दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Black Fungus: मेरठ में बढ़ा ब्लैक फंगस का खतरा, मेडिकल कालेज में पांच नए मरीज मिले, दो की हालत गंभीर

मेरठ में ब्‍लैक फंगस के पांच नए मामले मिले हैं।

मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के तीन मरीज मिले हैं जिसमें एक को नई दिल्ली रेफर कर दिया गया। इधर न्यूटिमा में भी ब्लैक फंगस के दो नए मरीज मिले हैं जिनमें एक को गुड़गांव रेफर कर दिया गया है। पूर्व में भर्ती दोनों की स्थिति भी गंभीर है।

Himanshu DwivediFri, 14 May 2021 09:44 AM (IST)

मेरठ, जेएनएन। Black Fungus In Meerut: कोरोना के साथ ही ब्लैक फंगस ने डराना शुरू कर दिया है। मेडिकल कालेज में ब्लैक फंगस के तीन मरीज मिले हैं, जिसमें एक को नई दिल्ली रेफर कर दिया गया। प्राचार्य ने प्रदेश सरकार को मरीजों की रिपोर्ट भेज दी है। इधर, न्यूटिमा में भी ब्लैक फंगस के दो नए मरीज मिले हैं जिनमें एक को गुड़गांव रेफर कर दिया गया है। पूर्व में भर्ती दोनों की स्थिति भी गंभीर है। इसके साथ ही मेरठ में ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या सात तक पहुंच गई है। उधर, इलाज में प्रयोग की जाने वाली दवा बाजार में न होने से मरीजों की जान पर खतरा बन गया है।

प्रचार्य डा. ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि गाजियाबाद निवासी 38 साल का मरीज 11 मई को दोपहर साढ़े तीन बजे मेडिकल पहुंचा। तेज बुखार के साथ ही आंख व चेहरे पर सूजन थी। कोविड की स्थिति में मरीज आठ दिनों से स्टेरायड ले रहा था। मरीज की दस मई को एमआारआइ जांच कराई गई थी, जिसमें ब्लैक फंगस के लक्षण मिले। ब्लड शुगर 388 तक पहुंची हुई थी। ईएनटी डाक्टरों ने मरीज को देखा, और एम्फोटेरिसिन बी इंजेक्शन लगाने के लिए कहा। यह इंजेक्शन उपलब्ध नहीं है। नेत्र रोग विशेषज्ञों ने भी मरीज की जांच कर न्यूरोसर्जरी की आशंका जताई है। म्यूकरमाइकोसिस नामक बीमारी एक और कोविड मरीज में मिली है। मेरठ निवासी 38 साल के कोविड मरीज में भी ब्लैक फंगस लक्षण मिलने पर जांच की गई और बीमारी की पुष्टि हुई। किडनी ट्रांसप्लांट का यह मरीज 10 मई को मेडिकल पहुंचा था। एमआरआइ समेत कई अन्य जाचें कराई गईं, जिसमें ब्लैक फंगस का पता चला। डाक्टर लोकेश ने बताया कि स्वजन ने मरीज को नई दिल्ली के लिए रेफर करवा लिया। एंटी फंगल के तौर प्रयोग किया जाने वाला इंजेक्शन दिन में चार बार लगाना पड़ता है, जिसकी कीमत करीब 28 हजार रुपये पड़ती है।

उधर, नान कोविड इमरजेंसी में भर्ती एक मरीज में ब्लैक फंगस मिला है। डाक्टरों ने बताया कि इस मरीज को गत दिनों कोरोना हुआ था, जिसके बाद अब फंगल इंन्फेक्शन हो गया। सभी मरीजों में साइनस में सूजन और आंख में मांस बढ़ा मिला है। उधर, न्यूटिमा में भर्ती दो मरीजों की तबीयत गंभीर बनी हुई है। डा. संदीप गर्ग ने बताया कि इन दोनों के अलावा दो और ब्लैक फंगस के मरीज भर्ती हुए। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.