आकस्मिक अग्नि दुर्घटना से बचाव के लिए स्थापित होंगे फायर हाईड्रेंट

मवाना पालिका अध्यक्ष अय्यूब कालिया व अधिशासी अधिकारी सुनील कुमार सिंह ने नगर के व्यापारियों की मांग पर रविवार को नगर के सुभाष चौक व फलावदा तिराहे पर फायर हाईड्रेंट स्थापित कराने के लिए प्रस्तावित स्थान का निरीक्षण किया।

JagranPublish:Sun, 05 Dec 2021 08:42 PM (IST) Updated:Sun, 05 Dec 2021 08:42 PM (IST)
आकस्मिक अग्नि दुर्घटना से बचाव  के लिए स्थापित होंगे फायर हाईड्रेंट
आकस्मिक अग्नि दुर्घटना से बचाव के लिए स्थापित होंगे फायर हाईड्रेंट

मेरठ, जेएनएन। मवाना पालिका अध्यक्ष अय्यूब कालिया व अधिशासी अधिकारी सुनील कुमार सिंह ने नगर के व्यापारियों की मांग पर रविवार को नगर के सुभाष चौक व फलावदा तिराहे पर फायर हाईड्रेंट स्थापित कराने के लिए प्रस्तावित स्थान का निरीक्षण किया।

बता दें कि नगर में सुभाष चौक के पास गत दिनों व्यापारी सतीश की आयल की दुकान पर हुए भीषण अग्निकांड में व्यापारी पुत्र राजा व दो नौकर कल्लू व शादाब की मौत हो गई। आग को बुझाने के लिए छह दमकल गाड़ियां लगी थीं। नगर स्थित फायर स्टेशन से पहुंची अग्निशमन गाड़ी का पानी पर्याप्त नहीं हो पाया था। इसी कवायद में नगर के व्यापारियों ने नगर पालिका से आकस्मिक अग्निकांड से बचाव की कवायद में फायर हाईड्रेंट लगवाने की मांग की थी। इसी क्रम में रविवार को चेयरमैन अय्यूब कालिया व ईओ सुनील कुमार ने नगर में आकस्मिक अग्नि दुर्घटना होने से बचाव की कवायद में स्थल चयन के लिए सुभाष व फलावदा तिराहा का निरीक्षण किया। इस दौरान सुभाष चौक पर पिक शौचालय का निर्माण कार्य व पूर्व में बने पुरुष शौचालय की मरम्मत कराने की बात कही। इस दौरान इनके साथ कार्यालय अधीक्षक लाखन सिंह, राजेश, व्यापारी विनय दुबलिश, पूर्व सभासद रामकुमार दीक्षित, अमित कुमार गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

कथा व्यास ने समझाया श्रीमद्भागवत कथा का मर्म

परीक्षितगढ़ : नगर की गुड़मंडी स्थित शिव मंदिर में पांच दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा का रविवार को कलश यात्रा के साथ शुभारंभ हुआ। प्रथम दिन कथाव्यास योगीराज महाराज ने भागवत कथा के महत्व पर प्रकाश डाला।

कलश यात्रा शिव मंदिर से आरंभ होकर नगर भ्रमण कर वापस गुड़मंडी स्थित शिव मंदिर पर समाप्त हुई। तत्पश्चात विधिवत रूप से कथा आरंभ हुई। इस अवसर पर कथा वाचक योगीराज महाराज ने श्रीमद्भागवत कथा के महत्व का वर्णन करते हुए बताया कि प्रतापी राजा परीक्षित के जीवन के अंतिम सात दिन में जो भागवत कथा शुकदेव ने सुनाई, उसी कथा के प्रताप से राजा परीक्षित को मुक्ति प्राप्त हुई। कहा कि इस कथा के श्रवण से जीव पापों से मुक्त होकर प्रभु चरणों में लीन हो जाता है। कथा आयोजक बाला देवी ने बताया कि भागवत कथा 12 दिसंबर तक चलेगी। इस अवसर पर भोपाल सिंह, प्रवीण, पंकज, आशीष, महेंद्र, अनिल गुप्ता, संजय शर्मा, लोकेश गर्ग, महावीर गुप्ता, विजय डागा आदि मौजूद रहे।