बागपत में आफत की बारिश: स्‍वीमिंग पुल बना दिल्‍ली हाईवे- तैरती हुई चल रही थी कारें, कई मकान भरभराकर गिरे

Monsoon Rain Alert लगातार बारिश होने से बागपत जिले में आफत आ गई। कई जगहों पर मकान जमींदोज हो गई। तो वहीं गलियों व चौराहों पर भी पानी लबालब भर गया। नुकड़ व शहरों के मुख्‍य मार्ग पर जलभराव होने से आवगमन में बांधा हुई।

Himanshu DwivediSat, 21 Aug 2021 02:40 PM (IST)
बागपत में आफत भरी बारिश में कई मकान गिरे।

बागपत, जेएनएन। Monsoon Rain Alert लगातार बारिश होने से बागपत जिले में आफत आ गई। कई जगहों पर मकान जमींदोज हो गई। तो वहीं गलियों व चौराहों पर भी पानी लबालब भर गया। नुकड़ व शहरों के मुख्‍य मार्ग पर जलभराव होने से आवगमन में बांधा हुई। वहीं दिल्‍ली हाईवे पर सिसाना गांव के पास नजारा स्‍वीमिंग पुल की तरह नजर आया। जहां पर भारी मात्रा में पानी आ जाने से और उसका बहाव तेज होने से कार व अन्‍य छोटे वाहन धीमी गति से चलती रहीं। इस बीच में कई कारें पानी के बहाव के साथ ही चलती नजर आई।

बागपत में शुक्रवार से हो रही जबरदस्त बारिश ने कहर मचा दिया। चारो तरफ जलभराव हो गया। नालियों का पानी सड़कों पर जमा हो गया। कई कालोनियों में भी पानी भर गया। जिससे लोगों का घर से निकलना भी दूभर हो गया। बड़ोद नगर, अग्रवाल मंडी टटीरी, खेकड़ा, छपरौली, बिनौली व जिले के तमाम हिस्‍सों में पानी भर गया। यहां देर रात से ही बारिश ने दस्‍तक दी और सुबह तक बारिश होती रही।

वहीं बागपत कलक्ट्रेट में मिशन शक्ति कार्यक्रम स्थल पर पानी भर जाने से सभी व्‍यवस्‍थाएं बिगड़ गई। लगाई गई कुर्सियां चारपाई भी पानी में तैरती नजर आईं। नगर पालिका से पम्प सेट मंगवाकर पानी निकलवाया। जिसके बाद कार्यक्रम शुरू हुआ।

यहां भरभराकर गिरा मकान

बिनौली के बड़ावद गांव में बारिश के चलते एक मकान की छत गिर गई। गनीमत रही कि मकान के अंदर कोई नहीं था। परिवार के सभी सदस्‍य सुरक्षित बच गए। वहीं बारिश के कारण रटौल गांव में दो सगे भाइयों की भी मकान गिर गई। जिसके बाद ग्रामीणों ने मलबा हटवाया और पीड़ित भाइयों को मुआवजा दिलाने की मांग प्रशासन से की है। इस हादसे में भी सभी सुरक्षित रहे। इसके अलावा दाहा में के रहतना व शाहजहांपुर गांव में भी दो मकान गिर गए। जिसमें मलबे के नीचे दबकर खाद्य सामग्री व कीमती सामान नष्ट हो गया।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.