Meerut Curfew Update: तीन दिन बंदी के आदेश से व्‍यापारियों में जबरदस्‍त आक्रोश, आज करेंगे कमिश्‍नर से मुलाकात

मेरठ में लगातार तीन दिन दुकानें बंद रखने के प्रशासन के फरमान से व्यापारियों में रोष है। शनिवार को विभिन्न व्यापार संगठनों ने बैठक कर प्रशासन के निर्णय का विरोध किया। कई स्थानीय व्यापार संगठनों ने सोमवार को दुकानें खोलने का भी निर्णय किया है।

Prem Dutt BhattSun, 13 Jun 2021 09:00 AM (IST)
संयुक्त व्यापार संघ ने कहा, प्रशासन नहीं माना तो स्वयं दुकानें खोलने का निर्णय करेंगे व्यापारी।

मेरठ, जेएनएन। Meerut Curfew Update शनिवार-रविवार कोरोना कर्फ्यू और फिर सोमवार को साप्ताहिक बंदी यानी लगातार तीन दिन दुकानें बंद रखने के प्रशासन के फरमान से व्यापारियों में रोष है। शनिवार को विभिन्न व्यापार संगठनों ने बैठक कर प्रशासन के निर्णय का विरोध किया। कई स्थानीय व्यापार संगठनों ने सोमवार को दुकानें खोलने का भी निर्णय किया है। जागृति विहार सेक्टर दो व्यापार संघ के अध्यक्ष प्रवीण शर्मा ने कहा कि शासन ने 600 से कम कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या वाले जनपदों में शनिवार और रविवार को बंदी और शेष दिनों में सुबह सात से शाम सात बजे तक बाजार खोले जाने की अनुमति दी थी। मेरठ में तीन दिन की बंदी समझ से परे है। उन्होंने कहा कि प्रशासन का यह निर्णय हमें मान्य नहीं है। जनप्रतिनिधियों से इस मामले में मध्यस्थता करने की अपील की। महामंत्री सतीश पाल, विशाल रस्तोगी आदि मौजूद रहे। आज कमिश्नर से मिलेंगे संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारी।

संक्रमण के मामलों में कमी

आबू लेन व्यापार संघ के उपाध्यक्ष राजवीर सिंह ने कहा कि मेरठ में जब संक्रमण के मामलों में लगातार कमी है तो फिर एक दिन अतिरिक्त बाजार बंद करना व्यापारियों का उत्पीडऩ है। कहा टेंपो, ट्रेन और बसों में लोग सामान्य रूप से आ-जा रहे हैं, केवल व्यापारियों को बंदी के लिए मजबूर किया जा रहा है। बेगमपुल व्यापार संघ के पदाधिकारियोंकी बैठक में एक सुर से सोमवार की बंदी के आदेश का विरोध किया गया।

कर्ज के बोझ से परेशान व्‍यापारी

पदाधिकारियों ने कहा कि बिजली के बिल, दुकानों का किराया, स्टाफ का वेतन, बैंक की किस्तें जैसे खर्चों के बोझ के तले व्यापारी दबा हुआ है, जबकि डेढ़ माह से व्यापार पूरी तरह बंद है। अब दिन में कुछ घंटे दुकानें खुल रही हैं उसके बाद एक दिन की अतिरिक्त बंदी लागू करना प्रशासन के संवेदनहीन रवैये को दर्शाता है। कमिश्नर से सोमवार की बंदी को निरस्त कराने की मांग की गई। संगठन के संरक्षक रतन सहगल, अनिल मित्तल, अध्यक्ष अशोक माहेश्वरी, महामंत्री दीपेंद्र गुप्ता, राजेश सिंघल, पुनीत शर्मा, विशाल माथुर आदि मौजूद रहे।

शाम को ही आता है ग्राहक

सदर व्यापार मंडल के सुनील दुआ ने कहा कि शाम सात बजे से दुकानें बंद हो जाती हैं। जबकि अमूमन ग्राहक इसी समय बाजारों का रुख करता है। दो-तीन दिन दुकानें खुली लेकिन व्यापार न के बराबार हुआ है। कहा कि या तो दुकानों को रात साढ़े नौ बजे तक खोला जाए या सोमवार की बंदी निरस्त की जाए। संयुक्त बाजार मंडल के संयोजक मुकुल ङ्क्षसघल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ट््वीट कर मेरठ के व्यापारियों के साथ हो रहे भेदभाव की शिकायत की।

आज कमिश्नर से मिलेंगे संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारी

मेरठ में शीलकुंज रस्तोगी फार्म हाउस में संयुक्त व्यापार संघ की बैठक में प्रशासन के तीन दिन की बंदी के आदेश पर विचार-विमर्श किया गया। पदाधिकारियों ने कहा कि इस आदेश के खिलाफ व्यापारी लामबंद हो गए हैं। अगर प्रशासन नहीं माना तो व्यापारी विरोध स्वरूप सोमवार को दुकानें खोलेंगे। अध्यक्ष अजय गुप्ता ने कहा कि रविवार को कमिश्नर से इस संबंध में मुलाकात की जाएगी। अध्यक्षता करते हुए संरक्षक बिजेंद्र अग्रवाल ने एक व्यापारी एक वोट की नीति के तहत व्यापारियों को चिह्नित कर मतदाता सूची बनाने के लिए कहा। संचालन महामंत्री दलजीत सिंह ने किया। बैठक में नवीन गुप्ता के नेतृत्व वाले संयुक्त व्यापार संघ से इस्तीफा देकर आए संदीप रेवड़ी और अंकुर गोयल को मंत्री पद पर नियुक्त किया गया। नगर निगम के पार्षद संदीप रेवड़ी ने संगठन हित में कार्य करने की बात कही। वहीं, अंकुर गोयल ने कहा कि व्यापारी हितों के लिए संघर्ष करते रहेंगे। संरक्षक अरुण वशिष्ठ, उपाध्यक्ष कमल ठाकुर, सुधीर अग्रवाल, सुधांशु, मयंक जैन, ललित गुप्ता, पवन गर्ग, प्रदीप शर्मा, गजेंद्र शर्मा, रजनीश कौशल आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.