मेरठ के पैरालिफ्टर सचिन ने विश्‍व चैंपियनशिप में जीता पदक, कामनवेल्थ और एशियन गेम्स का टिकट भी किया पक्का

मेरठ के कंकरखेड़ा निवासी सचिन चौधरी पहले भी कई पदक जीत चुके हैं। वर्ष 2018 में उन्होंने आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में 181 किलोग्राम वजन उठाकर कांस्य पदक जीता था। वर्ष 2019 में 210 किलोग्राम वजन उठाकर नेशनल रिकार्ड भी बनाया था।

Parveen VashishtaPublish:Mon, 06 Dec 2021 06:10 AM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 06:10 AM (IST)
मेरठ के पैरालिफ्टर सचिन ने विश्‍व चैंपियनशिप में जीता पदक, कामनवेल्थ और एशियन गेम्स का टिकट भी किया पक्का
मेरठ के पैरालिफ्टर सचिन ने विश्‍व चैंपियनशिप में जीता पदक, कामनवेल्थ और एशियन गेम्स का टिकट भी किया पक्का

मेरठ, जागरण संवाददाता। पैरा लिफ्टर सचिन चौधरी ने जार्जिया में विश्‍व चैंपियनशिप में पदक जीता है। सचिन ने 202 किलो भार वर्ग में हिस्सा लिया। भारोत्‍तोलन की इस चैंपियनशिप के साथ उन्होंने आगे होने वाले कामनवेल्थ और एशियन गेम्स का टिकट भी पक्का कर लिया है।

पहले भी जीत चुके हैं कई पदक

पोलियोग्रस्त सचिन चौधरी इससे पहले भी कई पदक जीत चुके हैं। वर्ष 2018 में उन्होंने आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में 181 किलोग्राम वजन उठाकर कांस्य पदक जीता था। कंकरखेड़ा के रहने वाले सचिन चौधरी ने वर्ष 2019 में नेशनल पैरा पावर लिफिटिंग चैंपियनशिप में 210 किलोग्राम वजन उठाकर नेशनल रिकार्ड भी बनाया था। जिसमें उन्होंने अपना ही रिकार्ड तोड़ा था। सचिन चौधरी अभी तक अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में 20 से अधिक पदक जीत चुके हैं। उनका अगला लक्ष्य कामनेवल्थ गेम में गोल्ड जीतने का है।

आधुनिक शूटिंग सिस्टम पर खिलाड़ी साधेंगे निशाना

मेरठ, जागरण संवाददाता। दिल्ली रोड स्थित गुरु तेग बहादुर पब्लिक स्कूल परिसर में रुद्रा शूटिंग एकेडमी में कंप्यूटराइज टारगेट शूटिंग सिस्टम का उद्घाटन किया गया। रेंज पर खिलाडिय़ों को आधुनिक सुविधा मिलेगी। शूटिंग सिस्टम का कोतवाली के सीओ अरविंद चौरसिया, हिंदू युवा वाहिनी महानगर अध्यक्ष अंकित शर्मा, रेल और खेल मंत्रालय सदस्य अंकित चौधरी ने संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। शूटिंग रेंज के निदेशक आदित्य शर्मा ने बताया कि इस रेंज से खिलाडिय़ों को किसी शहर में जाने की जरूरत नहीं होगी। वह अपने शहर में प्रैक्टिस कर सकेंगे। अनुराग भल्ला, अश्वनी कौशिक, प्रशांत कौशिक के अलावा दक्ष यादव, आकाश, वरुण, प्रियांशा, शेफाली, आरुषि आदि का सहयोग रहा।