कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे, बिना डिजिटल आईडी कार्ड नहीं मिलेगा प्रवेश

कैलाश प्रकाश स्‍पोर्ट्रस स्‍टेड‍ियम में सीसीटीवी कैमरा लगेगा।

मेरठ में जिला खेल प्रमोशन प्रोत्साहन समिति ने कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में प्रवेश द्वार से लेकर सभी प्रमुख जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाने का निर्णय लिया है। साथ प्रवेश के ल‍िए सभी का ड‍िज‍िटल कार्ड बनवाने का न‍िर्णय ल‍िया है।

Taruna TayalTue, 23 Feb 2021 02:44 PM (IST)

मेरठ, जेएनएन। जिला खेल प्रमोशन प्रोत्साहन समिति ने कैलाश प्रकाश स्पोर्ट्स स्टेडियम में प्रवेश द्वार से लेकर सभी प्रमुख जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगवाने का निर्णय लिया है। मंगलवार को हुई समिति की बैठक में बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्य विकास अधिकारी शशांक चौधरी ने यह निर्देश दिए हैं। स्टेडियम में सुबह घूमने आने वालों से लेकर शाम को खेलने व टहलने वालों तक की सुरक्षा और उनसे स्टेडियम की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। जिससे किसी भी खिलाड़ी या अन्य शहरवासी को यहां आने पर तकलीफ न हो। वहीं खेल विभाग की ओर से कुछ लोगों द्वारा अशांति फैलाने, जबरन प्रवेश करने, पहचान पत्र न बनवाने आदि की शिकायतें करने के बाद यह निर्णय और भी प्रमुखता से लिया गया जिससे स्टेडियम के सभी प्रमुख स्थानों पर निरंतर निगरानी की जा सके। खेल प्रोत्साहन समिति के बजट से ही करीब एक लाख रुपए सीसीटीवी लगवाने पर खर्च किए जाएंगे।

बनेगा डिजिटल आई कार्ड

अब तक खिलाड़ियों व अन्य लोगों से स्टेडियम में प्रवेश करने, घूमने, टहलने, खेलने, कूदने आदि के लिए पहचान पत्र दिया जाता रहा है। इस बाबत 25 रुपये शुल्क लगते थे। अब यह शुल्क 50 रुपये कर दिया गया है और सभी का डिजिटल आई कार्ड बनाया जाएगा। इसके अलावा बैडमिंटन हॉल की टपकती छत सहित पूरे हॉल को दुरुस्त कराने के लिए खेलो इंडिया के तहत एक प्रस्ताव भेजा जाएगा।

हर महीने होगी तहसील से जिले तक दो खेल प्रतियोगिताएं

लॉकडाउन के बाद अब खेलकूद सामान्य होने लगा है। इस कड़ी में अप्रैल महीने से तहसील स्तर से लेकर जिला स्तर तक हर महीने दो खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। किस तहसील में कौन से खेल का आयोजन होगा, इसका निर्णय तहसील की समिति करेगी और वही तैयारी करा कर खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन भी कराएंगे। इसी तरह जिला स्तर पर क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी की अगुवाई में खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। हर महीने दो-दो खेल प्रतियोगिताएं अनिवार्य रूप से आयोजित की जानी है।

सुसज्जित होगा जिम्नेजियम

इसके साथ ही सीडीओ ने जिम्नेशियम में इनवर्टर और म्यूजिक सिस्टम लगाने के निर्देश दिए हैं। वही लॉकडाउन में पूरी तरह खाली रहे जिम्नेशियम में अब नए सत्र के पहले ही एक प्रशिक्षक भी नियुक्त किया जाएगा जो आने वाले खिलाड़ियों व अन्य लोगों को जिम में प्रशिक्षण देंगे। खेलकूद में रुचि रखने वाले सीडीओ शशांक चौधरी ने स्टेडियम के जिमनेजयम, स्विमिंग पूल और बैडमिंटन हॉल की काफी तारीफ की। उन्होंने कहा कि इसमें प्ले एंड पे योजना के तहत लोगों को पंजीकरण कराया जाए और उनसे मिले शुल्क से ही इनका संचालन और बेहतर ढंग से किया जाना चाहिए। इसके साथ ही लॉन टेनिस और बैडमिंटन हॉल में एलईडी लाइट लगवाए जाएंगे जिससे शाम के समय देर तक भी खेला जा सके। क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आले हैदर के अनुसार जल्द ही निर्देशों का अनुपालन किया जाएगा और सीसीटीवी कैमरे सहित अन्य व्यवस्था को दुरुस्त करने की कार्यवाही की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.