Fake Petrol: सहारनपुर में धड़ल्ले से परचून तक की दुकानों पर बिक रहा है नकली पेट्रोल, पारदर्शी बोतलों में रखते हैं भरकर

Fake Petrol सहारनपुर में नकली पेट्रोल की बिक्री का धंधा बेखौफ किया जा रहा है। इस धंधे को करने वाले मुख्य मार्गों पर भी अपनी दुकानों के सामने सड़क किनारे टेबल पर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए पारदर्शी बोतलों में भरकर इस पेट्रोल को रख लेते हैं।

Taruna TayalMon, 20 Sep 2021 02:12 PM (IST)
सहारनपुर में नकली पेट्रोल की ब‍िक्री ।

सहारनपुर, जेएनएन। क्षेत्र में नकली पेट्रोल की बिक्री का धंधा बेखौफ किया जा रहा है। इस धंधे को करने वाले मुख्य मार्गों पर भी अपनी दुकानों के सामने सड़क किनारे टेबल पर ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए पारदर्शी बोतलों में भरकर इस पेट्रोल को रख लेते हैं। जिससे ग्राहक दूर से देख कर पेट्रोल लेने पहुंच जाता है। खास बात यह है कि ऐसी स्थिति ग्रामीण क्षेत्र में तो परचून की दुकानों पर तो होती ही है मुख्य मार्गों पर जहां से पुलिस व विभागीय अधिकारी गुजरते हैं वहां भी इस नकली पेट्रोल को बेचने वाले कोई गुरेज नहीं कर रहे हैं।

परचून की दुकानों पर भी नकली पेट्रोल की बिक्री
क्षेत्र में पेट्रोल पंप लगभग सभी मार्गों पर हैं। लेकिन नकली पेट्रोल भी कम नहीं बिक रहा है। इस नकली पेट्रोल की सप्लाई हर दिन लगभग हर दुकान पर होती है। एक गाड़ी प्रतिदिन आती है और वह दुकानदार की जरूरत के अनुसार उसे यह नकली पैट्रोल सप्लाई करती है। आज तक इस गाड़ी की भी छानबीन करने की कोशिश किसी स्तर से नहीं हुई। ऐसी स्थिति में यह गाड़ी कभी भी जरा सी लापरवाही होने पर अपने आप में एक आग का गोला बन सकती है। जनपद में नकली पेट्रोल के पंप भी पकड़े जा चुके हैं। लेकिन इसके बावजूद इस धंधे पर अंकुश अभी तक नहीं लगा है। इसका उदाहरण ग्रामीण क्षेत्रों के मुख्य मार्गों के बीच में पड़ने वाले कस्बे व देहात के बाजार ही नहीं ग्रामीण क्षेत्र में परचून की दुकानों तक भी नकली पेट्रोल की बिक्री आसानी से देखी जा सकती है।

दुपहिया वाहनों वह कारों के इंजन को भी हो रहा नुकसान

इस नकली पेट्रोल को खासकर ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपने दुपहिया ही नहीं कार आदि वाहनों में भी डलवाते हैं। जिससे वाहन स्वामियों को भारी नुकसान हो रहा है। क्योंकि यह नकली पेट्रोल वाहनों के इंजन को जल्दी ही मैकेनिक तक पहुंचा देता है। कहीं-कहीं तो यह नकली पेट्रोल मैकेनिक की दुकान पर भी मिल जाता है। वरना परचून से लेकर अन्य सामान की दुकानों तक के सामने टेबल पर नकली पेट्रोल की बिक्री होते मिलती है। आपूर्ति विभाग तो इसकी कभी सुध लेता ही नहीं बल्कि विभाग के कर्मचारी इस नकली पेट्रोल की बिक्री वाली दुकानों पर कभी कभार देखे भी जाते हैं।

कभी भी बड़े हादसे को जन्म दे सकता है यह धंधा

नकली पेट्रोल की बिक्री किसी भी दिन क्षेत्र में बड़े हादसे को भी जन्म दे सकती है। क्योंकि यह अत्यंत ज्वलनशील पदार्थ होने के आग पकड़ने में देरी नहीं करता। ग्रामीण क्षेत्र में वैसे भी बीड़ी सिगरेट का चलन काफी होता है। ऐसे में हादसे की संभावनाएं और भी बढ़ जाती है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.