मंत्रीजी ने सुनी बाढ़ पीड़ितों की पीड़ा, मदद-मुआवजे का वादा

गंगा नदी में आई बेमौसम बाढ़ ने खादर क्षेत्र मे तबाही मचा दी। जिससे किसानों की आíथक स्थिति दयनीय हो गई है। रविवार को जलशक्ति एवं बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने क्षेत्र के लोगों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

JagranMon, 25 Oct 2021 02:13 AM (IST)
मंत्रीजी ने सुनी बाढ़ पीड़ितों की पीड़ा, मदद-मुआवजे का वादा

मेरठ, जेएनएन। गंगा नदी में आई बेमौसम बाढ़ ने खादर क्षेत्र मे तबाही मचा दी। जिससे किसानों की आíथक स्थिति दयनीय हो गई है। रविवार को जलशक्ति एवं बाढ़ नियंत्रण राज्यमंत्री दिनेश खटीक ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। उन्होंने क्षेत्र के लोगों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। राज्यमंत्री ने बाढ़ प्रभावित लोगों को विश्वास दिलाया कि खेतों से पानी उतरने के बाद तहसील प्रशासन द्वारा बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का सर्वे कराया जाएगा और प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति को उचित मुआवजा दिलाया जाएगा।

गंगा नदी पुल की टूटी हुई एप्रोच रोड का राज्यमंत्री ने निरीक्षण किया व ग्रामीणों से संवाद किया। ग्रामीणों ने कहा कि सड़क को जल्द दुरुस्त कराया जाए व कई स्थानों पर बड़ी पुलिया बनवाई जाएं। जिससे बाढ़ का पानी सुगमता से आगे बढ़ सके। ग्रामीणों की इस मांग पर मंत्री ने सड़क की मरम्मत कराने को पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को जल्द सड़क दुरुस्त कराने के निर्देश दिए। तत्काल राहत के लिए उन्होंने एसडीएम मवाना कमलेश कुमार गोयल को नाव की व्यवस्था कराने के लिए कहा। जिससे भीकुंड गांव के लोगों का आवागमन सुगम हो सके। ग्रामीणों ने पशुओं के खुरपका बीमारी होने की भी शिकायत की, जिस पर उन्होंने सोमवार से ही पशुओं के खुरपका-मुंहपका के टीकाकरण के लिए पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया। इस दौरान सिचाई विभाग के अधीक्षण अभियंता उपेंद्र नाथ कुंवर, अधिशासी अभियंता प्रमोद कुमार, सहायक अभियंता एनपीएस मथुरिया, जागेश कुमार, सत्यवीर सिंह, संजय शर्मा, ब्लाक प्रमुख नितिन पोसवाल, प्रधान रणवीर सिंह आदि मौजूद रहे।

खादर क्षेत्र का रक्षा कवच बनेगा 11 किमी का तटबंध

राज्यमंत्री ने लतीफपुर गांव स्थित गुरुद्वारा साहिब में मत्था टेका। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि उन्होंने हस्तिनापुर में रिकार्ड विकास कार्य कराए हैं। लगभग बीस करोड़ की लागत से दो कटाव निरोधक का निर्माण हो चुका है, जिसकी उपयोगिता इस बाढ़ में दिखाई दी है। जबकि गंगा नदी के किनारे 11 किमी के स्थायी तटबंध की 49 करोड़ रुपये की परियोजना भी लगभग स्वीकृत हो चुकी है। इसके लिए 29 अक्टूबर को बैठक आयोजित की जाएगी। राज्यमंत्री ने की बुलेट की सवारी

राज्यमंत्री का काफिला सड़क क्षतिग्रस्त होने के कारण भीकुंड तिराहे पर ही रुक गया। इसके बाद मंत्री बुलेट पर सवार होकर सुरक्षाकर्मी को साथ लेकर बाढ़ पीड़ितों से मिलने के लिए पहुंचे। अधिकारी भी बाइकों पर सवार होकर भीकुंड मोड़ तक पहुंचे। जहां उन्होंने बाढ़ पीड़ितों का हाल जाना व क्षतिग्रस्त एप्रोच रोड का भी निरीक्षण किया।

कछुआ मिला, गंगा में छोड़ा

जब मंत्री का काफिला सिरजेपुर, रठौरा कलां से होता हुआ फतेहपुर प्रेम की ओर जा रहा था तो रास्ते में एक कछुआ सड़क पार करता हुआ दिखाई दिया। भाजपा कार्यकर्ता सोमनाथ पपनेजा ने उसे उठा लिया और फतेहपुर प्रेम गंगा किनारे राज्यमंत्री ने गंगा में कछुए को छोड़ दिया।

क्षतिग्रस्त सड़कें दे रहीं हादसे को न्योता

गंगा नदी की बाढ़ ने खादर क्षेत्र की सड़कों को तबाह कर दिया है। जिससे लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी हो रही है। पानी के वेग से सड़क की रोड़ी-बजरी भी बहकर खेतों में पहुंच गई है। अब क्षतिग्रस्त सड़के हादसे को न्योता दे रही हैं।

लतीफपुर के ग्रामीणों को मिली सड़क

गांव लतीफपुर में राज्यमंत्री ने लगभग 18 लाख की लागत से बनी नवनिíमत टाइल्स रोड का उद्घाटन किया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.