लोकपाल ने की मनरेगा के कार्यो की समीक्षा, समस्‍याओं को जल्‍द निपटाने के भी निर्देश

मेरठ मंडल की लोकपाल अंशु त्यागी ने सोमवार को कार्यों की समीक्षा की।
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 04:00 AM (IST) Author:

मेरठ, जेएनएन। मेरठ मंडल की लोकपाल अंशु त्यागी ने बिजौली गांव पहुंचकर मनरेगा के कार्यों की समीक्षा की। साथ ही शिकायत मिलने पर सचिव को अंतिम चेतावनी दी और मजदूरों की समस्याओं को निपटाने के निर्देश दिए। सोमवार को मेरठ मंडल की मनरेगा की लोकपाल अंशु त्यागी बिजौली गांव पहुंची। उन्होंने ने मनरेगा के कार्यो की समीक्षा करने के बाद गांव के प्राथमिक स्कूल में पहुंचकर मजदूरों की शिकायत सुनीं। मजदूरों ने जाब कार्ड और खातों में पैसे न आने की शिकायत की।

उन्होंने ग्राम सचिव को अंतिम चेतावनी देकर मजूदरों की समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिये। ग्राम सचिव सुनील खारी ने बताया कि ओरिएंटल बैंक का मनरेगा में रजिस्ट्रेशन न होने पर जाब कार्ड नहीं बन पाये। आधार नंबर के कारण मजदूरों के रुपये खातों में नहीं पहुंच रहे है। अंशु त्यागी ने कहा कि मेरठ मंडल में काफी शिकायतें आ रही है। वे गांव-गांव पहुंचकर मजदूरों की शिकायत सुनकर उनका समाधान कर रही है।

डेढ़ साल से विवादों में घिरीं ईओ का तबादला

डेढ़ साल के कार्यकाल में ईओ अमिता वरुण विवादों में घिरी रहीं। एक ओर पालिका की जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों पर उन्होंने शिकंजा कसा तो शहर की सफाई व्यवस्था भी सुधारी। दूसरी ओर अपनी कार्यशैली को लेकर जनप्रतिनिधियों से उनका हमेशा छत्तीस का आंकड़ा रहा। सोमवार को उनका बुलंदशहर तबादला कर दिया गया। एक सप्ताह पूर्व प्रधान लिपिक विपिन शर्मा ने ईओ पर मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया था। दूसरी ओर अस्थाई पद पर तैनात अजय छाबड़ा की उपचार के दौरान मौत हो गई थी। स्वजनों ने भाजपा समर्थकों के साथ मिलकर प्रदर्शन कर ईओ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

कर्मचारी लगातार मानसिक रुप से परेशान करने के आरोप लगाते रहे। उधर, ईओ ने भी डीएम से मिलकर विधायक संगीत सोम पर मानसिक दबाव बनाकर उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इसके चलते सोमवार को ईओ अमिता वरुण का तबादला बुलंदशहर के जहांगीराबाद में कर दिया गया है। सोम सेना के नगर अध्यक्ष सचिन खटीक के नेतृत्व में सोमवार को दर्जनों कार्यकर्ताओं ने पालिका पहुंचकर काले झंडे दिखते हुए पद छोड़ो के नारे लगाए गए थे। अधिशासी अधिकारी से कई बार संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उन्होंने फोन ही रिसीव नहीं किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.