top menutop menutop menu

Fight Against Corona: मेरठ में पीएसी के चार जवानों सहित 23 लोगों ने दी कोरोना को आखिरकार मात

मेरठ, जेएनएन। Fight Against Corona शहर में धीरे-धीरे कोरोना की चपेट में आए लोगों ने हिम्‍मत के साथ इस बीमारी को मात देना शुरू कर दिया है। प्रदेश शासन द्वारा कमिश्नर के दिशा निर्देशन में नियुक्त किए गए जनपद नोडल अधिकारी अपर आयुक्त उदयीराम के सामने ही रविवार को मुलायम सिंह मेडिकल कॉलेज से 19 कोरोना मरीजों को ठीक होने पर छुट्टी दी गई। नोडल अधिकारी ने यहां निरीक्षण किया। उन्होंने दो क्‍वारंटाइन सेंटरों और दो सामुदायिक रसोई का भी निरीक्षण किया। वहीं पीएसी के चार जवानों ने भी कोरोना से जंग जीत ली है।

अब मात्र 33 कोरोना संक्रमित

मेरठ जनपद के नामित नोडल अधिकारी अपर आयुक्त उदयीराम ने सबसे पहले मुलायम सिंह यादव मेडिकल कालेज खरखौदा में स्थापित कोविड वार्ड का निरीक्षण किया। यहां 148 कोरोना पॉजिटिव मरीज थे। जिनमें से 72 को पिछले सप्ताह छुट्टी दी गई थी। रविवार को अन्य 19 मरीजों को रिपोर्ट निगेटिव आने पर उनके सामने ही डिस्चार्ज किया गया। अब यहां मात्र 33 कोरोना संक्रमित लोग भर्ती रहकर इलाज करा रहे हैं। यहां 30 लोगों का चिकित्सकीय स्टॉफ तैनात है। क्‍वारंटाइन सेंटर डा. अंबेडकर डिग्री कालेज में पहुंचने पर वहां 74 लोग क्‍वारंटाइन मिले। उनके स्वास्थ्य, भोजन तथा अन्य सुविधाएं संतोषजनक मिली।

चार जवान मात देने में कामयाब

वहीं मोदीपुरम में छठी वाहिनी पीएसी के क्वार्टर मास्टर मोहम्मद नदीम ने बताया कि उनकी वाहिनी के 15 जवान कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। तीन फैमिली सदस्य भी पॉजिटिव मिले थे। एक हेड कांस्टेबल और तीन रिक्रूट आरक्षी कोरोना को मात देने में कामयाब हो गए। शनिवार को दो प्लाटून कमांडर यानी सब इंस्पेक्टर, दो फॉलोवर, रिक्रूट आरक्षी और तीन आरक्षी के सैंपल की जांच गई थी। उनकी रिपोर्ट निगेटिव है।

पार्षद के भाई ने दी कोरोना को मात

कसेरूखेड़ा निवासी भाजपा पार्षद का भाई कोरोना को मात देकर शनिवार देर रात घर लौटा। 12 मई को कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। पार्षद का भाई सब्जी आढ़ती है।

आइजी बोले, गमछा जरूर रखो

पीएसी पश्चिम जोन मुरादाबाद के आइजी अमित चंद्रा ने शनिवार को छठी वाहिनी पीएसी का निरीक्षण करक्‍वारंटाइन सेंटर, साफ सफाई और जवानों का हाल जाना। क्वार्टर मास्टर ने बताया कि आइजी ने जवानों से कहा है कि मास्क लगाएं ही और गमछा जरूर साथ रखें।

सर्जरी ओपीडी और टीकाकरण को हरी झंडी

कोरोना के ग्रहण के बीच प्रदेश सरकार ने ओपीडी सेवाओं को शतोर्ं के साथ खोलना शुरू कर दिया है। प्रमुख सचिव मोहन प्रसाद ने सभी जिलाधिकारियों एवं सीएमओ को भेजे पत्र में साफ किया है कि कोरोना जाने में वक्त लगेगा, ऐसे में अन्य बीमारियों से जूझ रहे लोगों के इलाज की व्यवस्था तत्काल करनी होगी। इसी कड़ी में जिला चिकित्सालय एवं अन्य सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में नए प्रोटोकाल के साथ इलाज शुरू किया जाएगा।

कोरोना टेस्ट कराया

जिला मेरठ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री रजनीश कौशल ने खुद ही जिला अस्पताल पहुंचकर अपना कोरोना टेस्ट कराया था। उन्होंने बताया कि रविवार को मिली जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। उन्होंने बताया कि उन्होंने अन्य दवा व्यापारियों से भी अपना अपना कोरोना टेस्ट कराने की अपील की है। उनके साथ वार्ड 63 के पार्षद तथा वरिष्ठ व्यापारी नेता अरूण वशिष्ठ के पुत्र अनुज वशिष्ठ ने ही कोरोना टेस्ट कराया था। उसकी रिपोर्ट भी निगेटिव मिली है।

नवजात की रिपोर्ट निगेटिव

मेडिकल में तीन दिन पहले हुए प्रसव में बच्चे की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। बता दें कि एक गर्भवती का पिछले दिनों निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। जांच में पॉजिटिव आने पर महिला को मेडिकल कालेज में ही शिफ्ट किया गया, जहां उसने बच्चे को जन्म दिया। बच्चे का सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जो निगेटिव निकला।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.