रैपिड रेल : साहिबाबाद-गाजियाबाद के बीच रेल पटरी बिछाने को स्पेशल स्पैन का निर्माण शुरू

एनसीआरटीसी साहिबाबाद से गाजियाबाद के बीच ऐसे दो स्पेशल स्पैन स्थापित कर रहा है। इनमें से एक स्पैन वसुंधरा में स्थापित किया जा रहा है जो रेलवे क्रॉसिंग को पार करने के लिए है और 73 मीटर लंबा और 850 टन वजन का है।

Taruna TayalTue, 28 Sep 2021 04:58 PM (IST)
साहिबाबाद-गाजियाबाद के बीच रेल पटरी बिछाने को स्पेशल स्पैन का निर्माण शुरू

मेरठ, जागरण संवाददाता। एनसीआरटीसी ने भारत की प्रथम रीजनल रेल कारिडोर के चुनौतीपूर्ण सेक्शन के लिए स्पेशल स्पैन को स्थापित करने का कार्य शुरू कर दिया है। एनसीआरटीसी साहिबाबाद से गाजियाबाद के बीच ऐसे दो स्पेशल स्पैन स्थापित कर रहा है। इनमें से एक स्पैन वसुंधरा में स्थापित किया जा रहा है, जो रेलवे क्रॉसिंग को पार करने के लिए है और 73 मीटर लंबा और 850 टन वजन का है।

एलिवेटेड वायडक्ट के निर्माण के लिए, एनसीआरटीसी लगभग 34 मीटर की औसत दूरी पर पिलर्स बना रहा है। इसके बाद, इन पिलर्स को लॉचिंग गैन्ट्री (तारिणी) की मदद से प्री-कास्ट सेगमेंट से जोड़ा जाता है और एक वायडक्ट स्पैन तैयार किया जाता है। अब तक इन पिलर्स के बीच 37 मीटर की लंबाई तक के वायाडक्ट स्पैन ही बनाए गए हैं।

ये होते हैं स्पेशल स्पैन, इन क्षेत्रों में होता है उपयोग

कुछ क्षेत्रों में पिलर्स के बीच के लगभग नियत दूरी को बनाए रखना संभव नहीं है, जहां कॉरिडोर नदियों, पुलों, रेल क्रॉसिंग, मेट्रो कॉरिडोर, एक्सप्रेसवे आदि को पार कर रहा है। ऐसे क्षेत्रों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में पिलर्स को जोडऩे के लिए स्पेशल स्पैन का उपयोग किया जा रहा है। ये स्पेशल स्पैन विशाल संरचनाएं होती हैं जिनमें स्टील से बने बीम होते हैं। जिनका निर्माण पहले ही एक फैक्ट्री में कर लिया गया है, जिसे व्यस्त ट्रैफिक को ध्यान में रखते हुए रात में ट्रेलरों द्वारा साइट पर ले जाया जाता है। विशेष क्रेन की मदद से व्यवस्थित तरीके से इन्स्टाल किया जाता है। इन स्टील स्पैन के आकार और संरचना को निर्माण, स्थापना और उपयोग की समग्र आवश्यकताओं के अनुरूप एडवांस स्तर पर डिजाइन किया गया है।

150 मीटर लंबा विशेष स्पैन स्थापित

एक और विशाल स्पैन की स्थापना आरआरटीएस कॉरिडोर के सबसे ऊंचे स्टेशन गाजियाबाद आरआरटीएस स्टेशन के लिए किया जा रहा है जो दिल्ली मेट्रो की रेड लाइन और रोड ओवरब्रिज को पार करता हैं। गाजियाबाद में मेट्रो वायडक्ट और रोड ओवरब्रिज के दोनों ओर स्पेशल स्पैन लगाने के लिए पोर्टल पिलर्स बनाया गया है। इस पोर्टल पिलर्स पर लगभग 150 मीटर लंबा विशेष स्पैन स्थापित किया जाना है। इसका वजन करीब 3200 टन होगा और इसे जमीन से करीब 26 मीटर की ऊंचाई पर स्थापित किया जाएगा। आरआरटीएस वायडक्ट के नीचे मेट्रो वायडक्ट और रोड ओवरब्रिज होने के कारण इस मेगा स्पैन को असेंबल करने में विशेष सावधानी बरती जा रही है।

स्पैन को पुश तकनीक से किया जाएगा स्थापित

गाजियाबाद और वसुंधरा रेल क्रॉसिंग पर विंच और रोलर व्यवस्था की मदद से पिलर्स के एक तरफ से विशेष स्पैन को पुश तकनीक द्वारा स्थापित किया जाएगा। स्पेशल स्पैन के ये टुकड़े फैक्ट्री-निॢमत, चित्रित संरचनाएं हैं, और सीधे स्थापित करने के लिए तैयार हैं। इसलिए, वे समय बचाते हैं और आस -पास के परिवेश के सामंजस्य को प्रभावित नहीं करते हैं चाहे वह जनसंख्या, यातायात या मौजूदा संरचनाएं हों। स्ट्रक्चरल स्टील से बने इन विशेष स्पैन का निर्माण इतना अच्छा है कि स्थापित करने के बाद उन्हेंं किसी भी फिनिशिंग की आवश्यकता नहीं है और ट्रैक बिछाने के अगले चरण को तुरंत पूरा किया जा सकता है।

दुहाई में चल रहा रेल पटरी को जोडऩे का कार्य

प्रायोरटी सेक्शन में वायडक्ट के निर्माण के साथ सभी पांच स्टेशनों साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो के सुपरस्ट्रक्चर का निर्माण कार्य एडवांस लेवल में है । गुलधर से दुहाई के बीच वायडक्ट पर ट्रैक बिछाने के लिए रेल पटरी को जोडऩे का काम चल रहा है, जिसके लिए मोबाइल फ्लैश वेल्डिंग प्लांट स्थापित किया गया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.