कल होगा रैपिड रेल के पहले लुक का अनावरण, अब तक देख रहे थे काल्पनिक फोटो

भारत के पहले रीजनल रेल नेटवर्क रैपिड रेल के पहले लुक का अनावरण शुक्रवार को किया जाएगा।
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 03:29 PM (IST) Author: Taruna Tayal

मेरठ, जेएनएन। दिल्ली- गाजियाबाद- मेरठ के बीच भारत के पहले रीजनल रेल नेटवर्क रैपिड रेल के पहले लुक का अनावरण कल (शुक्रवार) को किया जाएगा।

भारत की पहली आरआरटीएस ट्रेनों के डिजाइन और निर्माण का काम बॉम्बार्डियर इंडिया को दिया गया है। इन सभी ट्रेनों का निर्माण मेक इन इंडिया नीति के अंतर्गत 100 फीसद देश मे ही होगा। ये ट्रेनें बॉम्बार्डियर के सावली प्लांट, गुजरात में निर्मित होंगी। बॉम्बार्डियर ने आरआरटीएस ट्रेनों का डिजाइन अपनी हैदराबाद फैसिलिटी में किया है।

अब तक आरआरटीएस ट्रेन की एक काल्पनिक छवि उपयोग में लाई जा रही थी। अब वास्तविक आरआरटीएस ट्रेनों के रूप को विकसित किया गया है।

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के 50 किलोमीटर से अधिक हिस्से पर सिविल निर्माण कार्य चल रहा हैं।

साथ थे चार स्टेशन

साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई का निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। पिलर और वायडक्ट का निर्माण भी जारी है।

अब तक दुहाई से साहिबाबाद के बीच के प्राथमिक खंड पर वायडक्ट के फ़ाउंडेशन के लिए 2500 से अधिक पाइल, 210 से अधिक पाइल कप और 100 से ज़्यादा पिलर बनकर तैयार हैं।

इस खंड पर चार स्टेशन

साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर और दुहाई का निर्माण भी जोरों पर है। वायडक्ट के स्पैन के लौंचिंग का कार्य भी प्रगति पर है। एनसीआरटीसी ने दुहाई से शताब्दी नगर (मेरठ) के बीच के 33 किमी के हिस्से पर भी निर्माण कार्य शुरू कर दिया है। इसके साथ ही अब 82 किमी लंबे कॉरिडोर के 50 किमी से अधिक के हिस्से पर निर्माण कार्य चल रहा है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.