर रही है। पुराने मामलों में बदन सिंह की मदद करने वाले 23 लोगों को चिह्नित किया गया है। इसमें जमानत देने वाले हैं तो कुछ उसके करीबी हैं। पुलिस ने इन सभी के शस्त्र लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी है। पुराने मामलों में भी बद्दो की मदद करने वालों पर कार्रवाई होगी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.