सहारनपुर में प्रेमी युगल ने खाया जहर, किशोरी की हुई मौत, इस कारण उठाया यह कदम

सहारनपुर पुलिस के अनुसार गुरुवार शाम किशोरी और उसका प्रेमी अंबाला रोड पर मिले। दोनों काफी देर तक बातचीत करते रहे। दोनों ने जहर निगल लिया। पुलिस ने दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। वहां किशोरी की मौत हो गई।

Parveen VashishtaThu, 25 Nov 2021 09:48 PM (IST)
सहारनपुर में प्रेमी युगल ने खाया जहर, किशोरी की हुई मौत

सहारनपुर, जागरण संवाददाता। कुतुबशेर थाना क्षेत्र में एक अनुसूचित जाति की किशोरी और दूसरे समुदाय के एक युवक ने जहरीला पदार्थ खा लिया। किशोरी की मौत हो गईं, जबकि युवक की हालत गंभीर बनी है। परिजन इनकी शादी नहीं करा रहे थे। इसी कारण दोनों ने जहर खाया है।

कुतुबशेर थाना प्रभारी पीयूष दीक्षित के मुताबिक थाना सरसावा क्षेत्र के एक गांव की अनुसूचित जाति की किशोरी का थाना नागल क्षेत्र के गांव नैनसोब निवासी सलमान पुत्र रिजवान से प्रेम संबंध था। स्वजन इन संबंधों के खिलाफ थे। गुरुवार की शाम किशोरी और उसका प्रेमी अंबाला रोड पर फायर बिग्रेड के पास मिले। दोनों काफी देर तक बातचीत करते रहे।दोनों ने जहर निगल लिया। पुलिस ने दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां किशोरी की मौत हो गई। प्रेमी की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। स्वजन भी जिला अस्पताल पहुंच गए थे।

थ्रेसिंग मशीन में आ जाने से युवक की मौत

सहारनपुर, जागरण संवाददाता। थ्रेसिंग मशीन में आ जाने से युवक की मौत हो गई।

ग्राम डूभर किशनपुरा में अजय कुमार पुत्र कुंवर पाल थ्रेसिंग मशीन चलाता था। गुरुवार शाम गांव के ही एक किसान की उड़द की फसल को निकाल रहा था। बताया गया कि इसी दौरान मशीन में कुछ कमी आ गई। जिसके चलते वह मशीन को ठीक ही कर रहा था कि अचानक वह मशीन की चपेट में आ गया। जिसके चलते उसके पैरों से लेकर पेट तक के सभी अंग कट गए। इसके बाद मशीन में वह बुरी तरह फंस गया। आनन-फानन में वहां मौजूद ग्रामीणों ने उसको मशीन से निकाल कर सहारनपुर अस्पताल लेकर गए, लेकिन रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। घटना से क्षेत्र में मातम पसर गया है।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.