बागपत में प्रधानों से बोले सांसद- जो पीते हैं शराब, उठा दें अपने हाथ, जानिए फिर क्‍या हुआ

बागपत से भाजपा सांसद डा. सत्यपाल सिंह ने कहा कि प्रधान संकल्प लें कि चुनाव में कभी किसी को शराब नहीं पिलाएंगे। उन्हें गांव-गांव यज्ञ कराना चाहिए। यज्ञ से गांवों का माहौल ठीक रहेगा। विवाद को पुलिस के पास ले जाने के बजाय गांव में फैसला कराने का काम करें।

Taruna TayalSat, 25 Sep 2021 09:46 PM (IST)
बागपत ब्लाक में प्रधानों को संबोधित करते सांसद डा. सत्यपाल सिंह

बागपत, जागरण संवाददाता। बागपत ब्लाक में प्रधानों को संबोधित करते हुए सांसद डा. सत्यपाल सिंह ने कहा कि जहां शराब होगी वहां अक्‍ल नहीं होगी। जैसे ही शराब पिएंगे वैसे ही अक्‍ल शरीर से बाहर निकल जाएगी, क्योंकि दोनों एक साथ नहीं रह सकती। 

शनिवार को प्रधानों के हमारी योजना-हमारा विकास विषय पर एक दिवसीय परिचयात्मक प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इस दौरान सांसद डा. सत्यपाल सिंह ने प्रधानों से शराब का त्‍याग करने की अनूठे ढंग से अपील की। कहा कि प्रधान युवाओं को शराब की लत से बचाने का काम करें।

किन-किन प्रधानों ने पंचायत चुनावों में पिलाई है शराब

सांसद ने पूछा कि किन-किन प्रधानों ने पंचायत चुनावों में शराब पिलाई है। कोई हाथ नहीं उठा। फिर पूछा कि वो प्रधान हाथ उठा दें जिन्होंने चुनाव में वोटरों को शराब नहीं पिलाई है। यह सुन अधिकांश प्रधानों ने हाथ उठा दिए। सांसद फिर बोले कि जो प्रधान शराब पीते हैं वो अपने हाथ उठा दें। यह सुन सन्नाटा छा गया। लेकिन चार प्रधानों ने हाथ उठाकर बोले कि हम शराब पीते हैं। एक प्रधान बोले कि घर पर ही शराब पीता हूं ताकि प्रधान पद की गरिमा बनी रहे। इतना सुन सांसद ने कहा कि वह चारों प्रधानों का अभिनंदन करते हैं। चारों प्रधानों ने सार्वजनिक रूप से शराब पीने का सच बात कहने की हिम्मत दिखाई है। यह कोई मामूली बात नहीं है, क्योंकि कई लोग इस तरह सच बोलने की हिम्मत नहीं दिखा पाते। इंसान को हमेशा सच बोलना चाहिए, फिर चारों प्रधानों ने जैसे ही कहा कि हम शराब पीना छोड़ देंगे तो वैसे ही खचाखच भरा हाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उन्‍होंने चुनाव में शराब न पिलाने का संकल्‍प भी दिलाया

माहौल ठीक करने को करें गांव-गांव यज्ञ

भाजपा सांसद डा. सत्यपाल सिंह ने प्रधानों को काम करने की सीख देते हुए कहा कि माहौल ठीक करने को गांव-गांव यज्ञ करें। जिन्होंने वोट नहीं दिया उनका भी काम करें, लेकिन जिन्होंने वोट दिया उनका ध्यान ज्यादा रखें। जनता ने जो गांवों की सेवा का मौका दिया, उस पर खरे उतरें। प्रधानमंत्री से काम करने की प्रेरणा लेकर प्रधान गांव का विकास करें। लोगों के विवाद को थाना पुलिस के पास ले जाने के बजाय गांव में फैसला कराने का काम प्रधान करें। गांव-गांव यज्ञ कराएं। यज्ञ से गांवों का माहौल ठीक रहेगा। डीपीआरओ बनवारी सिंह, पूर्व प्रमुख जितेंद्र पहलवान, विक्रम राणा, जिला प्रबंधक प्रशांत कुमार, प्रधान सुरेंद्र तथा प्रधान हसरत अली प्रधान मौजूद रहे।

दशरथ मांझी की तरह ठान लें प्रधान

सांसद ने कहा कि दशरथ मांझी के पास न पैसा था, न संसाधन पर पहाड़ काटकर राह बनाई। प्रधान भी दशरथ मांझी की तरह ठानकर विकास कराएं। प्रशिक्षक आशुतोष, प्रियंका तथा हरकिरत सिंह ने प्रधानों को पंचायत व्यवस्था, ग्राम पंचायत एवं ग्राम सभा बैठक, पंचायत समितियां, प्रधान की भूमिका, फंड, स्वच्छता, विकास योजना, युवा कौशल, नारी सशक्तीकरण, ई-गर्वेंस आदि की जानकारी दी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.