Corona Vaccination: मेरठ में कल होने वाले विशाल टीकाकरण अभियान की तैयारी में जुटा स्‍वास्‍थ्‍य विभाग, यह रखा है लक्ष्‍य

Corona Vaccination मेरठ में शनिवार को कुल 9135 लोगों को टीका लगाया गया। जिसमें 9041 को दूसरी डोज व 94 लोगों को पहली डोज लगाई गई। सोमवार के बड़े अभियान के लिए जोर शोर से तैयारियां की जा रही हैं। टारगेट भी बड़ा रखा गया है।

Prem Dutt BhattSun, 26 Sep 2021 10:30 AM (IST)
मेरठ में शनिवार को 9041 ने दोनों लगवाकर कोरोना से पाई पूर्ण सुरक्षा।

मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ में शनिवार को जिले में दूसरी डोज के बकाया लाभार्थियों का संपूर्ण टीकाकरण करने के लिए विशेष अभियान चला। जिसमें 9041 लोगों को दूसरी लगाई गई। उधर, सोमवार को चलने वाले विशाल टीकाकरण अभियान के 1.20 लाख डोज लगाने के लक्ष्य को पाने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग पूरी क्षमता से जुट गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. प्रवीण गौतम ने बताया कि शनिवार को कुल 9135 लोगों को टीका लगाया गया। जिसमें 9041 को दूसरी डोज व 94 लोगों को पहली डोज लगाई गई। शहरी क्षेत्र में 5062 ने और ग्रामीण इलाकों में 4073 ने टीका लगवाया। जिसमें कोविशील्ड की 7921 डोज और कोवैक्सीन की 1214 डोज लगाई गईं।

5177 सैंपलों की जांच में कोई संक्रमित नहीं

मेरठ में शनिवार को 5177 सैंपलों की जांच की गई, जिसमें कोई भी संक्रमित नहीं मिला। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि अब जिले में कोरोना संक्रमण से ग्रसित सक्रिय मरीजों की संख्या दो रह गई है। जिसमें एक मरीज अस्पताल में भर्ती है जबकि दूसरा मरीज होम आइसोलेशन में रहकर अपना उपचार करवा रहा है। कोरोना को लेकर मेरठ में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग लगातार लोगों को लगातार जागरूक कर रहा है।

23 नए डेंगू मरीज मिले, कुल संख्या 322

मेरठ में डेंगू का संक्रमण प्रशासन के लिए चुनौती बनता जा रहा है। शनिवार को 23 नए मरीज मिले। जिले में डेंगू मरीजों की संख्या 322 तक पहुंच गई है। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि कई गांवों में टीमों ने सर्विलांस किया। जिला मलेरिया, नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने एंटी लार्वा अभियान संचालित किया। मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि 181 मरीजों की रिकवरी हो चुकी है। 141 एक्टिव मरीज हैं, जबकि विभिन्न अस्पतालों में 57 डेंगू मरीजों का इलाज चल रहा है।

25 से ज्‍यादा को दिया नोटिस

घर पर 84 मरीज इलाज ले रहे हैं। जिला मलेरिया अधिकारी सत्यप्रकाश ने बताया कि बारिश की वजह से खाली कराए गए पात्रों में लार्वा दोबारा पैदा हो जाता है। कई गांवों में 25 से ज्यादा लोगों को नोटिस जारी की गई है। मेडिकल कालेज की फिजिशियन डा. स्नेहलता ने बताया कि डेंगू बुखार में तेज दर्द, स्किन पर चकत्ते, भूख मतें कमी, कमजोरी व उल्टी-दस्त के लक्षण उभर सकते हैं। दर्द निवारक दवा न खाएं। चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.