मेरठ : पड़ोसी सीमेंट व्यापारी को फंसाने के लिए खुद ही लिखी अपहरण की पटकथा, पुलिस ने ऐसे किया बरामद

कंकरखेडा के विशाल को पुलिस ने आखिरकार चंडीगढ़ से खोज निकाला। पड़ोसी बिल्डिंग मटेरियल के व्यापारी पवन सोम को फंसाने के लिए विशाल ने खुद के अपहरण होने की पटकथा तैयार की थी। पुलिस अब विशाल के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

Prem Dutt BhattSat, 18 Sep 2021 04:00 PM (IST)
कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर के नेतृत्व में टीम ने लापता सीमेंट व्यापारी विशाल को चंडीगढ़ से बरामद किया।

मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ के कंकरखेड़ा की खिर्वा रोड से बीती 14 सितंबर को लापता हुए सीमेंट व्यापारी को पुलिस की चार टीमों ने शुक्रवार की रात को चंडीगढ़ सेक्टर-21 से बरामद किया है। विशाल उर्फ सागर ने खिर्वा रोड के अपने पड़ोसी बिल्डिंग मटेरियल के व्यापारी पवन सोम को फंसाने के लिए खुद के अपहरण होने की पटकथा तैयार की थी। पवन का व्यापार काफी बड़े स्तर पर चल रहा था, जिस वजह से विशाल उससे ईर्ष्या रखा था। साथ ही 13 सितंबर को विशाल का पवन से हुए झगड़े का बदल लेने के लिए उसको फसाने की योजना बनाई थी।

नौकर को लेकर हुई थी कहासुनी

कंकरखेड़ा की खिर्वा रोड पर विशाल उर्फ सागर की बिल्डिंग मटेरियल की दुकान है। इसी दुकान के बराबर में सरधना के खेड़ा गांव निवासी पवन सोम की भी बिल्डिंग मटेरियल की दुकान है। पवन सोम ककरखेड़ा में रहते हैं। 13 सितंबर की शाम को पवन और विशाल के बीच नौकर पीटने को लेकर कहासुनी हुई थी। 14 सितंबर को पवन रहस्यमई तरीके से लापता हो गया था। विशाल के बहनोई ने कंकरखेड़ा थाने में पवन सोम समेत उसके बेटे व एक अज्ञात के खिलाफ अपहरण करने का मुकदमा दर्ज कराया था।

पुलिस की चार टीमें बनाई गई

विशाल के स्वजनों ने थाने पर हंगामा कर उसकी बरामदगी की मांग भी की थी। जिसके बाद एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी ने कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर के नेतृत्व में चार टीमें बनाई, जिसमें साइबर सेल, एसओजी, क्राइम ब्रांच और थाने की टीम शामिल थी। चारों टीमों ने कंकरखेड़ा से सकौती तक 150 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। जिसमें 30 फुटेज में विशाल बाइक पर अकेले जाता हुआ कैद था। इसी से यह तय हो चुका था कि विशाल का अपहरण नहीं हुआ है।

यह पर मिली लोकेशन

मगर उसे बरामद करना भी पुलिस के लिए चुनौती थी। इस दौरान विशाल के मोबाइल की लोकेशन चंडीगढ़ सेक्टर-21 की मिली। जिस पर पुलिस टीमें चंडीगढ़ रवाना हो गई। शुक्रवार की रात रोडवेज स्टैंड के पास एक सरकारी लाज के एसी कमरे से पुलिस टीम ने विशाल को बरामद कर लिया। पूछताछ में विशाल ने पवन सोम से ईर्ष्या रखने व कहासुनी का बदला लेने के लिए खुद के द्वारा तैयार की गई अपहरण की पटकथा सुनाई।

28 हजार रुपये लेकर निकला था, बाइक सकोती के जंगल में छोडी

इंस्पेक्टर ने बताया कि विशाल उर्फ सागर 14 सितंबर को अपनी दुकान से 28 हजार रुपये लेकर बाइक से चला था। उसी दिन बाइक को विशाल ने सकौती के पास हाईवे किनारे खेत में छोड़ दी थी। उसके बाद रोडवेज बस में बैठकर दिल्ली पहुंचा। दिल्ली के आइएसबीटी बस स्टैंड से चंडीगढ़ के लिए बस पकड़ी। चंडीगढ़ सेक्टर-21 में रोडवेज स्टैंड के सामने सरकारी लाज में जाकर ठहर गया।

पुलिस विशाल पर करेगी मुकदमा दर्ज, जाएगा जेल

इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि विशाल के अपहरण का मुकदमा पहले से दर्ज है। जबकि विशाल ने अपने अपहरण की कहानी को खुद ही तैयार कर लापता हो गया था। विशाल को बरामद कर लिया गया है। उससे पूछता चल रही है। पहले से दर्ज मुकदमे में विशाल पर अपहरण का षड्यंत्र रचने की धारा को तरमीम कर जेल भेजा जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.