मेरठ: तेजाब पीड़िता के जख्म कुरेद रहा पुलिस का शर्मनाक रवैया, न्‍याय के लिए दर-दर भटक रही महिला

महिला अपराधों के खिलाफ प्रदेश सरकार भले ही सख्त हो लेकिन पुलिस कतई गंभीर नहीं दिखती। शायद इसीलिए एक माह बाद भी एसिड अटैक पीड़िता न्याय के लिए दर-दर भटक रही है। हापुड़ पुलिस न्याय दिलाने के बजाय पीड़िता को लालच देकर केस वापस लेने का दबाव बना रही है।

Himanshu DwivediWed, 04 Aug 2021 09:01 AM (IST)
न्‍याय के लिए दर-दर भटक रही है दुष्‍कर्म पीड़‍िता ।

जागरण संवाददाता, मेरठ। महिला अपराधों के खिलाफ प्रदेश सरकार भले ही सख्त हो, लेकिन पुलिस कतई गंभीर नहीं दिखती। शायद इसीलिए एक माह बाद भी एसिड अटैक पीड़िता न्याय के लिए दर-दर भटक रही है। हापुड़ पुलिस न्याय दिलाने के बजाय पीड़िता को लालच देकर केस वापस लेने का दबाव बना रही है। हापुड़ से दुत्कार मिलने के बाद पीड़िता मंगलवार को मेरठ में एडीजी जोन राजीव सभरवाल व कमिश्नर सुरेंद्र सिंह से मिली और न्याय की गुहार लगाई। दोनों अधिकारियों ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

हापुड़ जिले पिलखुवा थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी महिला के मुताबिक कुछ दिन पहले बच्चों के विवाद में पड़ोसियों से झगड़ा हो गया था। उसके बाद विपक्षी महिला व उसके परिवार वालों से रंजिश रखने लगे। बीती दो जुलाई को तड़के वह घर में ही शौच के लिए गई थी। उसी समय पड़ोसी नईम, आरिफ, उस्मान, फरमान व सदाकत ने उस पर एसिड उड़ेल दिया। दोबारा भी एसिड से हमला किया। बुरी तरह झुलसी हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से गंभीर हालत में दिल्ली रेफर कर दिया। एक संस्था की सहायता से एक माह से वह दिल्ली में उपचाराधीन थी। कुछ दिन पहले डिस्चार्ज होकर घर पहुंची थी। उसका कहना है पुलिस ने किसी तरह आरोपित के विरुद्ध मुकदमा तो दर्ज कर लिया। लेकिन गिरफ्तार नहीं कर रही है। आरोपित समझौते का दबाव बना रहा है।

कार्रवाई के बजाय नए घर और एसी का लालच दे रही पुलिस

एसिड अटैक पीड़िता के चेहरे के जख्म देखकर किसी का भी दिल रो पड़ेगा लेकिन हापुड़ पुलिस को उसकी पीड़ा नहीं दिख रही। पीड़िता का आरोप है कि बयान बदलवाने के लिए हापुड़ पुलिस उसे नया घर व एसी लगवाने का लालच दे रही है। महिला के चेहरे और आंख पर एसिड से जख्म हैं।

न्‍याय के लिए दर-दर भटक रही महिला

दुष्कर्म पीड़िता न्याय के लिए थाने से लेकर अधिकारियों के आफिस तक चक्कर काट रही है, लेकिन उसकी सुनने वाला कोई नहीं है। मंगलवार को पीड़िता फिर न्याय की आस लेकर पुलिस आफिस पहुंची। सिविल लाइन थाना क्षेत्र निवासी ईसाई समाज की युवती घरों में काम करती है। करीब दो साल पहले महिला मित्र ने युवती की दोस्ती अब्दुल्लापुर निवासी दूसरे संप्रदाय के युवक से कराई थी। आरोप है कि शादी का झांसा देकर आरोपित ने पीड़िता से करीब डेढ़ साल तक शारीरिक संबंध बनाये। कुछ समय पहले युवती ने शादी का दबाव बनाया तो उसने मतांतरण की शर्त रखी। इंकार करने पर आरोपित ने शादी से मना कर दिया और दुष्कर्म की वीडियो वायरल करने की धमकी दी। करीब एक महीने से पीड़िता सिविल लाइन, भावनपुर व एसएसपी कार्यालय के चक्कर काट रही है। जनसुनवाई अधिकारी सीओ कोतवाली ने सिविल लाइन प्रभारी को कार्रवाई के निर्देश दिए है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.