लिसाड़ी गेट में 17 कुंतल गोवंशी का मांस बरामद

सूचना पर पुलिस ने छापा मारकर दो गोदाम से 17 कुंतल गोवंशीय मांस बरामद किया। इस दौरान अवशेष भी मिले। हालांकि आरोपित पुलिस के हाथ नहीं आए।

JagranPublish:Fri, 03 Dec 2021 03:48 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 03:48 AM (IST)
लिसाड़ी गेट में 17 कुंतल गोवंशी का मांस बरामद
लिसाड़ी गेट में 17 कुंतल गोवंशी का मांस बरामद

मेरठ, जेएनएन। सूचना पर पुलिस ने छापा मारकर दो गोदाम से 17 कुंतल गोवंशीय मांस बरामद किया। इस दौरान अवशेष भी मिले। हालांकि आरोपित पुलिस के हाथ नहीं आए। मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

सीओ अरविद चौरसिया ने बताया कि सरताज निवासी श्याम नगर, रहीस निवासी फिरोज नगर और नसीम-आदिल निवासी तारापुरी की आरा मशीन वाली गली में मीट की दुकान-गोदाम हैं। सूचना मिली कि कहीं और कटान कर दुकान पर गोवंशी का मांस बेचा जा रहा है। सूचना पर गुरुवार सुबह पुलिस टीम ने छापामार कार्रवाई की। इस दौरान सरताज और रहीस के गोदाम से 17 कुंतल गोवंशीय मांस बरामद बरामद हुआ। साथ ही काफी अवशेष भी बरामद हुए। कार्रवाई के दौरान आरोपित हाथ नहीं आए। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। वहीं, पुलिस कार्रवाई का आसपास के लोगों ने विरोध भी किया था। इस दौरान कई अन्य दुकानदार अपने-अपने शटर गिराकर इधर-उधर हो गए थे।

दो दिन पहले मिली थी खाल

सीओ ने बताया कि दो दिन पहले मजीदनगर में गोवंशीय की खाल बरामद हुई थी। तभी से पुलिस मामले की जांच में जुटी थी। उसी क्रम में तारापुरी आरा मशीन वाली गली में मांस की सूचना मिली थी। अब पता लगाया जा रहा है कि कटान कहां हो रहा है और उसकी सप्लाई कहां-कहां है। वहीं, चर्चा है कि लिसाड़ी गेट क्षेत्र में कई दुकानों पर गोवंशीय मीट बेचा जा रहा है।

गोकुशी का आरोपित पकड़ा

कुछ दिनों पहले श्याम नगर में भी पुलिस ने गोकुशी पकड़ी थी। इस दोरान खुशहाल कालोनी निवासी शादाब के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था, तभी से वह फरार चल रहा था। हालांकि इस मामले में पुलिस पहले ही तीन आरोपितों को जेल भेज चुकी है। गुरुवार को पुलिस ने शादाब को भी दबोच लिया। उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।