Fraud In Inspector Recruitment: यूपी में दारोगा भर्ती में परीक्षा केंद्र का कंप्यूटर रिमोट पर लेकर हल किया प्रश्नपत्र

Fraud In Inspector Recruitment In UP मेरठ एसटीएफ ने अलीगढ़ से तीन कंप्यूटर मास्टर को पकड़कर कंप्यूटर बरामद किए । दीवार से तार निकाल कर परीक्षा केंद्र के मास्टर कंप्यूटर में जोड कर हैक किया प्रश्नपत्र ।

Taruna TayalFri, 26 Nov 2021 06:47 PM (IST)
यूपी दारोगा भर्ती परीक्षा में साइबर एक्सपर्ट ने परीक्षा केंद्र के मास्टर कंप्यूटर को रिमोर्ट के जरिए हैक कर लिया।

मेरठ, जेएनएन। यूपी दारोगा भर्ती परीक्षा में साइबर एक्सपर्ट ने परीक्षा केंद्र के मास्टर कंप्यूटर को रिमोर्ट के जरिए हैक कर लिया। उसके बाद प्रश्नपत्र हल किए गए। एक दिन में दो प्रश्नपत्र हल कर रहे थे। एसटीएफ की टीम ने तीन साइबर एक्सपर्ट को पकड़ लिया है। उनके कब्जे से आनलाइन पश्नपत्र और कंप्यूटर कब्जे में ले लिए है। सीओ ब्रिजेश सिंह ने बताया कि उपनिरीक्षक ऑनलाइन भर्ती परीक्षा में परीक्षा केंद्र के समीप एक मकान में मास्टर सिस्टम तैयार करके लेन कनेक्टिविटी एवं इंटरनेट माध्यम का प्रयोग कर परीक्षा केंद्र के सिस्टमों को रिमोर्टली हैक किया। उसके बाद प्रश्नत्र को अपने कंप्यूटर लेकर हल कर दिया। उसकी ऐवज में आठ से दस लाख प्रत्येक छात्र से वसूल रहे थे।

ऐसे हैक कर पश्न पत्र हल कर रहे थे

आरोपियों ने अलीगढ़ के बन्ना देवी थाना अंतगर्त महर्षि गौतम इंटर कालेज परीक्षा केंद्र के पीछे वाले मकान में एक इंटरनेट कनेक्शन लगाया। कनेक्शन में एक वाईफाई राउटर भी लगाया और वहां पर अपना एक मेन सिस्टम इनस्टॉल किया, जिसको परीक्षा केंद्र की लैब से कनेक्ट करने के लिए एक फिजिकल लेन केबल डाली, जो घर से परीक्षा केंद्र की लैब में लगे मास्टर कंप्यूटर तक पहुंचाई गई। इंटरनेट केबल को लैब के मास्टर कंप्यूटर से जोड़ दिया गया। उसके बाद उन्होंने अपने इंटरनेट के वाईफाई राउटर पर स्टैटिक आईपी स्थापित किया और उसमें डीएचसीपी इनेबल कर दिया, जिससे कालेज की लैब के सिस्टम चालू होते ही लोकल कनेक्टिविटी एवं इंटरनेट कनेक्टिविटी दोनों इनेबल हो जाती थी, जिससे वो आईपी एड्रेस की हेल्प से लैब का सिस्टम रिमोट पर कनेक्ट कर लेते थे। मास्टर कंप्यूटर का पूरा कंट्रोल अपने हाथ में लेकर पेपर सॉल्व किया करते थे, जिस छात्र का पेपर साल्व किया जाता था। वह सिर्फ परीक्षा केंद्र में कंप्यूटर पर बैठा रहता था। कंप्यूटर पर सभी काम परीक्षा केंद्र के बाहर बैठे कंप्यूटर से होता रहता था। सीओ ब्रिजेश ने बताया कि एक पाली में दो अभ्यर्थियों के पेपर साल्व किए जाते थे।

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम

-दीपक उर्फ नीतू निवासी नई बस्ती अलीगढ़ (नेटवर्किंग टेक्नीशियन)।

- हिमांशु कुमार पुत्र सतीश कुमार निवासी कोटा मुरादनगर हरिद्वार।{सेंटर हेड एनएसईआइटी लि.}

-राजवीर पुत्र प्रेमपाल निवासी गायत्री नगर अलीगढ़।

ये हुई बरामदगी

एक मोनिटर, तीन सीपीयू, एक वाय फ़ाय राउटर, एक डीलिंक स्विच, एक इंटरनेट डिवाइस, ग्यारह लेन केबल छोटी व एक बड़ी(40)मीटर और चार पावर कोड। 

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.