तीनों मेडिकल कालेजों को बनाया जाएगा कोविड अस्पताल

तीनों मेडिकल कालेजों को बनाया जाएगा कोविड अस्पताल

हालात भयावह हो रहे हैं। नए स्ट्रेन वाला वायरस कहर ढाने पर आमादा है।

JagranThu, 15 Apr 2021 02:45 AM (IST)

मेरठ, जेएनएन। हालात भयावह हो रहे हैं। नए स्ट्रेन वाला वायरस कहर ढाने पर आमादा है। स्वास्थ्य विभाग कोविड बेडों की संख्या दो हजार से बढ़ाकर पाच हजार तक करेगा। तीनों मेडिकल कालेजों को सरकार कोविड अस्पताल में बदलने की तैयारी में है। शासन भी जल्द सर्कुलर जारी कर सकता है। एनसीआर मेडिकल कालेज प्रबंधन ने स्वयं प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर कोविड अस्पताल बनाने की पहल की है। उधर, निजी अस्पतालों में आक्सीजनयुक्त बेडों के साथ ही वाईपैप, हाई फ्लो नेजल कैनुला एवं वेंटीलेटरों की संख्या बढ़ाने को कहा गया है।

मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज में 1060 बेड हैं, जिसमें एमसीआइ मानकों के मुताबिक संचालित 750 बेडों का अस्पताल है। ओपीडी सेवाएं बंद कर दी गई हैं। मेडिकल कालेज में फिलहाल 250 बेडों का कोविड वार्ड संचालित है। भर्ती मरीजों की संख्या 150 से ज्यादा हो गई है। ऐसे में अस्पताल के सभी बेडों को कोविड बेडों में बदला जाएगा। 20 से ज्यादा विभागों के तमाम वार्डो में मरीजों की भर्ती भी कम कर दी है। इन वार्डाें को कोविड मानकों पर तैयार किया जा रहा है। हापुड़ रोड स्थित एनसीआर मेडिकल कालेज के कोविड वार्ड प्रभारी डा. अश्विनी शर्मा ने बताया कि उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के जरिए प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर पूरे अस्पताल को डेडीकेटेड कोविड अस्पताल बनाने के लिए पत्र लिखा है। प्रदेश सरकार की नजर सुभारती मेडिकल कालेज पर भी है। 750 बेडयुक्त इस अस्पताल में 440 बेडों का कोविड वार्ड संचालित है। प्रदेश सरकार निजी मेडिकल कालेजों में भी आइसीयू कोविड बेडों की संख्या बढ़ाने का आदेश दे चुकी है। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि जिले में आक्सीजनयुक्त बेडों की कमी पड़ने लगी है। निजी अस्पतालों में 500 नए कोविड बेड बनाए जा रहे हैं।

जिले में 1967 कोविड बेडों की तस्वीर

संस्थान कोविड बेडों की संख्या

मेडिकल कालेज 250

सुभारती मेडिकल कालेज 440

एनसीआर मेडिकल कालेज 320

मिलिट्री अस्पताल 200

धन सिंह कोतवाल 200

आनंद अस्पताल 100

संतोष अस्पताल 100

श्रीराम आयुर्वेदिक कालेज 100

लोकप्रिय अस्पताल 70

केएमसी अस्पताल 50

न्यूटीमा 30

आइआइएमटी 30

कैलाशी 17

एसडीएस ग्लोबल 30

....... वेंटीलेटरों की संख्या

मेडिकल कालेज-65

सुभारती-20

एनसीआर मेडिकल कालेज-05

केएमसी अस्पताल-12

आनंद अस्पताल-02

--------------------- कोरोना संक्रमण ने इलाज की नई चुनौती खड़ी कर दी है। जरूरी हुआ तो सभी मेडिकल कालेजों को कोविड अस्पताल बनाया जाएगा। निजी अस्पतालों में आक्सीजनयुक्त बेड एवं वेंटीलेटरों की संख्या बढाई जा रही है। पाच हजार बेड बनाने का लक्ष्य है।

-डा. अखिलेश मोहन, सीएमओ मैं 100 बेडों का एल-3 अस्पताल बनाने के लिए शासन को पत्र भेज चुका हूं, जिसमें 20 वेंटीलेटरयुक्त बेड होंगे। इस मेडिकल इमरजेंसी में प्रशासन और समाज के साथ खड़ा होना जरूरी है। विशेषज्ञ चिकित्सकों की निगरानी में कोविड वार्ड चलेगा।

-डा. सुनील गुप्ता, सीएमडी, केएमसी अस्पताल एनसीआर मेडिकल कालेज ने डेडीकेटेड कोविड अस्पताल बनाने की पहल की है। अभी 320 बेडों का कोविड वार्ड है। नान कोविड वाले वार्डो को भी कोविड के लिए दिया जा रहा है। वर्तमान हालात में यह बेहद जरूरी है।

-डा. अश्विनी शर्मा, प्रभारी, कोविड वार्ड, एनसीआर मेडिकल कालेज

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.