top menutop menutop menu

CM Yogi visit canceled: कानपुर घटना के मद्देनजर सीएम योगी का हस्तिनापुर वन महोत्सव का दौरा निरस्त Meerut News

मेरठ, जेएनएन। सीएम के हस्तिानापुर आने की तमाम योजनाएं की जा रही थी। यहां तक की हेलिपैड के उतरने से लेकर उनके जाने तक की व्‍यवस्‍थाएं हो चुकी थी। अचानक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हस्तिनापुर आने का कार्यक्रम रद हो जाने से हस्तिनापुर के लोगों को एक बार फिर से निराशा हाथ लगी। वहीं, प्रशासन द्वारा की गई तैयारियां भी धरी रह गईं। वन विभाग, पीडब्ल्यूडी पिछले कई दिनों से कार्यक्रम की तैयारियों में जुटे थे। शनिवार को मंडलायुक्त, एडीजी, डीएम, एसएसपी व सीडीओ ने कार्यक्रमस्थल का निरीक्षण किया, परंतु बाद में अचानक आदेश आया कि अब सीएम नहीं आएंगे। प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा पौधरोपण कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

कई दिनों से चल रही थी तैयारियां    

वन महोत्सव सप्ताह के तहत पांच जुलाई को होने वाले वृहद पौधरोपण कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शामिल होना था। जिसके लिए पिछले कई दिनों से तैयारियां चल रही थी। हेलीपैड लगभग तैयार था। पंडाल व मंच को अंतिम रूप देने की तैयारी चल रही थी। शनिवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम, एडीजी राजीव सभरवाल, डीएम अनिल ढींगरा, एसएसपी अजय साहनी, सीडीओ ईशा दुहन समेत जनपद स्तर के तमाम अधिकारी कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने के लिए यहां पहुंचे। विधायक दिनेश खटीक ने मौके पर पहुंचकर तैयारियों को जाना। मीडिया ने डीएम से सीएम के कार्यक्रम के बारे मे जानकारी मांगी तो उन्होंने बताया कि अब सीएम नहीं आ रहे है। कार्यक्रम में जनपद के प्रभारी मंत्री श्रीकांत शर्मा ही भाग लेंगे।  

पंडाल से पानी निकालने में जुटे रहे 

शनिवार की सुबह हुई बारिश के बाद पंडाल के अंदर पानी भर गया। कोई कसर बाकी न रह जाए इसलिए श्रमिक पहले पानी को बाहर निकालकर वहां पर प्लाईबोर्ड बिछाने में जुटे हुए थे। मंच की साज सज्जा के लिए फूल आदि भी आ चुके थे। 

चारों और बेरिकैडिंग की जा रही थी 

गौरतलब है कि राजकीय पशुधन कृषि प्रक्षेत्र की भूमि पर पौधरोपण का पांच जुलाई का कार्यक्रम वन विभाग द्वारा किया जा रहा था। हेलीपैड, सभा स्थल को बनाने का कार्य तेजी से चल रहा था। वाटर प्रूफ टेंट लगाया जा रहा है। सुरक्षा की दृष्टि से एसएसपी अजय साहनी ने कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। थानाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 

भारी पुलिस बल तैनात किया था 

एसएसपी ने बताया कि कार्यक्रम स्थल पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। इसमें पैरामिलिट्री फोर्स, पीएसी व अन्य जनपदों की फोर्स शामिल है। कार्यक्रम स्थल पर प्राइवेट वाहनों को प्रवेश नहीं दिया जाता। चेतावाला गांव व जैन मंदिरों के समीप बेरिकैडिंग की जाती। पास वाले वाहनों को ही अंदर प्रवेश मिलता।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.