UP Panchayat Election 2021 : शामली में पंचायत चुनाव से पहले सामने आया फर्जी वोट का मामला, मुकदमा दर्ज

शामली में पंचायत चुनाव से पहले सामने आया फर्जी वोट का मामला, मुकदमा दर्ज

शामली में लेखपाल सुपरवाइजर मुकेश कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया कि पुनरीक्षण के समय गांव सापला के किसी व्यक्ति ने बीएलओ व सुपरवाइजर के फर्जी हस्ताक्षर करके हस्तलिखित विलोपन सूची में फर्जी मतदाता शामिल कर सूची बनाकर विकास खंड ऊन में जमा भी कर दी।

Taruna TayalThu, 15 Apr 2021 09:38 PM (IST)

शामली, जेएनएन। जिले में पंचायत चुनाव 26 अप्रैल को होने हैं , लेकिन इससे पहले ही फर्जी वोट का मामला सामने आ गया। ऊन तहसील के गांव सापला में शातिरों ने फर्जी हस्ताक्षरों से वोटों की विलोपन, संशोधन व परिवर्धन सूची बना दी। सरकारी मशीनरी की लापरवाही के चलते यह फर्जी सूची विकास खंड कार्यालय ऊन में जमा भी करा दी गई। 123 फर्जी वोट बनाई गई हैं। अधिकारियों के आदेश पर थाना झिझाना में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

यह है मामला 

कई दिनों से ऊन क्षेत्र में फर्जी वोट बनाने का मामला चर्चाओं में था। इस बारे में ग्रामीण खुलकर नहीं बता रहे थे। 13 अप्रैल को पूरा मामला खुलकर सामने आ गया। सूत्रों के मुताबिक फर्जीवाड़ा फरवरी में हुआ। लेखपाल सुपरवाइजर मुकेश कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया कि पंचायत निर्वाचक नामावली 2020-21 के पुनरीक्षण में उनकी नियुक्ति बतौर सुपरवाइजर न्याय पंचायत हथछोया में की गई थी। न्याय पंचायत सापला भी इसी पंचायत में है। पुनरीक्षण के समय गांव सापला के किसी व्यक्ति ने बीएलओ व सुपरवाइजर के फर्जी हस्ताक्षर करके हस्तलिखित विलोपन सूची में 57, संशोधन सूची में 38 व परिवर्धन सूची में 28 मतदाता शामिल कर सूची बनाकर विकास खंड ऊन में जमा भी कर दी। जाहिर है कि सूची को किसी ने चेक ही नहीं किया। ऊन तहसील के अधिकारियों को भी इसका पता नहीं चलना समझ से परे है। सूची की छपाई भी 2021 में हो गई है, जिस कारण गांव में अशांति की प्रबल संभावना है। तहरीर पर लेखपाल मुकेश कुमार व सहायक अध्यापक राकेश कुमार के हस्ताक्षर हैं।

इन्होंने कहा

मामला ऊन विकास खंड क्षेत्र का है। वहां तैनात लेखपाल मुकेश कुमार ने तहरीर दी थी। जिलाधिकारी से वार्ता कर मामला थाना ङ्क्षझझाना में दर्ज कर दिया गया। जांच की जा रही है।

सुकीर्ति माधव, एसपी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.