बागपत : पुलिस हिरासत से जानलेवा हमले के तीन आरोपितों को छुड़ाने का प्रयास, जमकर हंगामा

बिनौली में सपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य के तीन स्वजन को पुलिस ने जानलेवा हमला करने के मामले में हिरासत में ले लिया। इसी से गुस्साए रालोद कार्यकर्ताओं और पदधिकारियों ने शनिवार को थाने का घेराव कर जबरदस्त नारेबाजी कर धरना शुरू कर दिया।

Prem Dutt BhattSat, 19 Jun 2021 02:30 PM (IST)
बागपत में जानलेवा हमले के आरोपितों को छुड़ाने की कोशिश की गई।

बागपत, जेएनएन। बागपत जिले के बिनौली में सपा समर्थित जिला पंचायत सदस्य के तीन स्वजन को पुलिस ने जानलेवा हमला करने के मामले में हिरासत में ले लिया। इसी से गुस्साए रालोद कार्यकर्ताओं और पदधिकारियों ने शनिवार को थाने का घेराव कर जबरदस्त नारेबाजी कर धरना शुरू कर दिया। पुलिस जब तीनों आरोपितों को अदालत में पेश करने ले जाने लगी तो कार्यकर्ताओं ने पुलिस हिरासत से तीनों को छुड़ाने का प्रयास किया। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया।

नारेबाजी करते हुए दिया धरना

जिला पंचायत सदस्य बरनावा निवासी महबूब अल्वी व उसके भाई व दो बेटो के खिलाफ थाने पर बरनावा के भाजपा नेता सतीश वाल्मीकि ने घर में घुसकर जानलेवा हमला करने, जातिसूचक शब्द कहने सहित कई धाराओं में मुक़दमा दर्ज कराया था। थाना पुलिस ने शुक्रवार की रात महबूब अल्वी के भाई व दो बेटों को हिरासत में ले लिया है जिससे क्षुब्ध होकर शनिवार की सुबह रालोद कार्यकर्ता व पदाधिकारी थाने में पहुंच गए और वहां नारेबाजी कर धरने पर बैठ गए। धरने में पूर्व विधायक गजेंद्र मुन्ना ने कहा कि सरकार की तानाशाही का डटकर विरोध किया जाएगा। झूठे मुकदमे जब तक वापिस नहीं होंगे तब तक विरोध जारी रहेगा। पूर्व विधायक वीरपाल राठी ने कहा कि पुलिस प्रशासन जिला पंचायत सदस्यों को झूठे मुकदमे में फंसाकर दबाव बना रहा है। राष्ट्रीय सचिव डाक्टर कुलदीप उज्ज्वल ने कहा पुलिस प्रशासन के उत्पीड़न को बर्दाश्त नही किया जाएगा। प्रदेश सरकार के इशारे पर पुलिस प्रशासन लोकतंत्र का गला घोंटने का काम कर रहा है।

पुलिस की जीप के पीछे दौड़े

इसी बीच पुलिस तीनों आरोपितों को जीप में बैठाकर अदालत में पेश करने ले जाने लगी तो भनक लगने पर कार्यकर्ता पुलिस की जीप के पीछे दौड़ लिए। बाजार में जीप की साइड लगकर एक बाइक गिर पड़ी। इसके बाद बिनौली से आगे पुलिस जीप के टायर में पेंचर हो गया। थाने से दूसरी पुलिस जीप भेजी गई, लेकिन सूचना मिलने पर कार्यकर्ता आरोपितों को छुड़ाने के लिए दौड़ पड़े, लेकिन पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया और आरोपितों को अदालत में पेश करने के लिए ले गई। उधर, घटना से गुस्साए कार्यकर्ताओं ने बडौत-बिनौली मार्ग जाम कर दिया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। धरनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद है।

केस दर्ज कराया था

भाजपा नेता सतीश वाल्मीकि पुत्र प्रेम सिंह ने घर मे घुसकर जानलेवा हमला करने, मारपीट करने व जातिसूचक शब्द कहने का थाने पर जिला पंचायत सदस्य महबूब अल्वी उसके भाई मतलूब, बेटे आदिल और राजू के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा रखा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.