Meerut Weather Update: पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में लगातार गर्म हो रहा मौसम, तापमान 31 डिग्री के पार

पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में बढ़ रहा तापमान।

सुबह से निकली धूप लोगों को जहां ठंड के एहसास से वंचित कर रही है वहीं दिन में निकली कड़ी धूप तापमान की गर्मी बढ़ा रही है। मेरठ के साथ ही पश्चिमी यूपी के जिलों- बागपत बुलंदशहर बिजनौर मुजफ्फरनगर सहारनपुर व शामली में मौसम अब गर्म होने लगा है।

Himanshu DwivediFri, 26 Feb 2021 11:48 AM (IST)

मेरठ, जेएनएन। पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में ठंड के बाद अब गर्म सताने वाली है। तापमान में हो रही लगातार बढ़ोत्‍तरी के अब गर्मी का एहसास कराने लगी है। सुबह के समय भी तापमान में ठंड का एहसास लगभग खत्‍म हो गया है। सूर्य का उदय भी अब जल्‍द ही होने लगा है। सुबह से निकल रही धूप लोगों को जहां ठंड मौसम के एहसास से वंचित कर रही है वहीं दिन में निकल रही कड़ी धूप तापमान की गर्मी बढ़ा रही है। मेरठ के साथ ही पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के जिलों- बागपत, बुलंदशहर, बिजनौर, मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के अलावा शामली में मौसम अब गर्म होने लगा है। हालाकि बागपत और सहारनपुर में मौसम में थोड़ी गिरावट है।

लगभग एक हफ्ते से बदलते तापमान ने गर्म मौसम का एहसास कराना अभी से जारी कर दिया है। सुबह करीब 7 बजे सूर्योदय हो जा रहा है, जो शाम के सात बजे से अधिक समय में अस्‍त हो रहा है। इस दौरान सूर्य की तेज से लोग काफी परेशान हैं। मौसम विभाग का कहना है कि मौसम का अचानक से बदलना इस साल ज्‍यादा गर्मी बढ़ने के संकेत है। मेरठ में रात का तापमान 13 डिग्री न्‍यूनतम दर्ज किया गया वही अधिकतम 31.5 रहा। बागपत, सहारनपुर और आसपास के जिलों में भी अधिकतम तापमान 31 डिग्री के पार रहा।

बीमार होने का खतरा

डाक्‍टरों का मानना है कि ऐसे समय में अगर शरीर का ठीक से ध्‍यान नहीं रखा गया तो बीमार पड़ने का ज्‍यादा खतरा है। मौसम में अचानक से बढ़ रही गर्मी कई तरह के बैक्‍ट्रीरिया के फैलने का संकेत दे सकते हैं। डाक्‍टरों का कहना है कि ऐसे समय में ठंडे पानी के सेवन से परहेज करें। साथ ही गर्म पानी का सेवन करें। इसके अलावा पंखे से भी अभी दूरी बनाकर रखें। डाक्‍टरों का मानना है कि ऐसे मौसम में स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यायाम पर विशेष तौर पर ध्‍यान दें। साथ में खान- पान भी सही रखें।

फसलों पर क्‍या पड़ेगा असर

मार्च के महीने में गेहूं के पकने का समय नजदीक आ जाता है। इस बीच में फरवरी के अंत में गर्मी आने और कड़ी धूप होने से उन गेंहू के फसलों पर नुकसानदायक प्रभाव पड़ेगा, जो पिछड़े हुए हैं। वहीं दलहन ओर तिलहन के फसल के लिए गर्मी का सकारात्‍मक प्रभाव पड़ेगा।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.