बुलंदशहर : हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज के विरोध में लगाया जाम, नारेबाजी

हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज के विरोध में बुलंदशहर में जाम लगाया।

हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोडऩे के विरोध में भाकियू कार्यकर्ताओं ने बुलंदशहर में जेवर मार्ग पर जाम लगा दिया। साथ ही जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। वहीं मुजफ्फरनगर में भी लाठीचार्ज की निंदा की गई।

Prem Dutt BhattSun, 16 May 2021 07:30 PM (IST)

बुलंदशहर, जेएनएन। हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोडऩे के विरोध में भाकियू कार्यकर्ताओं ने बुलंदशहर में जेवर मार्ग पर जाम लगा दिया। साथ ही जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। साथ ही दो टूक कहा कि किसानों का उत्पीडऩ किसी भी कीमत पर कहीं भी नहीं होने दिया जाएगा। रविवार शाम भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष बब्बन प्रधान के नेतृत्व में काफी कार्यकर्ता गांव मदनपुर के निकट एकत्र हो गए। जहां से वह खुर्जा-जेवर मार्ग पर पहुंच गए। जहां कार्यकर्ता सड़क पर ही तिरपाल बिछाकर सड़क पर बैठ गए। साथ ही उन्होंने ट्रैक्रों को सड़क पर खड़ा कर दिया।

किसानों का उत्‍पीड़न न होने देंगे

इस दौरान जिलाध्यक्ष ने कहा कि हरियाणा में किसानों ने अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन किया, तो उनके ऊपर लाठीचार्ज की गई और आंसू गैस के गोले भी किसानों की तरफ छोड़े गए। जिसका भाकियू पूरी तरह से विरोध करती है। साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों देशभर के साथ भाकियू कार्यकर्ता खड़े हैं। किसी भी कीमत पर किसानों का उत्पीडऩ नहीं होने दिया जाएगा। जाम लगाए जाने की सूचना पर पुलिसकर्मी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने किसानों को समझाते हुए जाम खुलवाने की कोशिश की, लेकिन किसान डटे रहे। उन्होंने कहा कि भाकियू के पदाधिकारियों का निर्देश नहीं आने तक वह जाम नहीं खोलेंगे। समाचार लिखे जाने तक किसानों ने जाम लगाया हुआ था। इसमें जगदीश प्रधान, आलोक चौधरी, सुदेश चौधरी, सुनील कुमार, निहाल सिंह, अनुज कुमार आदि रहे।

मुजफ्फरनगर में भी निंदा

मुजफ्फरनगर : भाकियू ने शिवचौक पर धरना-प्रदर्शन कर हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज की निंदा की है। भाकियू प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि किसान हरियाणा में टोल पर शांतिपूर्ण तरीके से धरना दे रहे थे। इसी दौरान उन पर लाठीचार्ज की गई। साथ ही किसानों को गिरफ्तार किया गया। भाकियू इस कृत्य का विरोध और निंदा करता है। सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह को ज्ञापन देकर कहा कि गिरफ्तार किसानों को बिना किसी शर्त के रिहा किया जाए। साथ ही लाठीचार्ज करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाए। सिटी मजिस्ट्रेट ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते धरना-प्रदर्शन सही नहीं है। इससे संक्रमण फैल सकता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.