Meerut Weather Update: मौसम ने बदली करवट, सहारनपुर और मुजफ्फरनगर में झमाझम बारिश से ठंड की दस्‍तक

सहारनपुुुर और मुजफ्फरनगर में हुई झमाझम बारिश।
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:19 PM (IST) Author: Prem Bhatt

मेरठ, जेएनएन। देर रात सहारनपुर में झमाझम बारिश से मौसम सुहावना हो गया। वहीं बढ़ती जा रही गर्मी से भी राहत मिली। साथ ही मुजफ्फरनगर में भी चमचमाती आसमानी बिजली के साथ बारिश शुरू हो गई। इस बारिश के बाद से मौसम में ठंड का एहसास होने लगा। एक दिन पूर्व भी मुजफ्फरनगर में हुई बारिश ने गर्मी से राहत दी थी।

मेरठ समेत सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, शामली, बागपत और बुलंदशहर में गर्मी ने लोगों को काफी परेशान किया है। कड़ी धूप से मेरठ समेत आसपास के जिलों में लोग परेशान हैं। वहीं सहारनपुर के देवबंद में हुई झमाझ बारिश से वहां की सड़के लबालब हो गई। आसपास के लोगों को आने-जाने में काफी समस्‍या उठानी पड़ी। मेरठ में पिछले कई दिनों से बारिश नहीं होने से गर्मी के साथ-साथ अन्‍य समस्‍या भी आई है। यहां का तापमान भी काफी बढ़ गया है। पिछले साल की तुलना करें तो इस साल मेरठ में बारिश का घनत्‍व भी कम रहा है। 

गन्‍ने की फसल पर बारिश का असर 

आमलोगों के साथ-साथ किसान भी परेशान है। पर्याप्‍त बारिश नहीं होने से फसलों को खास लाभ नहीं मिल पाया है। खासकर के गन्‍ने की फसल को, जो पर्याप्‍त बारिश नहीं होने से फसल के विकास में कमी आई है। किसान रामकरण कहते हैं कि इस महीने में बारिश से हर साल गन्‍ने की फसल में तेजी से बढ़ोत्‍तरी होती थी। इससे गन्‍ने की फसल हरी-भरी रहती थी, पर इस साल कम बारिश होने से गन्‍ने की फसल को खास लाभ नहीं हुआ है।

बुलंदशहर में एक दिन पहले हुई थी बारिश

बुलंदशहर जिले में बुधवार की सुबह हल्‍की-फुल्‍की बारिश हुई थी। इस कारण वहां के लोगों को गर्मी से थोड़े समय के लिए राहत मिला था। कुछ समय बाद कड़ी धूप ने गर्मी को बढ़ा दिया और उमस भरी गर्मी होने लगी।

मेरठ को बारिश का इंतजार

मेरठ में बारिश होने का इंतजार आमजन से लेकर किसान तक सभी को है। यहां पर सुबह से हो रही कड़ाके की धूप ने गर्मी से लोगों को परेशन करती है। आज की बात करें तो मेरठ में आज 24 से लेकर 34 डीग्री तापमान रहा। वहीं बीच में हल्‍की- हल्‍की हवा भी चलती रही। साथ में आसमान में हल्‍के बादल भी छाए रहे।  

सहारनपुर में सुबह की बारिश में सड़के लबालब 

बुधवार अलसुबह और देर रात बारिश होने से देवबंद-मकबरा मार्ग पानी निकासी न होने के चलते तालाब बन गया है और इस मार्ग से गुजरना दुश्वार हो गया है। वहीं रेलवे रोड स्थित बिजलीघर कार्यालय परिसर में भी पानी लबालब भरा है। इससे बिल जमा या अन्य कार्यों से विद्युत कार्यालय आने वाले लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। इतना ही नहीं अंबेहटा मार्ग से शुगर मिल के रास्ते नूरपुर जाने वाले मार्ग पर कीचड़ का साम्राज्य स्थापित हो गया है।

ग्रामीणों को कई किमी. लंबे रास्ते से होकर गांव नुरपुर, इमलिया, रणखंडी और गुनारसा, गुनारसी सहित अन्य गांवों में जाना पड़ रहा है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि उक्त मार्ग को न तो शुगर मिल बनवा रहा है न ही पीडब्लूडी विभाग। जिसकी सजा क्षेत्र के लोगों को भुगतनी पड़ रही है। उधर, त्रिवेणी शुगर मिल के लैब प्रभारी सुभाष वर्मा ने बताया कि पिछले 24 घंटों में 50 एमएम बारिश होने से रात का ताममान दो डिग्री लुढ़का है। बताया कि अगले दो दिन भी बारिश होने की संभावना बनी हुई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.