Meerut Farmers Protest: पुलिस की बेरिकेडिंग हटा धक्का मुक्की करते टिकैत पहुंचे सिवाया टोल, सुबह करेंगे दिल्ली कूच

मेरठ में पुलिस की बेरिकेडिंग हटा धक्का मुक्की करते हुए राकेश टिकैत पहुंचे सिवाया टोल प्लाजा।

Meerut Farmers Protest कृषि कानून और हरियाणा-पंजाब के किसानों पर लाठीचार्ज का विरोध मेरठ में पुलिस की बेरिकेडिंग हटा धक्का मुक्की करते हुए टिकैत पहुंचे सिवाया टोल प्लाजा। मेरठ में सिवाया टोल की चार लेन पर भाकियू का कब्जा रात यहीं रुकेंगे।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 08:59 PM (IST) Author: Taruna Tayal

मेरठ, जेएनएन। कृषि कानून व हरियाणा-पंजाब के किसानों पर दिल्ली कूच के दौरान हुए लाठीचार्ज के विरोध में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) ने शुक्रवार को मेरठ व मुजफ्फरनगर समेत आसपास के जिलों के राजमार्गों पर जाम लगाकर धरना दिया। इस दौरान आने-जाने लोगों को खूब परेशानी हुई। आम लोगों के साथ ही बरात के वाहन भी जाम में फंस गए। दोपहर दो बजे मुजफ्फरनगर में भाकियू के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने दिल्ली कूच का ऐलान कर दिया। मुजफ्फरनगर बार्डर पर पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया, लेकिन कार्यकर्ता पुलिस से धक्का-मुक्की करते हुए आगे बढ़ गए। मेरठ में सिवाया टोल प्लाजा पर रात्रि विश्राम के बाद किसान शनिवार सुबह दिल्ली रवाना होंगे। सुबह 11 बजे शुरू हुआ जाम दोपहर दो से तीन बजे के बीच में खत्म कर दिया गया।

मुजफ्फरनगर में भाकियू ने दिल्ली-दून राजमार्ग पर जाम लगाया। यहां पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कृषि कानून को किसान विरोधी बताया। सुबह 11 से दोपहर दो बजे तक जाम रहा। यहां से टिकैत ने दिल्ली कूच का ऐलान किया। इसके बाद कार्यकर्ताओं के साथ राकेश टिकैत ट्रैक्टर पर सवार होकर दिल्ली के लिए चल दिए। भंगेला चेकपोस्ट पर पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया लेकिन कार्यकर्ता बेरिकेडिंग को हटा पुलिस से धक्का-मुक्की करते हुए आगे बढ़ गए। टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के साथ अन्याय कर रही है। हम हरियाणा और पंजाब के किसानों के साथ हैं। जाम के दौरान सिर्फ एंबुलेंस को ही निकलने दिया गया।

मेरठ में भाकियू द्वारा दिल्ली-दून राजमार्ग स्थित जटौली कट पर जाम लगाकर धरना दिया गया। यहां करीब चार घंटे तक जाम लगाया गया। कार्यकर्ताओं की जाम में फंसे लोगों से नोकझोंक भी हुई। दोपहर तीन बजे भाकियू कार्यकर्ताओं ने यहां से जाम खोल दिया और सिवाया टोल पहुंच गए। दिल्ली के लिए निकले राकेश टिकैत शाम करीब साढ़े पांच बजे मेरठ के सिवाया टोल पर पहुंचे। यहां सैकड़ों भाकियू कार्यकर्ता जमा हो गए हैं। मुजफ्फरनगर की ओर से आने वाली टोल की चार लेन पर भाकियू ने कब्जा कर लिया है। टिकैत ने बताया कि शनिवार सुबह नौ बजे वह कार्यकर्ताओं के साथ दिल्ली के लिए रवाना होंगे। रास्ते में अन्य जिलों के किसान उनसे जुड़ते जाएंगे।

भाकियू ने बागपत में यूपी-हरियाणा सीमा के निवाड़ा पुल पर जाम लगाकर धरना दिया। इससे मेरठ-रोहतक वाया बागपत हाईवे पर सैकड़ों वाहन फंसे रहे। किसानों ने कृषि कानून खत्म करने व गन्ना मूल्य 450 रुपये कुंतल करने की मांग की। यहां के किसान शनिवार को दिल्ली कूच करेंगे। इसी तरह शामली में मेरठ-करनाल मार्ग पर जाम लगाकर धरना दिया गया, बाद में किसान मेरठ रवाना हो गए। बुलंदशहर में भाकियू ने अलीगढ़-दिल्ली और अलीगढ़-मेरठ हाईवे पर चक्काजाम किया, टोल पर लेटकर धरना दिया। पुलिस ने कुछ स्थानों पर रूट डायवर्ट किया। सहारनपुर में किसानों ने दिल्ली-देहरादून हाईवे पर शेरपुर के पास चक्काजाम किया। प्रशासन ने रूट डायवर्जन कर कुछ हद तक स्थिति संभाली। बिजनौर में मेरठ-पौड़ी हाईवे पर बैराज कालोनी समेत कुछ अन्य स्थानों पर जाम लगाया गया। जाम के दौरान आपातकालीन सेवाओं को मुक्त रखा गया था। मौके पर तैनात पुलिस-पीएसी मूकदर्शक बनी रही।

जाम में फंसे दूल्हा-दुल्हन, आग्रह पर निकाला

भाकियू के चक्काजाम में चार दूल्हे व एक दुल्हन के साथ ही बराती फंस गए। जाम में फंसे दूल्हों में सोनीपत के गन्नौर निवासी विक्रम बरात लेकर बड़ौत, लुधियाना अंतर्गत शिवलापुरी निवासी सागर बरात लेकर गोविंदपुरी दिल्ली, सोनीपत के ग्राम अटेरना निवासी हरिओम बरात लेकर पिलखुवा व सोनीपत के ग्राम पबसरा निवासी सोनू अपनी बरात लेकर बागपत के ग्राम सिखेड़ा जा रहे थे। सभी जाम में फंस गए। दूल्हों ने खुद आगे आकर भाकियू नेताओं से आग्रह किया। इसके बाद उनकी गाडि?ों को जाम से निकलवाया गया। एक दूल्हे को तो कुछ देर तक धरने पर ही बैठा लिया गया। शामली से हरियाणा के बहालगढ़ जा रही एक दुल्हन भी जाम में फंस गई। आग्रह पर उसकी गाड़ी भी निकाल दी गई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.