सात फेरों से पहले नौ दो ग्याहर हुआ डाक्टर-420

'सात फेरों' से पहले नौ दो ग्याहर हुआ 'डाक्टर-420'

साइबर क्राइम करने वाले ठगी के नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में एक ठग ने खुद को चिकित्सक बताकर शादी का विज्ञापन दिया और जागृति विहार निवासी एमबीबीएस डाक्टर से 40 हजार रुपये अपने खाते में ट्रासफर करवा लिए।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 09:20 AM (IST) Author: Jagran

मेरठ, जेएनएन। साइबर क्राइम करने वाले ठगी के नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में एक ठग ने खुद को चिकित्सक बताकर शादी का विज्ञापन दिया, और जागृति विहार निवासी एमबीबीएस डाक्टर से 40 हजार रुपये अपने खाते में ट्रासफर करवा लिए। इसके एक घटे बाद आरोपित का मोबाइल फोन जब बंद हो गया, तब महिला डाक्टर को ठगी का पता चला। उन्होंने एसएसपी अजय साहनी से शिकायत की है।

दरअसल, साइबर ठगों ने शादी का एक विज्ञापन दिया। इसके अनुसार लड़के की उम्र 31 साल है, कद पाच फुट छह इंच, बीडीएस डाक्टर सरकारी कर्मचारी के विवाह हेतु, कन्या की जरूरत है। ठगों ने अपना मोबाइल नंबर भी दिया था। मेडिकल थाना क्षेत्र अंतर्गत जागृति विहार निवासी एक एमबीबीएस डाक्टर के परिवार ने उक्त मोबाइल नंबर पर संपर्क किया। महिला डाक्टर भी दिल्ली में ही नौकरी कर रही हैं। इसके बाद उक्त महिला डाक्टर और खुद को बीडीएस डाक्टर बताने वाले युवक के बीच फोन पर बातचीत शुरू हो गई, और दोनों शादी को तैयार हो गए।

22 नवंबर को तथाकथित बीडीएस डाक्टर ने परिवार के साथ लड़की को मेरठ में देखने का प्रस्ताव रखा। इसके बाद अचानक ही लड़के पक्ष की तरफ से फोन आता है कि देहरादून में जरूरी काम है, इसलिए एक-दो घटे की देरी से पहुंचेंगे। करीब एक घटे बाद फिर से फोन आता है कि हादसे में कार क्षतिग्रस्त हो गई है। इसके बाद लड़की पक्ष को एक खाता नंबर देकर उसमें बहुत जल्द 50 हजार रुपये डालने के लिए कहा गया। लड़की पक्ष ने तत्काल ही 40 हजार रुपये आनलाइन ट्रासफर कर दिए। इसके बाद रात तक लड़की पक्ष, लड़के वालों के आने का इंतजार करता रहा, मगर वो नहीं आए, मोबाइल फोन भी बंद हो गया। तब महिला डाक्टर समझ गईं कि उनके साथ ठगी हो गई है। इसके बाद उन्होंने एसएसपी अजय साहनी से शिकायत की। घटनाक्रम सुनकर एसएसपी भी हैरान रह गए। उन्होंने साइबर सेल को आरोपितों को पकड़ने के आदेश दिए हैं। आरोपित की लोकेशन पिछले कई दिनों से गाजियाबाद के आसपास मिल रही है।

इन्होंने कहा-

केस बड़ा ही विचित्र और चुनौतीपूर्ण है। साइबर ठगों ने इमोशनल कार्ड खेलकर महिला डाक्टर को ठगा है। टीम को लगा दिया है, उम्मीद है कि जल्द ही ठगों को पकड़ लिया जाएगा।

-अजय साहनी, एसएसपी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.