सीसीटीवी फुटेज और सीडीआर भी नहीं उठा सकी मौत से पर्दा

भाजपा पार्षद मुनीष कुमार उर्फ मिंटू की मौत का रहस्य अभी बरकरार है। सीसीटीवी फुटेज और मिंटू की काल डिटेल से भी ऐसा कोई सुराग नहीं मिला जिससे पुलिस की जाच आगे बढ़ पाए।

JagranSat, 17 Apr 2021 09:22 AM (IST)
सीसीटीवी फुटेज और सीडीआर भी नहीं उठा सकी मौत से पर्दा

मेरठ, जेएनएन। भाजपा पार्षद मुनीष कुमार उर्फ मिंटू की मौत का रहस्य अभी बरकरार है। सीसीटीवी फुटेज और मिंटू की काल डिटेल से भी ऐसा कोई सुराग नहीं मिला, जिससे पुलिस की जाच आगे बढ़ पाए। स्वजन का आरोप है कि मिंटू की हत्या की गई है, जबकि पुलिस को अभी तक हत्या का कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस की जाच आत्महत्या की तरफ इशारा कर रही है।

जिटौली निवासी पार्षद मिंटू का शव उनकी क्रेटा में ड्राइविंग सीट पर मिलने पर स्वजन ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार को स्वजन ने एक सीसीटीवी फुटेज पुलिस को सौंपी। फुटेज में दिखा कि बिग बाइट होटल से निकलने के बाद मिंटू कार से पल्लवपुरम से होते हुए बावली रोड पर पहुंचे। उनके पीछे दो बाइक सवार चल रहे थे। स्वजन ने बाइक सवार युवकों पर शक जताया। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि बाइक सवार युवक मोदी कांटीनेंटल कंपनी के कर्मचारी हैं। इनका घटना से कोई लेना-देना नहीं है। साथ ही पुलिस ने मिंटू की काल डिटेल निकाली। इसमें मिंटू की बातचीत उनकी डाक्टर प्रेमिका से हो रही है।

इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर का कहना है कि अभी तक पुलिस को ऐसा कोई सुबूत नहीं मिला है, जिससे इसे हत्या कहा जाए। हालाकि पुलिस तीन बिंदुओं को आधार बनाकर जाच कर रही है। पता लगाया जा रहा है कि मिंटू की हत्या से सबसे ज्यादा फायदा किसे होता। सबसे अहम कड़ी डाक्टर के पति को माना जा रहा है।

जिम ट्रेनर के घर पर हुई थी पंचायत

बुधवार को मिंटू, उनकी प्रेमिका और पत्नी की जागृति विहार में पंचायत हुई थी। मिंटू के साथी जिम ट्रेनर अजय ठाकुर के घर पर सभी एकत्र हुए थे। अजय ठाकुर की पत्नी भी बातचीत के दौरान मौजूद थीं। इंस्पेक्टर ने बताया कि मिंटू प्रेमिका को घर में रखने की जिद कर रहे थे। उनकी पत्नी ने इसका विरोध किया। इसपर मिंटू प्रेमिका को लेकर घर चले गए। वहां फिर पत्नी से विवाद हुआ। इसके बाद मिंटू प्रेमिका को बिग बाइट होटल में ले गए।

भाजपा पार्षद के परिवार को सांत्वना देने पहुंचे लोग

मोदीपुरम : विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के लोग भाजपा पार्षद मिंटू के स्वजन को सात्वना देने पहुंचे। सभी ने माग की कि पुलिस घटना का जल्द पर्दाफाश करे।

कंकरखेड़ा की श्रद्धापुरी फेज-वन निवासी भाजपा पार्षद मुनीष कुमार उर्फ मिंटू पुत्र कृष्णपाल सिंह का गोली लगा शव बुधवार रात उन्हीं की क्रेटा गाड़ी में ड्राइविंग सीट से बरामद हुआ था। पार्षद के दाएं हाथ में 315 बोर का तमंचा था। पार्षद की बाई कनपटी पर गोली लगने का निशान था, वहीं दाई तरफ पूरा भेजा उड़ गया था। एसपी सिटी, सीओ दौराला, इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा और फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल का मुआयना कर साक्ष्य जुटाए। घटनास्थल से 20 मीटर पर खोखा भी बरामद हो गया।

पार्षद की गाड़ी से नौ लाख रुपयों से भरा बैग गायब

पार्षद के दोस्तों ने बताया कि तीन-चार दिन पहले मिंटू अपने मामा और अन्य परिचितों से करीब नौ लाख रुपये किसी काम के लिए लेकर गए थे। पार्षद के साले कुलदीप धामा ने भी तहरीर में मिंटू द्वारा नौ लाख रुपयों से भरा बैग और गहने लेकर जाने की बात कही है। मगर गाड़ी से बैग और गहने बरामद नहीं हुए। बुधवार रात जब पार्षद होटल से निकले तो उनके हाथ में बैग था।

नगर निगम का पूरा सदन पार्षद के स्वजन संग खड़ा है : महापौर

शुक्रवार को महापौर सुनीता वर्मा पति पूर्व विधायक योगेश वर्मा संग पार्षद के घर पहुंचीं। महापौर ने कहा कि नगर निगम का पूरा सदन पीड़ित स्वजन संग खड़ा है। पुलिस ने हत्या का केस दर्ज किया है, जिसकी निष्पक्ष जाच होनी चाहिए। जो भी सच्चाई है, वह सामने आनी चाहिए। पार्षद के घर सहायक नगरायुक्त, नगर निगम के जेई, सफाई निरीक्षक व सफाई कर्मचारी भी पहुंचे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.