ट्रैक्टर परेड के लिए गाजीपुर बार्डर की ओर किसानों का कूच

ट्रैक्टर परेड के लिए गाजीपुर बार्डर की ओर किसानों का कूच

ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए रविवार को जिले के कई ब्लाकों से भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसान ट्रैक्टर ट्राली लेकर रवाना हुए।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 10:30 PM (IST) Author: Jagran

मेरठ, जेएनएन। ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए रविवार को जिले के कई ब्लाकों से भारतीय किसान यूनियन से जुड़े किसान ट्रैक्टर ट्राली लेकर रवाना हुए। सोमवार को भी बड़ी संख्या में परतापुर तिराहे पर एकत्र होकर ट्रैक्टर-ट्राली रवाना होंगी। वहीं, पुलिस प्रशासनिक अधिकारी भाकियू व अन्य किसान संगठनों के पदाधिकारियों को दिल्ली न जाने के लिए फोन करके निवेदन कर रहे हैं।

भाकियू जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ईकड़ी ने बताया कि रविवार को जिले के कई गांवों में जनसंपर्क करते हुए 26 जनवरी पर ट्रैक्टर परेड में शामिल होने का आह्वान किया गया। जिले के कई गांवों में बैठक भी आयोजित हुई। वहीं, उन्होंने दावा किया कि रविवार को करीब 80 ट्रैक्टर-ट्राली लेकर किसान अलग-अलग रास्तों से गाजीपुर बार्डर के लिए रवाना हुए हैं। इसमें गंगनहर पटरी व परतापुर तिराहे से स्थानीय ब्लाक के किसान शामिल हैं। उन्होंने बताया कि ढडरा, रजापुर, करनावल, जंगेठी, रामपुर, बहसूमा व घसौली आदि से राजकुमार करनावल, सतीश, विनोद, बिट्टू व सत्यवीर के नेतृत्व में किसान गाजीपुर बार्डर के लिए रवाना हुए हैं।

किसानों को रोकने के लिए निवेदन कर रहे अधिकारी

भाकियू जिलाध्यक्ष ने बताया कि गाजीपुर बार्डर पर कूच न करने के लिए उनके पास एसडीएम व एडीएम ने कई बार फोन करके आग्रह किया। उन्होंने जवाब में कहा कि किसान अपनी बात रखने के लिए दिल्ली जा रहे हैं।

वाट्सएप पर किसानों ने लगाया लोगो

इंटरनेट मीडिया पर भी ट्रैक्टर परेड का जोर-शोर से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। किसानों ने ट्रैक्टर व तिरंगे के साथ लोगो वाट्सएप पर लगाया है।

उधर, किसानों के समर्थन में समाजवादी पार्टी 26 जनवरी को तहसील स्तर पर ट्रैक्टर रैली निकालेगी। रविवार को सपा जिलाध्यक्ष चौधरी राजपाल सिंह ने जेल रोड स्थित पार्टी कार्यालय पर प्रेसवार्ता कर जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ट्रैक्टरों पर राष्ट्रीय ध्वज व सपा का झंडा होगा। सभी तहसीलों के गांवों में रैली निकाली जाएगी। सपा के पूर्व विधायक प्रभु दयाल वाल्मीकि, गुलाम मोहम्मद और सपा नेता अतुल प्रधान, विपिन मनोठिया भी मौजूद रहे। सपा नेताओं ने कहा कि भाजपा सरकार की गलत नीतियों से देश का किसान परेशान है। कृषि विरोधी कानूनों के विरोध में किसान पिछले तीन माह से धरने पर है। केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार आम आदमी की आवाज दबाने का काम कर रही है। सपा आम आदमी की आवाज बनकर उनके हक की लड़ाई लड़ेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.