पांच साल में चार पुरस्कार जीत चुके इस गांव का नाम चमकेगा अब राष्‍ट्रीय फलक पर, जानिए पंचायत की खूबियां

बागपत ब्लाक के ग्वालीखेड़ा पंचायत को मिलेगा राष्ट्रीय पुरस्कार

बागपत ब्लाक के ग्वालीखेड़ा को वर्ष 2020-2021 के पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत को सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार के तौर पर 24 अप्रैल को आठ लाख रुपये व सर्टिफिकेट मिलेगा। वर्ष 2018-2019 का मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार भी ग्वालीखेड़ा के नाम दर्ज है।

Taruna TayalFri, 23 Apr 2021 09:35 PM (IST)

बागपत, जेएनएन। पंचायती राज की बेहतरीन मिसाल पेश कर रही ग्वालीखेड़ा पंचायत शनिवार को राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजी जाएगी। यह पंचायत पांच साल में चार पुरस्कार अपने नाम कर चुकी है। राज्य सरकार इस गांव को मार्च में वर्ष 2020-2021 के लिए मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार में आठ लाख रुपये दे चुकी है।

बागपत ब्लाक के ग्वालीखेड़ा को वर्ष 2020-2021 के पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत को सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार के तौर पर 24 अप्रैल को आठ लाख रुपये व सर्टिफिकेट मिलेगा।

वर्ष 2018-2019 का मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार भी ग्वालीखेड़ा के नाम दर्ज है। गांव को खुले में शौच मुक्त होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्कालीन प्रधान दीपक शर्मा को प्रशस्ति-पत्र दिया था।

ये हैं गांव की खूबी

2400 की आबादी वाले ग्वालीखेड़ा गांव में ब्राह्मण, दलित, प्रजापति, रवा राजपूत और मुस्लिमों समेत कुल 357 परिवार हैं। साक्षरता दर 98 फीसद है। दो प्राथमिक स्कूल, दो इंटर कालेज और दो डिग्री कालेज हैं। ग्रामीण सूरज निकलने से पूर्व घरों के सामने सफाई करने के आदी हैं। गांव में कभी कोई हत्या नहीं हुई। अपवाद छोड़ दें तो ग्रामीण बिजली चोरी भी नहीं करते। गांव में 160 से ज्यादा आचार्य और शास्त्री हैं। किसानों के साथ नौकरीपेशा लोग भी हैं।

इसलिए मिले पुरस्कार

ग्वालीखेड़ा गांव में पंचायत घर, स्वच्छता को बढ़ावा देने को सामुदायिक शौचालय, जल प्रबंधन, ग्राम पंचायत समितियों की सभी छह समितियों की हर माह नियमित बैठकें कराने तथा सरकार से मिले बजट का सदुपयोग कर चहुंमुखी विकास करने पर पंडित दीनदायाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण राष्ट्रीय पुरस्कार मिलेगा। ग्रामीण देवेंद्र, सतेंद्र और पालेराम का कहना है कि वे बहुत खुश हैैं।

मीतली को भी मिलेगा पुरस्कार

जिला पंचायत राज अधिकारी कुमार अमरेंद्र ने बताया कि ग्वालीखेड़ा तथा मीतली गांव को शनिवार को वर्चुअल पुरस्कार मिलेगा। प्रात: 11 बजे राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस पर प्रधानमंत्री का संबोधन ग्रामीणों को वर्चुअल सुनवाएंगे।

राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए गांव का चयन होने पर खुशी है। गांव का विकास कराने में ग्रामीणों का काफी सहयोग रहा।

-दीपक शर्मा, निवर्तमान प्रधान ग्वालीखेड़ा 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.