Dengue Alert: खतरनाक बन रहे हालात, 19 नए केसों के साथ मेरठ में डेंगू का आंकड़ा 300 तक पहुंचा

Dengue Alert यदि सतर्कता नहीं बरती गई तो मेरठ में डेंगू का कहर और भी बढ़ सकता है।शहरी क्षेत्र में डेंगू का डंक तेजी से फैल रहा है। यहां पर 19 नए मामले मिले हैं। डीएम ने भी समीक्षा कर इस पर नियंत्रण के निर्देश दिए हैं।

Prem Dutt BhattSat, 25 Sep 2021 09:40 AM (IST)
मेरठ में 2017 में 660 मरीज मिले थे, अब टूट सकता है रिकार्ड।

मेरठ, जागरण संवाददाता। Dengue Alert मेरठ में डेंगू का संक्रमण खतरनाक तरीके से फैल रहा है। शुक्रवार को जिले में मरीजों का आंकड़ा तीन सौ छू गया। 137 एक्टिव मरीज हैं, जबकि अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या 50 पार कर चुकी है। मलेरिया विभाग ने 18 नोटिस जारी किया, जिसमें सात अर्बन क्षेत्रों के लोग हैं। वहीं दूसरी ओर डीएम ने समीक्षा करते हुए डेंगू पर काबू पाने के लिए निर्देश दिए हैं। वहीं मेरठ में 2017 में डेंगू के 660 मरीज मिले थे और इस बार टूट सकता रिकार्ड।

शहरी क्षेत्रों में ज्‍यादा मरीज

मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान का कहना है कि हर मरीज के घर के आसपास सर्विलांस तेज किया जा रहा है। शहरी क्षेत्रों में देहात की तुलना में ज्यादा मरीज निकल रहे हैं। निजी अस्पतालों में बड़ी संख्या में बुखार के मरीज भर्ती हैं। जिला मलेरिया विभाग एवं नगर निगम की टीमें लगातार एंटी लार्वा अभियान संचालित कर रही हैं। मेडिकल कालेज एवं जिला अस्पताल के ब्लड बैंक प्रभारियों ने बताया कि प्लेटलेट की खपत बढ़ गई है।

ये बोले सीएमओ

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि 300 में से 162 मरीज ठीक होकर घर चले गए। घर पर 92 मरीज इलाज ले रहे हैं। मेडिकल कालेज के फिजिशियन डा. अरविंद का कहना है कि बुखार तेज होने के साथ पसीना निकलने की स्थिति में नमक-पानी का घोल लेते रहें। बीपी गिरने, गफलत एवं सांस फूलने की स्थिति में तत्काल चिकित्सक से संपर्क करें। प्लेटलेट 25 हजार से कम होने पर भी मरीज की स्थिति पर नजर रखने की आवश्यकता है।

जिलाधिकारी ने की डेंगू को लेकर समीक्षा

मेरठ में डेंगू पर नियंत्रण व कोरोना की रोकथाम के लिए किए जा रहे टीकाकरण की समीक्षा शुक्रवार को डीएम ने वर्चुअल माध्यम से की। समीक्षा बैठक में डीएम के. बालाजी ने कहा कि 27 सितंबर को मेगा टीकाकरण कार्यक्रम के तहत एक लाख 20 हजार लोगों को टीका लगाया जाएगा। इसके अलावा जहां कहीं भी डेंगू मरीज मिलते है, उस संबंध में निर्धारित प्रोटोकाल के अनुसार करते हुए कार्रवाही करें। आमजन को डेंगू से बचाव व उसकी रोकथाम के संबंध में जागरूक किया जाए।

टीकाकरण अभियान

इसके अलावा टीकाकरण अभियान में शिक्षा विभाग के शिक्षकों व कर्मियों की जरूरत पडऩे पर एसडीएम व एबीएसए से बात कर जनशक्ति उपलब्ध कराए। आमजन को यह भी जानकारी उपलब्ध कराई जाए कि कोवैक्सीन भी कोविशील्ड की तरह प्रभावी है और इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण गौतम ने बताया कि मेगा टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। कई अधिकारी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.